Explore

Search
Close this search box.

Search

June 17, 2024 1:18 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

पीसीएफ केंद्र प्रभारी पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज; खरीद केंद्र मिली अनियमितता….

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

जनपद में जैतपुर ब्लॉक के अजनर मंडी में बने पीसीएफ क्रय केंद्र में जांच में कई खामियां मिलीं हैं मसूर की खरीद में अनियमितता पाए जाने पर पीसीएफ केंद्र प्रभारी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया है। साथ ही उन्हें केंद्र से तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है।शासन के निर्देश पर समर्थन मूल्य योजना के तहत किसानों की दलहन और तिलहन खरीद के लिए जनपद के अजनर स्थित मंडी में पीसीएफ क्रय केंद्र बनाया गया है। जहां मध्य प्रदेश के व्यापारियों व बिचौलियों से मसूर खरीदे जाने का किसानों ने आरोप लगाया था। कार्रवाई की मांग को लेकर एक सप्ताह पहले हलधर किसान यूनियन के बैनर तले किसानों ने धरना दिया था।

जिलाधिकारी मृदुल चौधरी ने मामले की जांच के लिए एडीएम नमामि गंगे के नेतृत्व में चार सदस्यीय टीम गठित की थी। जांच टीम ने दलहन तिलहन क्रय केन्द्र का स्थलीय निरीक्षण किया। जहां अभिलेख आदि की जांच पड़ताल की गई । इसमें पता चला कि 16 अप्रैल से 18 मई तक 13,773.50 क्विंटल मसूर 687 किसानों से खरीदी गई। टीम ने 15 किसानों के बयान दर्ज किए। इनमें से सात किसानों के मोबाइल नंबर गलत होने की बात सामने आई और आठ किसानों के द्वारा उपज का भुगतान सीधे खातों में प्राप्त होने की पुष्टि की गई।

जब मोदी PM कैंडिडेट बने तो नीतीश भड़क गए: BJP को किस नेता से ज्यादा खतरा, चंद्रबाबू नायडू ने मोदी को आतंकवादी कहा था….

जिलाधिकारी द्वारा प्रत्येक क्रय केन्द्र के लिए एक राजस्व अधिकारी (राजपत्रित अधिकारी) नामित किया गया है। प्रत्येक केंद्र पर राजस्व निरीक्षक किसानों के खसरा-खतौनी के आधार पर उपज का सत्यापन करेगा लेकिन क्रय केंद्र प्रभारी ने बिना। सत्यापन के बाद ही मसूर की खरीद करने के निर्देश दिए गए थे। जिसके लिए अजनर क्रय केंद्र पर नायब तहसीलदार वृंदावन को किसानों की उपज की सत्यापन हेतु नामित किया गया था। जबकि क्रय केंद्र प्रभारी ने बिना नामित अधिकारी के सत्यापन के ही खरीद की गई है।

इससे उच्चाधिकारियों के आदेशों की अवहेलना व खरीद में अनियमितता उजागर हुई है।केंद्र में 16 अप्रैल से 18 में तक कुल 13773.50 कुंतल मसूर खरीदी गई। 300 कुंतल मसूर ट्रकों में लोड पाई गई। अजनर और जैतपुर में 442 बोरी पाई गई। प्रति बोरी 50 किलोग्राम के हिसाब से 221 कुंतल मसूर पाई गई जबकि गई 600 बोरी ट्रकों में मिली है। केंद्र प्रभारी किसानों के पंजीकरण प्रपत्र में पहचान पत्र एवं बैंक खाता प्रस्तुत नहीं कर सका है। किसानों के मोबाइल नंबर भी जांच में गलत पाए गए हैं।

जांच में और बढ़ सकतीं हैं धाराएं-

जिला प्रबंधक पीसीएफ रज्जनलाल की तहरीर पर थाना अजनर में पीसीएफ केंद्र प्रभारी दिनेश कुमार के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है। थानाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह का कहना है कि तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज की गई है। धोखाधड़ी की धाराओं 419 और 420 में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। जांच में यदि और साक्ष्य मिलते हैं तो धाराएं बढ़ाई जाएंगी।

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर