Explore

Search
Close this search box.

Search

July 16, 2024 2:36 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

आसमान में दिखेगा दुर्लभ नजारा! जानें कैसे पहचान पाएंगे? ब्रह्मांड में अस्तित्व में आया एक नया सितारा….

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

New Star Blaze Exposed in the Universe: ब्रह्मांड में चमत्कार हुआ है। जल्दी ही दुर्लभ नजारा देखने को मिलेगा। एक नए सितारे ने जन्म लिया है, जो आकाश में प्रज्जवलित होने के लिए तैयार है। इस तारे का वैज्ञानिक नाम टी कोरोना बोरियालिस है और आम भाषा में इसे Blaze कहा जाएगा। यह तारा सितंबर तक कभी भी अस्तित्व में आ जाएगा। इस तारे का जन्म नोवा विस्फोट से होगा।

1946 के बाद पहली बार एक धुंधला तारा सौरमंडल से 3,000 प्रकाश वर्ष दूर नजर आएगा। नासा के नोवा विशेषज्ञ डॉ. रेबेका हौन्सेल ने इसके बारे में कहना है कि जल्दी ही एक भयानक नोवा विस्फोट होने वाला है। विस्फोट के बाद उत्तरी गोलार्ध में हरक्यूलिस और बूटेस तारामंडल के बीच तारा नजर आएगा, जो 80 साल के बाद गायब भी हो जाएगा। इस तारे को बनते हुए नासा के वैज्ञानिक देख पाएंगे।

नंगी आंखों से देखा जा सकेगा तारा

नासा वैज्ञानिकों के अनुसार, नया तारा इतना चमकीला होगा कि उसे कई दिन तक नंगी आंखों से देखा जा सकेगा। इसकी चमक पोलारिस के समान होगी और यह 48वां सबसे चमकीला तारा होगा। ब्लेज तारे को उत्तरी गोलार्ध में बसंत ऋतु में और दक्षिणी गोलार्ध में गर्मियों और सर्दियों में देखा जा सकेगा। जुलाई के महीने में यह सबसे साफ नजर आएगा। यह 2 चमकीले सितारों वेगा और आर्कटुरस और 2 बड़े नक्षत्रों के बीच होगा।

इस नए तारे को रात में तब देखा जा सकेगा, जब आसमान साफ होगा। यह तारा लाल रंग का, बहुत ठंडा और विशालकाय होगा, जो एक विस्फोट के साथ 80 साल बाद लुप्त हो जाएगा। वैज्ञानिकों का दावा है कि 5 या 6 अरब साल बाद सूर्य भी बूढ़ा हो जाएगा। इसमें भयानक विस्फोट होगा, जो सौर मंडल के सभी ग्रहों को नष्ट कर देगा, लेकिन पृथ्वी के साथ क्या होगा? इसके बारे में अभी तक स्पष्ट जानकारी नहीं मिल पाई है।

कमाल की डाइट: फ्रांस की ये डाइट बनी पुरुषों की पहली पसंद; पांच महीने में आधा वजन घटाएं….

दूरबीन या टेलीस्कोप से पास नजर आएगा

वैज्ञानिकों के अनुसार, अगर तारे की पहचान सीधे न हो पाए तो उत्तर पूर्व की दिशा में देखें। यहां एक चमकीला तारा नजर आएगा। उससे थोड़ा आगे एक और चमकीला तारा दिखेगा। इस दोनों के बीच 7 सतारों की धुंधली-सी रेखा मिलेगी। इस रेखा के उत्तरी शिखर पर लाल रंग का ब्लेज तारा नजर आएगा। एक बार इसे तलाश लेंगे तो फिर अपने आप पहचान जाएंगे, क्योंकि यह अब तक के सबसे चमकीले तारों में से एक होगा। अगर तारे को नंगी आंखों से देखने की बजाय दूरबीन या छोटे टेलिस्कोप से देखेंगे तो यह बिल्कुल साफ और बहुत करीब नजर आएगा।

धरती के नजदीक होने से नंगी आंखों से दिखेगा

बता दें कि एक तारे के निर्माण में 80 साल लगते हैं। इस तरह का तारे को पहली बार 800 साल पहले 1217 में देखा गया था, जो जर्मनी के उर्सबर्ग शहर में बुरचार्ड नाम स्पेस साइंटिस्ट ने दिखा था। उसी पैटर्न के अनुसार, तारा 1866 और 1947 में अस्तित्व में आया। साल 2015 में भी वैज्ञानिकों ने एक ऐसे तारे को चमकते हुए देखा था, लेकिन मार्च महीने में यह लुप्त हो गया। इस बार नोवा विस्फोट होगा, जो पिछले विस्फोटों से 600 गुना ज्यादा चमकीला होगा। क्योंकि इस बार का तारा धरती के काफी नजदीक होगा, इसलिए इसे नंगी आंखों से देखना संभव होगा।

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर