Explore

Search
Close this search box.

Search

June 20, 2024 2:39 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

लोकसभा से उम्मीदवार: “भगवान जगन्नाथ” को लेकर ऐसा क्या कहा कि माफी मांगनी पड़ गई, संबित पात्रा की फिसली जुबान तो खड़ा हो गया हंगामा….

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

बीजेपी के पुरी लोकसभा से उम्मीदवार संबित पात्रा की भगवान जगन्नाथ पर की गई टिप्पणी के बाद अब काफी विवाद हो गया है। इससे जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है जिसमें संबित पात्रा को कहते हुए सुना जा सकता है कि ‘भगवान जगन्नाथ पीएम मोदी के भक्त हैं’।

संबित पात्रा ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखते हुए इस मामले पर माफी मांगी है और लिखा है कि ऐसा उनकी जुबान फिसलने से हुआ है।

कल ओडिशा के पुरी में प्रधान मंत्री  रोड शो के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान संबित पात्रा ने कह दिया था कि प्राचीन शहर के प्रतिष्ठित देवता भगवान जगन्नाथ पीएम मोदी के भक्त हैं। इसके बाद इस टिप्पणी पर हंगामा खड़ा हो गया, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी इस मामले पर सख्त बयान दिया है।

Alwar News: बनीं राजस्थान टॉपर; अलवर की प्राची ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, हर सब्जेक्ट में 100 में से 100 नंबर….

संबित पात्रा ने मांगी माफी, लिखा-3 दिन मैं उपवास पर रहुंगा

बीजेपी नेता संबित पात्रा ने सोशल मीडिया एक पोस्ट लिखते हुए माफी मांगी है। उन्होंने लिखा, “आज महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी को लेकर मुझसे जो भूल हुई है, उस विषय को लेकर मेरा अंतर्मन अत्यंत पीड़ित है। मैं महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी के चरणों में शीश झुकाकर क्षमा याचना करता हूँ। अपने इस भूल सुधार और पश्चाताप के लिए अगले 3 दिन मैं उपवास पर रहूँगा।”

नवीन पटनायक ने क्या कहा?

ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने संबित पात्रा के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी। मीडिया पोस्ट बयान की निंदा करते हुए सीएम ने लिखा कि ऐसी टिप्पणियां ‘महाप्रभु’ जगन्नाथ की पवित्रता का अपमान करती हैं और लाखों भक्तों की भावनाओं को आहत करती हैं। उन्होंने से देवता को राजनीतिक चर्चा में घसीटने से परहेज करने का आग्रह किया।

नवीन पटनायक ने लिखा,”महाप्रभु श्री जगन्नाथ ब्रह्मांड के भगवान हैं। महाप्रभु को दूसरे इंसान का भक्त कहना भगवान का अपमान है। इससे भावनाओं को ठेस पहुंची है और दुनिया भर में करोड़ों जगन्नाथ भक्तों और ओडिया लोगों की आस्था को ठेस पहुंची है।”

राहुल गांधी ने भी साधा निशाना

कांग्रेस ने बिना संबित पात्रा का नाम लिखे उनके बयान पर टिप्पणी की और लिखा,”जब प्रधानमंत्री खुद को शहंशाह और दरबारी उन्हें भगवान समझने लगें तो मतलब साफ है कि पाप की लंका का पतन नज़दीक है। करोड़ों लोगों की आस्था को चोट पहुंचाने का अधिकार मुट्ठी भर भाजपा के लोगों को आखिर किसने दिया? यह अहंकार ही उनके विनाश का कारण बन रहा है।”

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर