Explore

Search
Close this search box.

Search

March 3, 2024 7:32 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Subhash Chandra Bose Jayanti: सुभाष चंद्र बोस की ज़िंदगी समझनी है, तो ये पांच फिल्में अपने कोर्स में शामिल कर लें

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

23 जनवरी 1897 को ओडिशा के कटक में जन्मे सुभाष चंद्र बोस एक भारतीय राष्ट्रवादी थे. देश के लिए उनके गहरे प्यार ने हर भारतीय दिल पर अपनी अलग ही छाप छोड़ी है. उनकी जिंदगी हर किसी के मिसाल है, तो चलिए आपको उन्हीं की जिंदगी पर बनीं 5 फिल्में बताते हैं

तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा’ का नारा ‘आजाद हिंद फौज’ का गठन करने वालेसुभाष चंद्र बोस ने दिया था. भारत की आजादी में उनका बहुत बड़ा रोल था. सुभाष चंद्र बोस को सबसे बहादुर देशभक्त कहा जाता है. लेकिन, आजादी से 2 साल पहले 1945 में उनकी एक विमान दुर्घटना में मौत हो गई थी. हालांकि, कई लोगों ने उनकी मौत की बात को नहीं माना था. कुछ लोग मानते थे कि सुभाष चंद्र बोस मरे नहीं जिंदा हैं. उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी देश सेवा के नाम कर दी थी. उन पर कई किताबें लिखी गई हैं. साथ ही उन पर कई फिल्में और वेब सीरीज भी बन चुकी हैं.

बॉलीवुड के नवाब सैफ अली खान मुंबई के अस्पताल में भर्ती, चल रही सर्जरी

फिल्म मेकर्स ने आज की जनरेशन को उनसे रूबरू कराने के लिए उनकी जिंदगी के पहलुओं को बड़े पर्दे पर उतारने की कोशिश की है. आज हम आपको 5 ऐसी फिल्में बताने जा रहे हैं, जो उनकी जिंदगी के हर पहलू बचपन, जवानी से लेकर भारतीय स्वतंत्रता सेनानी बनने तक की कहानी बयां करती है.

नेताजी सुभाष चंद्र बोस: द फॉरगॉटन हीरो’


साल 2004 में आई ‘नेताजी सुभाष चंद्र बोस: द फॉरगॉटन हीरो’ का निर्देशन श्याम बेनेगल ने किया था. इस फिल्म में नेता जी के भारत छोड़ने और घर से निकलने के बारे में दिखाया गया है. फिल्म में बताया गया है कि ‘आजाद हिंद फौज’ की स्थापना कैसे हुई थी. भारत को ब्रिटिश हुकूमत से आजाद कराने की लड़ाई को भी अच्छे से दर्शाया गया है. ये फिल्म दर्शकों को खूब पसंद आई थी. सचिन खेडेकर ने इसमें अहम रोल अदा किया था. फिल्म को दो राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी मिले थे.

गुमनामी:


2019 में आई ‘गुमनामी’ में सुभाष चंद्र बोस की जिंदगी की उस कहानी को सबूतों के आधार पर दिखाने की कोशिश की गई है, जब कहा जाता था कि वो ‘गुमनाम बाबा’ बनकर जिंदगी गुजार रहे हैं. इस फिल्म में उनका किरदार प्रोसेनजीत चटर्जी ने अदा किया था. इसी सब्जेक्ट पर डॉक्यूमेंट्री फिल्ममेकर अमलान कुसुम घोष ने भी 2022 में एक और फिल्म संन्यासी देशनायोक बनाई थी.

राग देश:


तिग्मांशु धूलिया के निर्देशन में बनी ‘राग देश’ 2017 में रिलीज हुई थी. फिल्म में कुणाल कपूर, अमित साध, मोहित मारवाह, विजय वर्मा और मृदुला मुरली, केनी बसुमतारी जैसे कलाकारों ने अहम रोल अदा किया था. कहानी दूसरे विश्व युद्ध के बाद की स्थिति पर बनाई गई है. जब, सुभाष चंद्र बोस के नेतृत्व में सेना भारत वापस आती है और अंग्रेजों से लड़ने के लिए लोगों की भर्ती शुरू करती है. ये फिल्म आपको जरूर देखनी चाहिए

सुभाष चंद्र:
‘सुभाष चंद्र’ 1966 में रिलीज हुई थी. ये एक ऐसा दौर था, जब नेताजी पर फिल्में बनाना शुरू किया गया था. इसमें उनके बचपन और कॉलेज के दिनों को दिखाया है. बोस ने भारतीय सिविल सेवा परीक्षा को भी पास किया था, जो आज भी कई युवाओं का सपना होता है. इस फिल्म में उनके इस सफर की कहानी को भी बयां किया गया है. इस फिल्म को पीयूष बोस ने डायरेक्ट किया था. इसमें समर चटर्जी ने बोस की भूमिका निभाई थी.

अमी सुभाष बोलची:


ये फिल्म एक बंगाली शख्सियत पर बनाई गई है बारे में है, इसमें लीड रोल में मिथु चक्रवर्ती को देखा गया था. एक ऐसा शख्स जिसकी जिंदगी सुभाष चंद्र बोस से मिलने के बाद बदल जाती है। महेश मांजरेकर के निर्देशन में बनी इस फिल्म में मिथुन ने देवव्रत बोस की भूमिका निभाई थी

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर