Explore

Search
Close this search box.

Search

May 25, 2024 1:19 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Maldives Election 2024: मालदीव में ‘चीन समर्थक’ मोहम्मद मुइज़्ज़ू की बड़ी जीत, क्या भारत की चिंता बढ़ेगी?

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज़्ज़ू की पार्टी पीपुल्स नेशनल कांग्रेस संसदीय चुनाव में दो तिहाई से अधिक सीटें जीत ली हैं. पिछले साल राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद ये चुनाव उनकी सबसे बड़ी राजनीतिक परीक्षा के तौर पर देखा जा रहा था. जानकार पीपुल्स नेशनल कांग्रेस की इस जीत को मुइज़्ज़ू की चीन समर्थक और भारत विरोधी नीतियों पर मुहर के तौर पर देख रहे हैं. मुइज़्ज़ू की पार्टी ने मालदीव की 93 सीटों वाली मजलिस में दो तिहाई से अधिक सीटें जीत ली हैं. अब तक 86 सीटों के नतीजे घोषित हो चुके हैं. इनमें से उनकी पार्टी ने 66 सीटें जीती हैं.

Approved Plot in Jaipur @ 3.50 Lakh call 9314188188

मुइज़्ज़ू की ये जीत इसलिए भी अहम है क्योंकि पिछली संसद में उनकी पार्टी पीपुल्स नेशनल कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों के पास सिर्फ़ आठ सीटें थीं. इससे किसी भी बिल को पारित कराने में उन्हें मुश्किल आ रही थी. मौजूदा संसद में पूर्व राष्ट्रपति और भारत समर्थक मोहम्मद सोलीह की पार्टी मालदिवियन डेमोक्रेटिक पार्टी (एमडीएपी) का बहुमत है. बहुमत में होने की वजह से एमडीपी ने पिछले दिनों मुइज़्ज़ू सरकार के तीन मंत्रियों की नियुक्ति रुकवा दी थी और कुछ खर्चों को मंजूर करने से भी इनकार कर दिया था. अब बहुमत से ज्यादा सीटें मिलने पर मुइज़्ज़ू देश में चीन के निवेश से जुड़े फैसलों को लागू कर सकते हैं.

Solar Thermal Cooking: स्वस्थ भारत के लिए सोलर थर्मल कुकिंग, दीपक गढ़िया और जनक पलटा मगिलिगन बोले..

भारत के साथ रिश्तों में कड़वाहट

चुनाव में प्रमुख विपक्षी दल मालदिवियन डेमोक्रेटिक पार्टी को भारी हार का सामना करना पड़ रहा है. उसे एक दर्जन सीटें ही मिल पाई हैं. हालांकि मालदीव की अर्थव्यवस्था की हालत ठीक नहीं है और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने उसको भारी कर्ज को लेकर चेतावनी दी है. लेकिन अपने चुनावी वादे के मुताबिक़, भारतीय सैनिकों की वापस भेजने के फैसले को लागू करने से मुइज़्ज़ू के प्रति मालदीव के वोटरों में विश्वास बढ़ा है. मुइज़्ज़ू के राष्ट्रपति बनने के बाद भारत और मालदीव के रिश्ते काफी खराब हुए हैं . भारत-मालदीव रिश्तों में दिखती दरार में चीन अपने लिए संभावनाएं तलाश रहा है ताकि वो इस क्षेत्र में अपनी पकड़ को मज़बूत कर पाए. मुइज़्ज़ू ने कहा था कि उनके सत्ता में आते ही मालदीव में मौजूद भारतीय सेना के टेक्निकल स्टाफ वापस भेज दिए जाएंगे.

मुइज़्ज़ू ने कहा था, ”10 मई के बाद देश में कोई भी भारतीय सैनिक नहीं होगा, न तो वर्दी में और न ही सादे कपड़ों में. मैं यह बात विश्वास के साथ कहता हूँ कि भारतीय सेना इस देश में किसी भी तरह से नहीं होगी.”

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर