Explore

Search
Close this search box.

Search

June 21, 2024 1:06 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

सेक्स लाइफ को बेहतर बनाकर वेट लॉस में करता है मदद; महिलाओं के लिए वरदान है गोमुखासन…

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

Health Benefits Of Gomukhasana: भागदौड़ भरी लाइफस्टाइल के चलते आज तनाव हर किसी के लिए एक बड़ी समस्या बन गया है। बढ़ते तनाव का शरीर पर काफी बुरा असर पड़ता है। जिसमें से एक यौन इच्छा में कमी भी है। ऐसे में योग एक्सपर्ट का मानना है कि शादीशुदा जिंदगी और सेक्सुअल लाइफ को बेहतर बनाने के लिए योग काफी फायदेमंद हो सकता है। बता दें, कई ऐसे योगासन हैं, जो स्त्री-पुरुषों को मजबूत बनाकर उनकी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि नियमित योग का अभ्यास कोर्टिसोल लेवल को कम करता है, जिससे स्ट्रेस कम होता है और सेक्स लाइफ में सुधार होता है। ऐसे ही योगासनों में गोमुखासन का नाम भी शामिल है। गोमुखासन का नियमित अभ्यास वेट लॉस करने से लेकर शरीर को सुडौल बनाने तक के लिए किया जा सकता है। इतना ही नहीं इस आसन के नियमित अभ्यास से अंडकोष वृद्धि एवं आंत्रवृद्धि समस्याओं में विशेष फायदा मिलता है।

गोमुखासन करने का तरीका-

गोमुखासन करने के लिए सबसे पहले योग मैट पर सुखासन की मुद्रा में बैठ जाएं। इसके बाद अपने बांए पैर को अपने शरीर की तरफ खींचने का प्रयास करें और फिर अपने दाएं पैर को बांए पैर की जांघों के ऊपर रखें और उसे भी खींचकर अपने शरीर के पास ले आएं। इसके बाद अपने दाएं हाथ को कंधे के ऊपर करें और कोहनी के पास से मोड़कर अपनी पीठ के पीछे जितना अधिक हो सके ले जाएं। उसके बाद बाएं हाथ को भी कोहनी के पास से मोड़ते हुए पेट के साइड से पीछे की ओर पीठ पर ले जाएं। अब दोनों हाथों को खींचकर आपस में मिलाने की कोशिश करें और पीठ के पीछे हाथों को एक दूसरे से पकड़ लें। इसी मुद्रा में कुछ देर तक बने रहें और 10-12 बार सांस लें। आप इस आसन को दोनों हाथों से कर सकते हैं।

अमेरिका में मचाया धमाल; कश्मीर की परी ने देश का नाम किया रोशन….

गोमुखासन के फायदे-
सेक्सुअल प्रॉब्लम करें दूर-

गोमुखासन के नियमित अभ्यास से महिलाओं की वजाइना की मांसपेशियों में कसाव आता है। जबकि पुरुषों में अंडकोष वृद्धि की परेशानियों को दूर करने में मदद मिलती है। लैंगिक परेशानियों को दूर करने में यह आसन बहुत ही कारगर माना जाता है।

फेफड़ों की कार्यक्षमता बढ़ता है-

गोमुखासन आसन ना केवल ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है बल्कि ये मांसपेशियों को भी मजबूत करता है। गोमुखासन को करने से फेफड़ों की कार्यक्षमता बढ़ती है और बॉडी में खूब ऑक्सीजन आती है जिससे यौन क्षमता पर पॉजिटिव असर होता है।

वेट लॉस-

गोमुखासन का अभ्यास करने से शरीर की मसल्स अधिक मजबूत बनती है। इतना ही नहीं, इससे वजन कम करने में भी मदद मिलती है। इस आसन का नियमित अभ्यास वेट लॉस से लेकर शरीर को लचीला और सुडौल बनाए रखने में भी मदद करता है।

बॉडी पॉश्‍चर सुधरता है-

यह आसन कूल्‍हों और कमर में दर्द को कम करता है। इससे रीढ की हड्डी सीधी रहती है। बॉडी पॉश्‍चर सुधरता है। इसके अलावा यह पैर में ऐंठन को कम करता है और पैर की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।

बीपी में फायदेमंद-

जिन महिलाओं को हाई या लो बीपी की शिकायत रहती है, उनके लिए भी गोमुखासन काफी लाभकारी होता है।

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर