Explore

Search
Close this search box.

Search

March 2, 2024 9:08 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

किसान आंदोलन: दिल्ली कूच के लिए ट्रैक्टरों पर निकले पंजाब के किसान, राशन-पानी भी लेकर जा रहे साथ, जानें क्या है प्लान

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

हरियाणा-पंजाब के किसान संगठन दिल्ली कूच के लिए निकल पड़े हैं। पंजाब के ब्यास से बड़ी संख्या में किसान ट्रैक्टर ट्रालियां लेकर हरियाणा की तरफ निकल गए हैं। ये किसान ब्यास पुल से फतेहगढ़ साहिब के लिए रवाना हुए हैं। वहीं किसानों की हरियाणा की सीमा में एंट्री न हो, इसके लिए हरियाणा-पंजाब के हर बॉर्डर पर पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। किसानों ने मुख्य रूप से शंभू बॉर्डर से दिल्ली कूच का ऐलान किया हुआ है, जिसके मद्दे नजर पुलिस-प्रशासन ने अंबाला की सभी सीमाओं की किलेबंदी की गई हैं। इसके साथ ही हरियाणा के 15 जिलों में धारा 144 लगाई गई है। इसी तरह सात जिलों में इंटरनेट सेवा को बंद किया गया है।

​ब्यास से निकले किसान

सोमवार सुबह अमृतसर के ब्यास से हजारों की संख्या में किसान फतेहगढ़ साहिब की ओर निकले हैं। पंजाब किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने कहा है कि हम इस संघर्ष की शुरुआत ब्यास से करेंगे और फतेहगढ़ साहिब में आज रुकेंगे। हमारी मांगें वही हैं- एमएसपी गारंटी कानून, गन्ने को C200 के साथ जोड़ा जाना चाहिए।

किसान संघर्ष के लिए दिल्ली पहुंच रहे’​

किसानों को कहना है कि भारत के हर राज्य से किसान संघर्ष के लिए दिल्ली पहुंच रहे हैं। सबसे ज्यादा किसान पंजाब, हरियाणा, बिहार, तमिलनाडु, मध्य-प्रदेश और राजस्थान से आ रहे हैं। सभी तरह से किसान दिल्ली की ओर कल कूच करेंगे। 75 वर्षों से हमारी मांगें थीं जो नहीं सुनी गईं। हम शांति से आगे बढ़ेंगे और हमारा उद्देश्य है कि सरकार हमारी मांगों को सुने।

Abdul Malik Arrest: Haldwani Violence का मास्टरमाइंड Abdul Malik दिल्ली से गिरफ्तार, पूछताछ शुरू..हिरासत में 60 से ज्यादा लोग

किसान को रोकने के लिए कंटेनर तैनात

दिल्ली कूच के ऐलान के बाद रविवार को पुलिस ने दिल्ली-चंडीगढ़ हाइवे का रूट डायवर्ट कर दिया है। अंबाला और पंजाब की तरफ से आने वाले रास्तों पर ट्रैफिक बंद रहेगा। दिल्ली से चंडीगढ़ जाना चाहते हैं तो अलग रूट तैयार किया गया है। अगर अमृतसर जाना है या फिर चंडीगढ़ से आना है तो अलग रूट प्लान तैयार किया गया है। हिसार से चंडीगढ़ और अंबाला से चंडीगढ़ पहुंचने के लिए भी पुलिस ने अलग-अलग रूट प्लान तैयार किया है। किसानों को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने बड़े बड़े कंटेनरों को कर्ण लेक के पास खड़ा किया है। बड़े बड़े पत्थर मंगवाए गए है। दावा किया गया है कि किसानों को आगे बढ़ने नहीं दिया जाएगा। डीसी अनीश यादव व SP शशांक कुमार सावन ने कर्ण झील और बलड़ी बाइपास पर सुरक्षा व्यवस्था को जायजा लिया और अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए।

ट्रैक्टर पर हथियार बांधकर दिल्ली जाएंगे किसान तो रोका जाएगा’

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रविवार को किसानों के दिल्ली कूच के मद्देनजर प्रदेश की कानून-व्यवस्था नियंत्रित होने का दावा किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली जाने से कोई किसी को नहीं रोक रहा है,लेकिन जिस प्रकार के प्रदर्शन वह लोग करते हैं वह लोकतंत्र में सही नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली जाने के लिए बस या ट्रेन बहुत हैं। कई और भी साधन हैं। अगर किसान ट्रैक्टर लेकर जाएंगे और हथियार आगे बांधकर ले जाएंगे तो कोई भी इन्हें जाने की इजाजत नहीं देगा।

हरियाणा पुलिस ने पुख्ता सुरक्षा बंदोबस्त किए

हरियाणा के डीजीपी शत्रुजीत कपूर का कहना है कि हरियाणा पुलिस ने पुख्ता सुरक्षा बंदोबस्त किए हैं। किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा। अगर कोई कानून तोड़ने की कोशिश करेगा तो उनके खिलाफ सख्ती से पेश आया जाएगा। पंजाब से जुड़ी सीमाओं पर अर्धसैनिक बलों के साथ हरियाणा पुलिस के जवान तैनात हैं।

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर