Explore

Search
Close this search box.

Search

April 20, 2024 8:00 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Credit Card New Rule: क्रेडिट कार्ड की बिलिंग साइकिल में कर सकते हैं बदलाव, RBI के लेटेस्ट रूल से आपको ऐसे होगा फायदा

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

Credit Card New Rule: आप क्रेडिट कार्ड रखते हैं तो यह खबर आपके लिए फायदे वाली हो सकती है। दरअसल, केंद्रीय बैंक यानी कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने क्रेडिट कार्ड जारी करने के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। बैंकिंग रेगुलेटर ने इस बारे में नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया है। इस नोटिफिकेशन के मुताबिक क्रेडिट कार्ड के मौजूदा ग्राहक अपने हिसाब से बिलिंग साइकिल बिलिंग साइकिल (Billing Cycle) में बदलाव कर सकते हैं।

जयपुर में अप्रूवड प्लॉट मात्र 7000/- प्रति वर्ग गज 9314188188
क्रेडिट कार्ड के लिए खास नियम

क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने वालों के लिए रिजर्व बैंक (RBI) एक खास नियम लेकर आया है। यह नियम बिलिंग साइकिल में बदलाव का है। नया नियम कहता है कि कार्डहोल्डर अपने हिसाब से बिलिंग साइकिल (Billing Cycle) में बदलाव कर सकते हैं। इस बारे में पहले ही अधिसूचना जारी हो चुकी है। इस नियम को लागू भी कर दिया गया है।

ड्यू डेट भी बदल जाएगा

जैसे ही बिलिंग साइकिल में बदलाव कर ड्यू डेट में भी बदलाव हो सकता है। पहले यह काम आसान नहीं था। क्योंकि किसी कार्ड की बिलिंग साइकिल क्रेडिट कार्ड के इश्यू करने के वक्त ही फिक्स कर दी जाती है। उसी समय बिलिंग डेट और ड्यू डेट फिक्स होता है। यह क्रम तब तक चलता है जब तक कार्ड को कैंसिल न किया जाए। अब रिजर्व बैंक ने क्रेडिट कार्ड धारकों को बिलिंग साइकिल में बदलाव करने का एक मौका दिया है।

क्या होता है बिलिंग साइकिल

क्रेडिट कार्ड बिलिंग साइकिल आपके बिलिंग स्टेटमेंट के बीच का टाइम पीरियड होता है। ये बिलिंग पीरियड एक क्रेडिट कार्ड जारी करने वाले बैंक/NBFC से दूसरे में अलग हो सकता है। इसकी अवधि 27 दिन से लेकर 31 दिन तक हो सकती है। आपके बिलिंग साइकिल के अंत में आपका स्टेटमेंट आपके क्रेडिट कार्ड जारी करने वाले बैंक द्वारा जनरेट किया जाता है। इस बिल का भुगतान करने के लिए आपके पास ड्यू डेट तक का समय मिलता है।

लोकसभा चुनाव 2024: राजस्‍थान में BJP 10 सीटों पर उम्‍मीदवार फाइनल, Jaipur में सबसे ज्‍यादा दावेदार

एक उदाहरण से समझिए
मान लें कि आपके क्रेडिट कार्ड का स्टेटमेंट हर महीने की 6 तारीख को जेनरेट किया जाता है। ऐसे में आपका क्रेडिट कार्ड बिलिंग पीरियड उस महीने की 7 तारीख से शुरू होगा और अगले महीने की 6 तारीख को समाप्त होगा। इस अवधि के दौरान आपके सभी क्रेडिट कार्ड ट्रांजैक्शन मासिक क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट में दिखाई देंगे। इसमें सभी क्रेडिट कार्ड पेमेंट, कैश विड्रॉल (अगर कोई हो) और क्रेडिट कार्ड EMI की जानकारी होती है। इस उदाहरण में हमने बिलिंग पीरियड को 30 दिनों का माना है, लेकिन यह कार्ड के प्रकार और आपके क्रेडिट कार्ड प्रदाता के मुताबिक अलग-अलग हो सकती है।

क्या होता है क्रेडिट कार्ड ड्यू डेट
क्रेडिट कार्ड के बिलों का भुगतान करने की अंतिम तारीख को क्रेडिट कार्ड ड्यू डेट कहा जाता है। ये ड्यू डेट आमतौर पर स्टेटमेंट की तारीख से 15 से 25 दिनों के बाद होती है। उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि आपका क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट हर महीने की 6 तारीख को जेनरेट होता है और आपकी ड्यू डेट उसी महीने की 26 तारीख को होती है, तो इसका सीधा-सा मतलब है कि आपको 26 तारीख तक अपने बिलों का भुगतान करना होगा और इस समय सीमा के भीतर भुगतान करने पर कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगेगा।

बिलिंग साइकिल बदलवाने का क्या होगा फायदा

मान लिया जाए कि आपके क्रेडिट कार्ड का बिल हर महीने की 28 तारीख को जनरेट होता है। इसका मतलब है कि आपका ड्यू डेट या पैसे चुकाने का अंतिम दिन 16 या 17 तारीख को पड़ेगा। आपका वेतन एक तारीख को आपके बैंक अकाउंट में क्रेडिट होता है। वेतन आने के बाद खर्च तो चलता ही रहता है। कई बार ऐसा होता होगा कि महीने की 16 तारीख आते आते आपका पैसा खत्म हो जाता है। ऐसे में यदि आप अपने कार्ड का बिलिंग डेट 17 तारीख करवा लेते हैं तो आपका ड्यू डेट महीने की तीसरी या चौथी तारीख को पड़ेगा। उसी समय वेतन आता है तो आप पूरा पैसा एक बार में चुका पाएंगे। आपको कोई पेनल इंटरेस्ट या जुर्माना नहीं भरना होगा।

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर