Explore

Search
Close this search box.

Search

March 3, 2024 7:37 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Sukhdev Singh Gogamedi Murder: क्‍या है पूजा सैनी की जिंदगी का पूरा रहस्य?… एयर होस्टेस बनने के लिए ले रही थी ट्रेनिंग पर

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की पूजा सैनी से कोई नहीं दुश्मनी नहीं थी. कोई निजी रंजिश भी नहीं थी, लेकिन इसके बाद भी पूजा सैनी की मदद से सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या हुई. जब जयपुर की पुलिस ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड में इस महिला को गिरफ्तार किया तो उसे वक्त पूरा राजस्थान हैरान हो गया आखिर कौन है यह महिला? जिसके ऊपर राजस्थान की पुलिस गंभीर मामले दर्ज कर रही है कौन है यह लेडी डॉन? जिसने सुखदेव सिंह गोगामेडी का काम तमाम कर द‍िया.

पूजा सैनी ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या करने वाले शूटर नितिन फौजी को खाना भी खिलाया था और उसको खाने के लिए टिफिन भी दिया था. उसको अपने घर पर एक हफ्ते तक रखा भी था. पूजा सैनी की पूरी जिंदगी इतनी ज्यादा रहस्यमय है कि वो एयर होस्टेस बनने के लिए भी ट्रेनिंग कर रही थी. अगर पूजा सैनी एयर होस्टेस बनकर एक खुशहाल जिंदगी जीना चाहती थी तो आखिर वह कैसे लॉरेंस बिश्नोई गैंग के करीब पहुंच गई? और कैसे वो लॉरेंस बिश्नोई गैंग के बड़े दुश्मन सुखदेव सिंह गोगामेडी की हत्या में शामिल हो गई ये पूरी कहानी बहुत दिलचस्प जो आज हम आपको बताने वाले हैं.

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद अब जैसे-जैसे जांच के नतीजे सामने आ रहे हैं. वैसे-वैसे यह बात पता चल रही है कि लॉरेंस बिश्नोई गैंग के तार राजस्थान में किस तरह फैले हुए थे लॉरेंस बिश्नोई गैंग किस तरह से राजस्थान के अंदर जड़े जमा चुका था. सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात यह है कि लॉरेंस बिश्नोई गैंग के पास हर काम के लिए एक अलग आदमी मौजूद था.

एक-एक गैंगस्टर और गुर्गे को जिम्मा दिया गया था
हथियारों की सप्लाई के जिम्मे से लेकर के कत्ल के लिए गाड़ी मुहैया करवाने तक और शूटरों को पैसा देने तक हर काम पूरी प्लानिंग के साथ हो रहा था और एक-एक काम के लिए एक-एक गैंगस्टर और गुर्गे को जिम्मा दिया गया था. पूजा सैनी नाम की इस महिला का जिम्मा सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के कातिल शूटर नितिन फौजी को हथियार मुहैया करवाना था. राजस्थान पुलिस ने पुष्टि की है कि पूजा सैनी और उसके पति महेंद्र मेघवाल ने नितिन फौजी को हथियार मुहैया कराए थे.

क‍िराए पर रहा था न‍ित‍िन फौजी
5 दिसंबर को हत्याकांड को अंजाम देने से पहले लगभग एक हफ्ते तक नितिन फौजी जयपुर में पूजा सैनी के किराए के फ्लैट में रहा था. पूजा सैनी राजस्थान में गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और रोहित गोदारा के मामलों को संभालने के लिए जिम्मेदार थी. पूजा सैनी को ये जिम्मा दिया गया था कि वो हत्याकांड से पहले शूटर नितिन फौजी को हथियार उपलब्ध करवाएगी और पैसे रुपए से उनकी मदद करेगी. हत्याकांड के बाद हथियारों को दोबारा बरामद करने के लिए भी उसे ही काम सौंपा गया था. इतना ही नहीं पूजा सैनी ही घटना के बाद हथियार बरामद करने के लिए भी जिम्मेदार थी. वो फर्जी पहचान के तहत एक युवक के साथ जयपुर में रह रही थी. ये युवक भी लारेंस गैंग से जुड़ा हुआ था जिसके बारे में हम आपको आगे बताने वाले हैं.

पूजा का पत‍ि फरार
राजस्थान पुलिस ने पूजा के पास से कई फर्जी आईडी जब्त की हैं और फिलहाल पुलिस टीम उससे पूछताछ कर रही है. दरअसल पूजा सैनी पर पहले से भी कई मुकदमे दर्ज हैं. लेडी डॉन पूजा सैनी जयपुर में अपने पति महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर के साथ रह रही थी. उसके पति पर भी पहले से हत्या, मारपीट और तस्करी के मामले दर्ज हैं जो फिलहाल फरार है. दरअसल पूजा सैनी और उसके पति महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर ने ही इस हत्याकांड के लिए हथियार उपलब्ध करवाए थे.

समीर की दूसरी पत्‍नी पूजा सैनी
पुलिस के मुताबिक, महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर, राजस्थान के कोटा जिले का ही निवासी है और थाने की हिस्ट्रीशीट की लिस्ट में उसका नाम 40वें नंबर पर है. महेंद्र की एक पत्नी भी कोटा में ही रहती है, जिसका नाम संगीता है और उसने संगीता से लव मैरिज की थी, जबकि वो अपनी दूसरी पत्नी पूजा सैनी के साथ जयपुर में रह रहा था, जिसके साथ उसने साल 2022 में एक मंदिर में शादी की थी. दरअसल महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर के साथ ही उसकी पत्नी पूजा सैनी को पकड़ने के लिए भी राजस्थान पुलिस ने टोंक में छापेमारी की थी लेकिन इस छापेमारी की भनक लगते ही महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर हथियारों के जखीरे के साथ भाग निकला और फरार हो गया जबकि उसकी दूसरी पत्नी पूजा सैनी पुलिस के शिकंजे में आ गई.

पुलिस ने जब टोंक में पूजा के घर की तलाशी ली तो काफी अहम सबूत बरामद हुए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, पूजा सैनी के फ्लैट पर AK-47 राइफल रखी हुई तस्वीर भी मिली है जिसको लेकर आशंका जताई जा रही है कि उसका पति लेकर फरार हो गया है. बताया जाता है कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्याकांड में हथियारों की सप्लाई करने वाले महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर राजू ठेहठ की हत्या में भी शामिल था. पुलिस के मुताबिक, इस हत्या के लिए मेघवाल ने आधा दर्जन से ज्यादा पिस्टल और भारी मात्रा में कारतूस खरीदे थे. नितिन फौजी ने अपने लिए दो पिस्टल और मैगजीन और रोहित राठौर के लिए एक पिस्टल और दो मैगजीन की व्यवस्था की थी. नितिन फौजी 28 नवंबर को टैक्सी से जयपुर आया था और महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर से मिला जो उसे जयपुर के जगतपुरा के फ्लैट में ले गया था. यही नहीं महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर की दूसरी पत्नी पूजा सैनी ने नितिन फौजी के लिए खाना भी तैयार किया था.

हत्‍याकांड से पहले शोरूम से खरीदी बाइक
इतना ही नहीं पूजा सैनी के पति महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर ने दोनों शूटर को हत्या के लिए जाने से पहले 50-50 हजार दिए थे. इससे पहले 29 नवंबर को शूटर रोहित राठौड़ के लिए जयपुर के मानसरोवर में शो रूम से एक मोटर साइकिल खरीदी गई थी. इसके लिए बीस हजार का डाउन पेमेंट महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर ने दिया था. रोहित राठौड़ ने सुबह 11बजे मोटर साइकिल को सुखदेव गोगामेड़ी के घर के पास गली में खड़ा किया था. उस पर दो हेलमेट भी रखे थे. बाइक की चाबी अपने पास रखी थी. प्लान ये था कि हत्या के बाद दोनों को इस मोटर साइकिल से फरार होना था, लेकिन जब दोनों हत्या के बाद दौड़ते हुए गली के नुक्कड़ पर आए तो ये मोटरसाइकिल वहां नहीं मिली. इसी वजह से शूटरों ने फायर कर स्कूटी छीन ली और उस पर बैठकर फरार हुए थे. दरअसल जहां बाइक खड़ी की थी वहां निर्माण का काम चल रहा था और मजदूरों ने बाइक को लावारिस देखकर कुछ दूर दूसरी जगह खड़ी कर दी थी.

द‍िलचस्‍प है पूजा की लव स्‍टोरी
पुलिस सूत्रों का दावा है कि दरअसल पूजा सैनी प्यार के चक्कर में जुर्म के दलदल में गिर गई. पूजा साल 2020 में महेंद्र मेघवाल उर्फ समीर के टच में आई थी. फेसबुक से दोनों की पहचान हुई फिर बातचीत होने लगी. अगस्त 2022 में जयपुर के एक मंदिर में महेंद्र से शादी कर ली. फिर दोनों जयपुर स्थित जगतपुरा के फ्लैट में रहने लगे. पूजा ने पहले एयरपोर्ट पर काम करना शुरू कर दिया था, लेकिन फिर वो महेन्द्र के साथ लारेंस गैंग में शामिल हो गई. जांच से पता चला है कि रामवीर जाट ने शूटर नितिन और रोहित के लिए जयपुर में सारा इंतजाम किया था. बचपन के दोस्त, रामवीर और नितिन फौजी के बीच घनिष्ठ संबंध थे और रामवीर ने ही नितिन फौजी को जयपुर में एक होटल और एक फ्लैट में रहने की सुविधा प्रदान की. इसके अलावा, रामवीर ने नितिन फौजी के भागने की योजना में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड से एक बात ये भी सामने आ रही है कि लारेंस विश्नोई गैंग तर्की की बनी हुई प्रतिबंधित जिगाना पिस्टल से शूटआउट को अंजाम दे रहा है.

जिगाना प‍िस्‍तौल का हुआ इस्‍तेमाल
याद कीजिए साल 2023 में ही अप्रैल के महीने में जब अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या हुई थी तब उन हत्याओं में भी जिगाना पिस्टल का ही इस्तेमाल हुआ था. अतीक अहमद को मारने वाले शूटरों ने 20 सेकेंड से भी कम समय में 30 से ज़्यादा गोलियां चलाईं थीं. अतीक अहमद के कत्ल में भी 2 जिगाना पिस्टल और 1 मुंगेरी पिस्टल का इस्तेमाल हुआ था. अतीक की हत्या करने वाले शूटर सनी ने जिगाना से 16 और लवलेश ने जिगाना से 13 फायर किए थे. अतीक अहमद हत्याकांड में भी हथियारों की सप्लाई के मामले में लॉरेंस बिश्नोई और जितेंद्र गोगी जैसे खूंखार अपराधियों का नाम आया था. उस वक्त ये दावा किया गया था कि दिल्ली के गैंगस्टर जितेंद्र गोगी ने अतीक को मारने वाले शूटर सनी को यूपी के हमीरपुर से बुलाकर दो जिगाना पिस्तौल दी थी. लेकिन इस मामले में आज एक चौंका देने वाला उस वक्त सामने आया जब ये दावा करते हुए अशोक गहलोत की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया कि उनको करणी सेना से खतरा है इस पर करणी सेना के पदाधिकारियों ने आपत्ति जताई है और कहा है कि करणी सेना एक सामाजिक संगठन है ना कि कोई आपराधिक संघठन है. कुल मिलाकर ये पूरा मामला कांग्रेस के गले की हड्डी बनता जा रहा है क्योंकि देश के राजपूत समाज के बड़े नेताओं में शामिल सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद सबसे ज्यादा नाराजगी अशोक गहलोत से ही है.

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर