Explore

Search
Close this search box.

Search

February 25, 2024 4:28 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

‘क्या हैं नरेंद्र मोदी? आएंगे तो आएं-लालू यादव, आखिर किस सवाल पर खीझ गए लालू यादव

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

पटना: 2024 में मोदी सरकार को हराने के लिए दिल्ली में बैठक है। इसके लिए लालू यादव दिल्ली पहुंच चुके हैं। इस दौरान लालू प्रसाद अपने पुराने अंदाज में भी दिखे, जब वे एक पत्रकार के प्रश्न पर भड़क गए। एक पत्रकार ने जब राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद से पूछा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया है कि भाजपा फिर से सत्ता में आएगी, तो इस पर वे भड़क गए। पत्रकार से कहा कि एके ही सवाल पूछते हो। रोज यही बात पूछते हैं। क्या है नरेंद्र मोदी? आएंगे तो आएं। मिलकर लड़ेंगे और इनको हटाएंगे। वो ‘मोदी की गारंटी’ वाक्य पर टिप्पणी कर रहे थे।

पीएम मोदी को हराने का लालू को भरोसा

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने सोमवार को कहा कि विपक्षी दलों का गठबंधन ‘इंडिया’ अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सत्ता से बाहर कर देगा। गठबंधन की मंगलवार को दिल्ली में बैठक है। इसमें शिरकत करने के लिए लालू यादव दिल्ली रवाना हुए। अपने बेटे और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के साथ पटना हवाई अड्डे से रवाना हुए। लालू यादव ने पत्रकारों से कहा कि गठबंधन की बैठक में सहयोगी एक साथ बैठेंगे और 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए रणनीति तैयार करेंगे।

इस बीच, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने लालू यादव के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि लालू जी मजाक कर रहे हैं। उन्हें गिनती याद आ गई होगी कि उन्होंने कितनी बार चुनावी हार का स्वाद चखा है। बिहार में उन्हें अपराधियों को संरक्षण देने वाले के तौर पर और भ्रष्टाचार के लिए याद किया जाता है।इसी वजह से उन्हें चारा घोटाला मामलों में दोषी ठहराया गया है। राजद वर्तमान में वैध तरीकों से नहीं, बल्कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विश्वासघात के कारण सत्ता में है। जद (यू) और राजद दोनों को बिहार के लोग दंडित करेंगे।

तेजस्वी ने क्षेत्रीय दलों को दी तरजीह

वहीं, लालू यादव के बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी कहा कि हर चीज पर चर्चा की जाएगी। पहले से ही चार समितियां बनाई गई हैं और वे काम देख रही हैं। सबकुछ सार्वजनिक नहीं किया जा सकता है। चुनाव के लिए जो भी तैयारी करनी चाहिए, हम कर रहे हैं। हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर एक सवाल पर उन्होंने कहा कि इंड‍िया एक गठबंधन है। हमें जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी, हम उसे निभाएंगे। अधिकांश क्षेत्रीय दल अपने क्षेत्रों में मजबूत हैं। जहां भी क्षेत्रीय दल हैं, पार्टियां मजबूत हैं। बीजेपी वहां नजर नहीं आ रही है और कई क्षेत्रीय पार्टियां इंडिया गठबंधन के साथ हैं।

मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी के अशोक होटल में हो रही इंडिया गठबंधन की चौथी बैठक के दौरान सीट बंटवारे और न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर बातचीत होगी। इस साल 31 अगस्त और 1 सितंबर को मुंबई में इंडिया ब्लॉक की तीसरी बैठक के दौरान 14 सदस्यीय समन्वय समिति और 19 सदस्यीय चुनाव रणनीति समिति की घोषणा की गई थी। इंडिया गठबंधन की पहली बैठक 23 जून को पटना में हुई, जबकि दूसरी बैठक 17 और 18 जुलाई को बेंगलुरु में हुई। 2024 के महत्वपूर्ण लोकसभा चुनावों से पहले सत्तारूढ़ भाजपा से मुकाबला करने के लिए विपक्षी दल एक साथ आए हैं।

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर