Explore

Search
Close this search box.

Search

February 22, 2024 4:13 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

आज का पवित्र लेख, जरूर पढ़े एसे लेख जीवन में बदलाव के लिये

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email
हे दिव्यवाणी के पुत्र !

अपना मुखड़ा मेरी ओर कर और मेरे अतिरिक्त अ सभी कुछ त्याग दे, क्योंकि मुझ महान की सत्ता शाश्वत उसका अन्त नहीं। यदि मेरे अतिरिक्त तुझे किसी अन्य व लालसा है, तो समझ ले कि भले ही कल्पान्त तक तू संपू ब्रह्माण्ड को भी खोजता रहेगा तो निराशा को ही प्राण होगा।-बहाई लेखों से

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर