Explore

Search
Close this search box.

Search

March 3, 2024 8:47 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

जिसने कराई मुलाकात, उसे भी उतारा मौत के घाट… जानें, सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के आखिरी 10 मिनटों की कहानी

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

Sukhdev Singh Gogamedi Murder: जयपुर में मंगलवार को दिनदहाड़े राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रमुख सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की गोली मार कर हत्या कर दी गई. इस वारदात को गैंगस्टर रोहित गोदारा से जुड़े कुछ अज्ञात आरोपियों ने गोगामेड़ी के घर पर ही अंजाम दिया. आरोपी पहले सुखदेव से बातचीत करते रहे और फिर अचानक उन दोनों ने सुखदेव पर गोलियां बरसा दी. और ये पूरी वारदात महज 10 मिनट में अंजाम दे दी गई.

जयपुर पुलिस के मुताबिक, मंगलवार को दिनदहाड़े दो बदमाशों ने गोगामेड़ी पर फायरिंग की और फरार हो गए. गोगामेड़ी को मेट्रो मास अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. इस घटना के दौरान वहां मौजूद गोगामेड़ी का गार्ड अजीत सिंह फायरिंग में गंभीर रूप से घायल हो गया है.

पुलिस के अनुसार, जो युवक बदमाशों को गोगामेड़ी के घर ले गया था, उसकी भी फायरिंग में मौत हो गई. उसकी पहचान नवीन शेखावत के रूप में हुई है. गैंगस्टर रोहित गोदारा ने हत्याकांड की जिम्मेदारी लेते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर की है.

पहले बात, फिर हमला

दरअसल, पहले तीन लोग सुखदेव के घर पहुंचे. फिर वे सोफे पर बैठ गये और गोगामेड़ी से बातें करने लगे. करीब 10 मिनट बाद दो बदमाश उठे और फायरिंग शुरू कर दी. फायरिंग के दौरान गोगामेड़ी के गार्ड ने उसे बचाने की कोशिश की. बदमाशों ने उस पर भी फायरिंग कर दी. जाते समय भी एक बदमाश ने गोगामेड़ी के सिर में गोली मार दी. बदमाशों की फायरिंग में नवीन नाम के शख्स को भी गोली लग गई.

स्कूटी लेकर भागे हमलावर

फायरिंग के बाद दो बदमाश दौड़ते हुए एक गली से निकले और एक कार को रोककर लूटने की कोशिश की. उन्होंने ड्राइवर को पिस्तौल दिखाई तो ड्राइवर गाड़ी भगाकर भाग गया. इस दौरान पीछे से आ रहे स्कूटी सवार को शूटरों ने निशाना बनाया. बदमाशों ने स्कूटर सवार को गोली मार दी गई. जिसके बाद वह भी घायल हो गया. इसके बाद बदमाश भाग निकले.

बदमाशों की गोली से मारा गया नवीन

सूचना मिलने पर श्याम नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची. गोगामेड़ी के संगठन से जुड़े लोगों ने अस्पताल के बाहर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. उन्होंने पीड़ितों के लिए न्याय की मांग करते हुए मानसरोवर में सड़कें अवरुद्ध कर दी हैं. बदमाशों की गोली लगने से जिस नवीन की मौत हुई, वह वही नवीन था, जो बदमाशों को गोगामेड़ी के घर तक ले गया था.

घटना की सीसीटीवी फुटेज

जयपुर के पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसेफ के मुताबिक, मृतक नवीन सिंह शक्तावत शाहपुरा के रहने वाले था. नवीन जयपुर में कपड़े का कारोबार करता था. पुलिस के पास सभी आरोपियों और घटना की सीसीटीवी फुटेज है. मौके से भागे दोनों आरोपियों की तलाश जारी है.

हमलावरों की कार बरामद

आरोपी एक एसयूवी कार में सवार होकर आए थे, जो पुलिस ने गोगामेड़ी के घर के बाहर से बरामद कर ली है. उस कार से एक बैग, शराब की बोतल और खाली गिलास मिले हैं. घटना के बाद एफएसएल टीम की मदद से फायरिंग वाली जगह यानी मौका-ए-वारदात से तमाम तरह के सुबूत जुटाए गए हैं.

डीजीपी ने पुलिस को किया अलर्ट

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद डीजीपी उमेश मिश्रा ने प्रदेश भर के पुलिस अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने हत्यारों को पकड़ने के लिए बैरिकेडिंग के निर्देश भी जारी किए हैं. संबंधित जिलों में विशेष सतर्कता के साथ-साथ सुरक्षा बढ़ाने के लिए भी कहा गया है. पुलिस पूरे मामले की बारीकी से छानबीन कर रही है.

गैंगस्टर रोहित गोदारा ने ली जिम्मेदारी

इधर, घटना के बाद गैंगस्टर रोहित गोदारा के नाम से बने फेसबुक पेज पर हत्या की जिम्मेदारी ली गई है. उस पोस्ट में लिखा, “सभी भाइयों को राम राम, मैं रोहित गोदारा कपूरीसर, गोल्डी बराड़. भाइयों, आज सुखदेव गोगामेड़ी की हत्या कर दी गई. हम इसकी पूरी जिम्मेदारी लेते हैं. यह हत्या हमने करवाई है. भाइयों मैं चाहता हूं कि आपको बता दें कि वह हमारे दुश्मनों का साथ देते थे. उन्हें मजबूत करते थे. जहां तक दुश्मनों की बात है तो उन्हें अपने घर के दरवाजे पर अपनी अर्थी तैयार रखनी चाहिए. जल्द ही उनसे भी मुलाकात होगी.”

ऐसे चर्चओं में आए थे सुखदेव

आपको याद दिला दें कि साल 2017 में जयगढ़ में फिल्म पद्मावत की शूटिंग के दौरान राजपूत करणी सेना के लोगों ने तोड़फोड़ की थी. गोगामेड़ी फिल्म पद्मावत और गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर मामले के बाद राजस्थान में हुए विरोध प्रदर्शन के चलते ही सुर्खियों में आया था.

पहले राष्ट्रीय करणी सेना से जुड़े थे सुखदेव

हमलावरों के हाथों मारे गए सुखदेव सिंह गोगामेड़ी राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे. इससे पहले वह लंबे समय तक राष्ट्रीय करणी सेना से जुड़े रहे थे. मगर विवाद हो जाने के बाद उन्होंने राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के नाम से एक अलग संगठन बनाया था.

2017 में बनाया था अपना संगठन

करणी सेना का गठन सबसे पहले साल 2006 में हुआ था. बाद में लोकेंद्र सिंह कालवी ने एक अलग संगठन राजपूत करणी सेना बनाया. साल 2012 में सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को श्री राजपूत करणी सेना का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था, लेकिन बाद में कालवी और गोगामेड़ी के बीच विवाद हो गया. सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने 2017 में श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के नाम से एक अलग संगठन बनाया था.

कौन है रोहित गोदारा?

उधर, गोगामेड़ी की हत्या की जिम्मेदारी लेने वाला गैंगस्टर रोहित गोदारा गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई गैंग का गुर्गा है. पुलिस ने उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया है. गोदारा साला 2022 में फर्जी नाम से पासपोर्ट बनवाकर देश से भाग गया था. विदेश जाने से पहले गोदारा बीकानेर के लूणकरणसर में रहता था. वह 2019 में चूरू के सरदारशहर में भींवराज सारण की हत्या के मामले में भी मुख्य आरोपी था. गोदारा ने गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या की भी जिम्मेदारी ली थी.

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर