Explore

Search
Close this search box.

Search

March 1, 2024 9:01 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

समर्पण संस्था का गणतंत्र दिवस समारोह व “आर्थिक असमानता और मानव विकास “ विषयक विचार गोष्ठी आयोजित

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

जयपुर ।” संविधान की प्रस्तावना प्रत्येक व्यक्ति को याद होनी चाहिए । राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस को मनाना भी मानवता व राष्ट्र के लिए अमूल्य योगदान है ।“ उक्त विचार समर्पण संस्था द्वारा 75वें गणतंत्र दिवस पर समर्पण आश्रय केयर भवन में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह व विचार गोष्ठी में मुख्य अतिथि पूर्व जिला न्यायाधीश जी एस निमोरिया ने व्यक्त किये ।

उन्होंने कहा कि “ समाज के समृद्ध वर्ग को कमज़ोर वर्ग के प्रति संवेदनशील होना चाहिए । आर्थिक असमानता को कम करने के लिए यह आवश्यक है ।”इससे पूर्व समर्पण आश्रय केयर भवन प्रांगण में मुख्य अतिथि जी एस निमोरिया ने अन्य अतिथि व पदाधिकारियों के साथ झंडा फहराया। तत्पश्चात विचार गोष्ठी की शुरुआत दीप प्रज्जवलन के साथ समर्पण प्रार्थना से की गई जिसे संस्था के कोषाध्यक्ष रामवतार नागरवाल व आर्किटेक्ट अंजली माल्या और सुवज्ञा माल्या ने प्रस्तुत किया।


संस्था के संस्थापक अध्यक्ष आर्किटेक्ट डॉ. दौलत राम माल्या ने अपने स्वागत भाषण में संस्था के सिद्धांत व कार्यक्रमों की विस्तृत व्याख्या करते हुए अपने विचार व्यक्त किये।
मुख्य वक्ता एडवोकेट डॉ. महेन्द्र कुमार आनन्द ने कहा कि “ आर्थिक असमानता के लिए काफ़ी हद तक हम स्वयं ज़िम्मेदार होते हैं । हमेशा क़ानून की इज़्ज़त करें ।सोच को विकासवादी बनायें ।अंधविश्वासों से दूर रहें और समाज की भलाई के लिए अपनी प्राथमिकताएं तय करें । हमेशा अच्छे विचार मन में रखें और उन्नति की तरफ़ निगाह रखें ।चरित्र में ईमानदारी को जगह दे । “
उन्होंने कहा कि “ जीवन में जो चाहिए वह दूसरों को देना शुरू करें । जीवन में एक ध्येय रखें ।जब ध्येय होता है तो हमेशा ऊर्जावान बने रहते हैं ।”


इस अवसर पर गायक रमेश कुमार बैरवा ने एक देशभक्ति गीत व कवि राम लाल रोशन ने समर्पण गीत प्रस्तुत किया। पैशन डांस स्टेप्स व इवेंट मैनेजमेंट के कलाकारों ने देशभक्ति गीतों पर नृत्य प्रस्तुत किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सार्वजनिक निर्माण विभाग के सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियन्ता व वरिष्ठ समाजसेवी बी एल भाटी ने कहा कि “ समाज की सबसे बड़ी बुराई नशा है , इससे दूर रहें । प्रजातांत्रिक व्यवस्था को बनाए रखने में हर कोई अपना योगदान दें। काम ऐसा करें की पहचान बन जाए , क़दम ऐसे चले के निशान बन जाए , और ज़िंदगी ऐसी जियें कि दूसरों के लिए मिसाल बन जाये ।”
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि धर्मपाल ( सेवानिवृत्त उपनिदेशक, डीआरडीओ ), घासी लाल बैरवा ( सेवानिवृत्त अधिकारी, राजभाषा अनुभाग , इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रोद्यौगिकी मंत्रालय , भारत सरकार ),एडवोकेट सुश्री निर्मला सोनी ( IP Attorney , N K Soni & Associates ), संजय पाटनी ( Director, Priority Pharmacutical Private Limited ), राज कुमार चन्देल ( प्रोपराइटर, राधाकृष्णा एजेन्सी व राज कुमार टेक्सटाइल एजेन्सी ), सुमित्रा पाल ( वरिष्ठ समाज सेविका ), मदन लाल वर्मा ( भवन निर्माता , प्रोपराइटर कृष्णा कन्स्ट्रक्शन कम्पनी ), मयंक बैरवा ( Director, Shreenidhi Infrasolution Pvt. Ltd. ), हेमन्त कुमार चाहिल ( प्रोपराइटर, Darshneel Enterprises ) उपस्थित रहे। मंच संचालन एडवोकेट नरेन्द्र कुमार गजुआ ने किया ।

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर