Explore

Search
Close this search box.

Search

April 19, 2024 9:25 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Rajasthan Police: जासूसी के आरोप में आर्मी वर्दी स्टोर का संचालक गिरफ्तार, हनीट्रैप का शिकार आरोपी तीन महिला पाक एजेंट के था संपर्क में

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

राजस्थान पुलिस की इंटेलिजेंस की टीम ने आर्मी की सामरिक महत्व की सूचना एकत्रित कर सोशल मीडिया के माध्यम से पाकिस्तान गुप्तचर एजेंसी की तीन महिला हैंडलर्स को शेयर करने के आरोपी आनन्दराज सिंह पुत्र मेनपाल सिंह, (22) निवासी गांव खुन्दरोठ थाना मांढण तहसील नीमराणा जिला कोटपूतली-बहरोड को गिरफ्तार किया है। सिविलियन आरोपी का सूरतगढ़ आर्मी कैंट के बाहर वर्दी का स्टोर है। 

जयपुर में अप्रूवड प्लॉट मात्र 7000/- प्रति वर्ग गज 9314188188

अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस इंटेलिजेंस संजय अग्रवाल ने बताया कि पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसियों द्वारा की जाने वाली जासूसी गतिविधियों पर राजस्थान इंटेलिजेंस द्वारा सतत निगरानी रखी जा रही है। संकलित विश्वस्त आसूचना से पाया गया कि सूरतगढ़ आर्मी कैंट के बाहर वर्दी स्टोर चलाने वाला आनंद राज नामक युवक सोशल मीडिया के माध्यम से पाकिस्तान गुप्तचर एजेंसी की तीन महिला हैंडलर्स के निरंतर संपर्क में है। 

Sukanya Samriddhi Yojana: ₹12,500 लगा भूल जाइए बेटी की शादी और पढ़ाई की टेंशन, कैसे जानिए ..

एडीजी अग्रवाल ने बताया कि आर्मी परिसर के पास काम करने एवं वर्दी स्टोर के माध्यम से आरोपी आनंद राज सैन्य कर्मियों के संपर्क में था। इस कारण सेना के संबंध में सूचनाए रखता था। इंटेलिजेंस जयपुर की टीम द्वारा आनंद राज की गतिविधियों पर गहन निगरानी रखी गई तो पाया कि यह आर्मी की सामरिक महत्व की सूचना एकत्रित कर सोशल मीडिया के माध्यम से पाकिस्तान गुप्तचर एजेंसी की तीन महिला हैंडलर्स को भेज रहा था।      

अग्रवाल ने बताया कि आनंद राज पिछले कुछ समय से वर्दी स्टोर का काम छोड़कर बहरोड़ क्षेत्र में एक फैक्ट्री में काम कर रहा था। इस दौरान भी वह पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसी की महिला हैंडलर से लगातार संपर्क में रहा तथा अपने स्रोतों से सेना की महत्वपूर्ण एवं गोपनीय जानकारी प्राप्त कर महिला पाक एजेंट को शेयर कर रहा था। गोपनीय सूचनाऍ पाक गुप्तचर एजेंसी को भेजने की एवज में इसने पैसों की मांग भी की।  

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसी सैन्य कर्मियों के साथ-साथ परिसर के आसपास काम करने वाले सिविलियन को भी निशाना बनाकर सेना के संबंध में गोपनीय जानकारी प्राप्त करने का प्रयास करती रहती है। इसके लिए मुख्य रूप से महिला हैंडलर्स द्वारा भारतीय मोबाइल नंबरों पर संचालित हो रहे सोशल मीडिया अकाउंट्स का उपयोग किया जाता है और सैन्य कर्मियों एवं सेना की जानकारी रखने वाले व्यक्तियों को हनी ट्रैप में फंसा कर उनसे सेना की महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त की जाती है जो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बेहद खतरनाक है।

एडीजी अग्रवाल ने बताया कि जासूस आनंद राज की गतिविधियां सन्दिग्ध पाए जाने पर इससे समस्त सुरक्षा एजेंसियों द्वारा संयुक्त पूछताछ कर तकनीकी आसूचना प्राप्त की गई। संयुक्त पूछताछ एवं इसके द्वारा प्रयुक्त मोबाइल फोन की तकनीकी विश्लेषण के बाद मिले साक्ष्य के आधार पर इसके विरुद्ध स्पेशल पुलिस स्टेशन जयपुर में शासकीय गुप्त बात अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया गया।

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर