Explore

Search
Close this search box.

Search

April 20, 2024 6:29 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

पाकिस्तान डायरी : पाक-अफगानिस्तान सीमा पर तनाव, सात पाकिस्तान सैनिक मारे गए

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

रिपोर्ट- सैयद हबीब

दिल्ली। पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा पर दोनों देशों के बीच तनाव और युद्ध की स्थित बनी हुई है। पाकिस्तान का आरोप है कि अफगानिस्तान की धरती से आतंकवाद का उपयोग हो रहा है। अफगानिस्तान तालिबान ने पाकिस्तान पर नागरिकों पर हमले का आरोप लगाया है। दरअसल पाकिस्तान ने अपने यहां रहने वाले अफगान नागरिकों अफगानिस्तान भेजने दिया था। इसके बाद से ही दोनों देशों के बीच स्थिति तनावपूर्ण चल रही है।

अफगानिस्तान द्वारा कथित आतंकी हमलों में पाकिस्तान के सात सैनिक मारे गए, जिनमें कैप्टन और कर्नल रैंक के अधिकारी भी शामिल थे। उधर, अफगानिस्तान में पाकिस्तान द्वारा किए गए हवाई हमले में कुछ नागिरकों की मौत की खबर भी सामने आई है। दोनों देशों के बीच स्थिति तनावपूर्ण होने के कारण अमेरिका को हस्तक्षेप करना पड़ रहा है। वाशिंगटन से खबर है कि संयुक्त राज्य अमेरिका के विदेश विभाग ने अफगानिस्तान में तालिबान सरकार से अपनी धरती से आतंकवादी हमलों को रोकने का आग्रह किया, साथ ही पाकिस्तान से आतंकवाद विरोधी अभियानों के दौरान नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को भी कहा है।

एक दिन पहले, पाकिस्तानी बलों ने 16 मार्च के हमले के बाद अफगान धरती से हमले शुरू करने वाले आतंकवादियों के खिलाफ अफगानिस्तान के अंदर सीमावर्ती क्षेत्रों में खुफिया अभियान चलाया था।

मीर अली क्षेत्र में हुए हमले में कम से कम सात पाकिस्तानी सैनिक व अधिकारी मारे गए थे। अमेरिका के विदेश विभाग के मुख्य उप प्रवक्ता वेदांत पटेल ने कहा, “हमें पाकिस्तान में हमले के दौरान जानमाल के नुकसान और अन्याय तथा अफगानिस्तान में हमले के दौरान नागरिक जीवन के नुकसान पर गहरा अफसोस है।”

उन्होंने कहा, “हम तालिबान से यह सुनिश्चित करने का आग्रह करते हैं कि अफगान धरती से आतंकवादी हमले शुरू नहीं किए जाएं। साथ ही पाकिस्तान से संयम बरतने और यह सुनिश्चित करने का आग्रह करते हैं कि उनके आतंकवाद विरोधी प्रयासों में नागरिकों को नुकसान न पहुंचे। और हम दोनों पक्षों से किसी भी मतभेद को दूर करने का आग्रह करते हैं।”

अफगान तालिबान ने दावा किया था कि पाकिस्तानी बलों द्वारा अफगानिस्तान के अंदर किए गए दो हवाई हमलों में युद्धग्रस्त देश में आठ लोग मारे गए थे। पटेल ने कहा कि वाशिंगटन यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि अफगानिस्तान फिर से “उन आतंकवादियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह न बने जो संयुक्त राज्य अमेरिका या हमारे सहयोगियों और सहयोगियों को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं”।

जब अफगानिस्तान में पाकिस्तानी हमलों पर अमेरिकी रुख के बारे में विस्तार से पूछा गया, तो प्रवक्ता ने कहा: “नागरिक जीवन का कोई भी नुकसान हमारे लिए परेशान करने वाला और हृदय विदारक है, और इसलिए हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि जब इनमें से कुछ ऑपरेशन किए जा रहे हों, तो हर संभव कदम उठाया जाए।”

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर