Explore

Search
Close this search box.

Search

March 1, 2024 9:27 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Gogamedi Murder Case में अब जगन गुर्जर की एंट्री, बड़ा धमाका कर दिया 11 लाख के इनामी डकैत ने

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case: श्री राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद अब अलग अलग गैंगस्टर्स और उनके परिवार से जुड़े लोगों के व्यू सामने आ रहे हैं। गैंगस्टर आनंदपाल सिंह की दखल की बात सामने आने के बाद उनकी बेटी चीनू ने दुबई से वीडियो जारी कर कहा है कि काकोसा यानी सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या में उसके परिवार के किसी सदस्य का हाथ नहीं है। इस मामले में अब नया मोड़ आया है। राजस्थान और एमपी की पुलिस के लिए किसी समय सबसे बड़ी चुनौती बने हुए डकैत जगन गुर्जर का वीडियो सामने आया है। वीडियो में जगन गुर्जर, सुखदेव सिंह के पक्ष में बोलता दिखाई दे रहा है। वह फिलहाल जमानत पर चल रहा है

वीडियो जारी कर ये सब कहा 11 लाख के इनामी रहे डकैत जगन गुर्जर ने
चंबल के सबसे खूंखार डकैत रहे जगन ने कहा कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड को लेकर राजपूत समाज के साथ हूं और मरने के लिए तैयार हूं, किसी भी जाति का गुंडा हो उससे मुकाबला करने के लिए तैयार हूं, सुखदेव सिंह गोगामेड़ी बड़ा भाई था और वह सर्व समाज का नेता था। ऐसे नेता की हत्या होना निंदनीय है। सुखदेव सिंह की वजह से जान बची थी, उसके लिए मैं मरने के लिए तैयार हूं। गद्दारों ने धोखे से मारा है, अगर मुकाबला करने की हिम्मत है तो धौलपुर में आकर टकराएं।

ताजा ख़बरों के लिए संजीवनी टुडे के व्हाट्सअप ग्रुप के लिए क्लिक करे 

पूर्व सीएम के महल को बम से उड़ाने की धमकी देकर चर्चा में आया था जगन गुर्जर
पूर्व कुख्यात डकैत जगन गुर्जर राजस्थान का खूंखार अपराधी रहा है। राजस्थान के अलावा एमपी में भी उसकी गैंग ने कई बड़ी वारदातें की हैं। चंबल के बीहड़ों में पुलिस को छकाने वाले डकैत ने एक बार तो पूर्व के महल को ही बम से उड़ाने की धमकी देकर पुलिस अधिकारियों को बड़ी चुनौती दे ड़ाली थी। उस समय पर जगन गुर्जर पर ग्यारह लाख का इनाम घोषित किया था। साल 2022 में बाड़ी विधानसभा क्षेत्र के विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा को भी अशोभनीय भाषा बोलकर जान से मारने की धमकी दी थी। उसके बाद पुलिस के दबाव को देखते हुए जगन गुर्जर ने 7 फरवरी 2022 की देर शाम को करौली पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया था। जगन के उत्पात को देखकर उसे अजमेर जेल शिफ्ट कर दिया गया था, लेकिन करीब चार महीने पहले जगन जमानत पर बाहर आ गया है।

सात साल तक आतंक मचा तीन स्टेट में जगन ने….
डकैत जगन गुर्जर ने अपनी गैंग के साथ करीब सात साल तक राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में जमकर आतंक मचाया था। हत्या, अपहरण और लूट को लेकर तीनों राज्यों में जगन गुर्जर का खौफ कायम हो गया था। डकैत जगन ने वर्ष 2001 में तत्कालीन एसपी बीजू जॉर्ज जोसफ के सामने पहली बार आत्म समर्पण किया था, इसके बाद जगन गुर्जर जमानत पर जेल से बाहर आ गया था और दोबारा अपना आतंक फैलाना शुरू कर दिया। जगन को पकड़ने के लिए पुलिस ने दबाव बढ़ा दिया। पुलिस से घबरा कर जगन गुर्जर ने 31 जनवरी 2009 को कैमरी गांव में राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। साल 2010 में उसकी बेटी की शादी थी, पुलिस कस्टडी में वह शादी में शामिल होने आया था और बाद में परिवार के कहने पर उसने अपराध से तौबा कर ली थी। लेकिन फिर जेल से जमानत पर आया और फिर अपराध करने लगा था।

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर