Explore

Search
Close this search box.

Search

February 25, 2024 5:03 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

‘मायावती पार्टी के नेताओं को देंगी दिशानिर्देश’, विधायक उमाशंकर सिंह ने विपक्षी गठबंधन पर दिया बयान ।

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

BSP called a meeting before the Lok Sabha elections MLA Umashankar Singh Mayawati will give guidelin- India TV Hindi

Image Source : PTI/WIKIPEDIA
लोकसभा चुनाव से पूर्व बसपा ने बुलाई बैठक

देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। कई राज्यों में बहुजन समाज पार्टी यानी बसपा ने भी अपने उम्मीदवारों को उतारा है। पांच राज्यों के चुनाव के बाद लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बसपा तैयारियों में जुटने जा रही है। दरअसल आज बसपा की तरफ से अहम बैठक बुलाई गई है। बसपा विधायक उमा शंकर सिंह ने इस बाबत कहा कि लोकसभा चनाव 2024 में बसपा मजबूती से चुनाव लड़े, इसे लोकर बहन जी (मायावती) दिशानिर्देश देंगी। जातीय जनगणना को लेकर उन्होंने कहा कि पूरे देश में एक साथ जातीय जनगणना होनी चाहिए। हम इसके पक्ष में हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इसका इनिशिएटिव लेना चाहिए। ये राज्यों के स्तर पर नहीं बल्कि केंद्र के स्तर पर होना चाहिए।

मायावती पार्टी के नेताओं को देंगी दिशानिर्देश

विपक्षी गठबंधन I.N.D.I.A को लेकर उमाशंकर सिंह ने कहा कि आप लोग देख ही रहे हैं कि गठबंधन का क्या हाल है। सभी लोग आपस में ही लड़ रहे हैं। गठबंधन को लेकर जो भी निर्णय होगा वो राष्ट्रीय नेतृत्व द्वारा तय किया जाएगा। केशव प्रसाद मौर्या के बयान पर उमाशंकर सिंह ने कहा कि अगर वो इसके पक्ष में हैं तो अब तक जातीय जनगणना क्यों नहीं कराई। 7 साल से उनकी सरकार है, अगर वो इसके पक्ष में हैं तो अपने राष्ट्रीय नेतृ्त्व से बात करें। तेलंगाना चुनाव को लेकर उमाशंकर सिंह ने कहा कि बहनजी ने वहां बड़ी-बड़ी रैलियां की, जिसमें बड़ा जनसैलाब नजर आया और हमें उम्मीद है कि हम वहां से 3-4 सीट जीतेंगे और इसलिए हम राष्ट्रीय पार्टी हैं। 

बसपा विधायक ने कही ये बात

इससे पूर्व एक बार प्रेस से बात करते हुए उमाशंकर सिंह ने आगामी लोकसभा चुनाव में बसपा की कांग्रेस के साथ गठबंधन की अटकलों को लेकर कहा था कि इन दोनों दलों के बीच तालमेल की कोई संभावना नहीं है। बसपा का रुख पहले ही स्पष्ट है कि हम अपने बलबूते चुनाव लड़ेंगे। उमाशंकर सिंह ने कहा, I.N.D.I.A गठबंधन में शामिल कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के बीच हाल में उपजी तल्खी को देखकर समझ आता है कि जब हमारे अंदर किसी प्रकार का लालाच आ जाता है तो वह रिश्ता निश्चित रूप से ही टिक नहीं पाता है। बता दें कि विपक्षी गठबंधन में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच सीट बंटवारे को लेकर विवाद देखने को मिल रहा है। 

Latest India News

Source link

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर