Explore

Search
Close this search box.

Search

April 21, 2024 7:37 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Lok Sabha Election: BJP लोकसभा चुनावों में पंजाब में अकेले उतरेगी

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

भारतीय जनता पार्टी ने ऐलान किया है कि वह आगामी लोकसभा चुनावों में पंजाब में अकेले उतरेगी. शिरोमणि अकाली दल से गठबंधन को लेकर उसकी बात नहीं बनी है. इस बारे में पंजाब भाजपा अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने एक वीडियो संदेश के माध्यम से जानकारी दी. जाखड़ ने कहा कि यह फैसला राज्य में लोगों, पार्टी कार्यकर्ताओं की राय के आधार पर लिया गया है. पंजाब की 13 लोकसभा सीटों के लिए 1 जून को मतदान होगा.

जयपुर में अप्रूवड प्लॉट मात्र 7000/- प्रति वर्ग गज 9314188188

सूत्रों की मानें तो भाजपा और अकाली दल के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर मतभेद था, इस कारण दोनों दलों के बीच गठबंधन पर बात नहीं बन सकी. अकाली दल ने 9 सीटों पर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव रखा था और शेष चार सीटें भाजपा को देने की पेशकश की थी. हालांकि, भाजपा ने पीएम मोदी की व्यापक लोकप्रियता को दर्शाते हुए बड़ी हिस्सेदारी मांगी थी.

बता दें कि शिअद ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के हिस्से के रूप में पंजाब में 2019 का लोकसभा चुनाव भाजपा के साथ मिलकर लड़ा था. लेकिन दोनों दल बहुत खास परिणाम हासिल करने में असमर्थ रहे थे. कांग्रेस ने 13 में से 8 सीटें जीती थीं. भाजपा के खाते गुरुदासपुर और होशियारपुर सीटें गई थीं. अकाली दल ने फिरोजपुर और बठिंडा सीटें जीती थीं. आम आदमी पार्टी ने संगरूर सीट पर जीत हासिल की थी.

शिरोमणि अकाली दल ने केंद्र द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में सितंबर 2020 में भाजपा के साथ अपना नाता तोड़ लिया था. किसानों के व्यापक विरोध के बाद मोदी सरकार ने तीनों कानून वापस ले लिए थे. सुनील जाखड़ ने कहा कि पंजाब की जवानी, किसानी, व्यापारी, मजदूरों और सबके भविष्य के लिए भाजपा ने राज्य में अकेले चुनाव लड़ने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल में पंजाब में जो काम हुए हैं, वो किसी और ने नहीं किए.

एमएसपी पर कानून बनाने की मांग को लेकर किसान एक बार फिर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इस पर सुनील जाखड़ ने कहा कि केंद्र सरकार ने जिन फसलों पर एमएसपी घोषित की है, वे सभी एमएसपी पर खरीदी जा रही हैं और पैसा कुछ ही हफ्तों में किसानों के खातों में पहुंच रहा है. पंजाब बीजेपी प्रमुख ने आगे कहा कि करतारपुर कॉरिडोर, जिसके लिए लोग दशकों से अनुरोध कर रहे थे, वह भी वाहेगुरु के आशीर्वाद से पीएम मोदी के कारण ही संभव हुआ.

करतारपुर कॉरिडोर, भारतीय सिखों के लिए करतारपुर साहिब गुरुद्वारे के वीजा-मुक्त ‘दर्शन’ की सुविधा प्रदान करता है, जो सीमा पार पाकिस्तान में स्थित है. सुनील जाखड़ ने कहा कि आगे भी पंजाब के सुनहरे भविष्य के लिए यह फैसला हमने किया है. मुझे पूरा यकीन है कि पंजाब के लोग आने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को वोट कर देश की उन्नति में अपना समर्थन देगें.

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर