Explore

Search
Close this search box.

Search

May 28, 2024 12:21 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

सकट चौथ माता मंदिर के लिए निकाली कलश यात्रा

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

सकट । ग्रामीणों के सहयोग से गुरुवार को कलश यात्रा के साथ पंचम शत् चण्डी महायज्ञ एवं श्री राम कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन विधिवत पूजा अर्चना के साथ शुरू हो गया। कलश यात्रा प्रातः बजे शुभ मुहूर्त में सकट गांव के ख़ाक नाथ जी महाराज मंदिर से ध्वज व कलश पूजन के साथ विधिवत रवाना हुई। जो गांव के थाई वाले हनुमान जी, रघुनाथ जी महाराज, चतुर्भुज नाथ महाराज मंदिर रघुनाथ जी महाराज मंदिर की परिक्रमा करते हुए कार्यक्रम स्थल चौथ माता मंदिर पहुंचकर संपन्न हुई। कलश यात्रा का ग्रामीणों ने जगह-जगह पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। कलश यात्रा के दौरान पुरुष श्रद्धालु कलश यात्रा में आगे आगे अपने हाथों में ध्वज पताका लेकर भगवान के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे। वही पीछे -पीछे नए परिधानों में सजी-धजी महिलाएं अपने सिर पर मंगल कलश धारण कर भजन गाती हुई चल रही थी। कलश यात्रा में शामिल श्रद्धालुओ की सुविधा को ध्यान रखते हुए गर्म सड़क की तप्त को ठंडा करने के लिए पानी के टक्करों से सड़क पर छिड़काव किया गया। साथ ही ग्रामीणों ने कई जगह प्याऊ लगाकर श्रद्धालु को शीतल जल एवं ठंडाई पिलाईं, कलश यात्रा के दौरान कई महिला श्रद्धालुओं ने बैंड बाजों की धुन पर डांस किया। सरपंच प्रतिनिधि फूलचंद सैनी ने बताया कि यहां कथा प्रतिदिन प्रातः 11से शाम 4 बजे तक होगी। वही हवन यज्ञ का कार्यक्रम प्रतिदिन प्रातः 7 से 11 बजे एवं सायं 4 से 6 बजे तक होगा वहीं प्रति दिन रात 9 बजे से 1बजे तक श्री राम चरित मानस कला मंडल सकट के तत्वाधान में रामलीला का मंचन किया जाएगा। कार्यक्रम के दौरान राम कथा का वाचन मथुरा वृन्दावन की कथा व्यास आरती किशोरी के द्वारा किया जाएगा वहीं पंचम शत् चण्डी महायज्ञ का कार्यक्रम नीमला गांव के यज्ञाचार्य पं विष्णु दत्त शास्त्री के द्वारा विधिवत वैदिक मंत्रोच्चारणों के साथ करवाया जावेगा। वही चौथ माता का दो दिवसीय वार्षिक मेला 27 अप्रैल से ध्वज पूजन के साथ विधिवत शुरू होगा। मेले के दौरान 26 अप्रैल को माता का रात्रि जागरण आयोजित होगा। जागरण में लखन गामा भरतपुर, मोहन यदुवंशी अलवर, पागल बाबा यशोदा नंदन महाराज वृंदावन एवं ममता सैनी राजपूर बड़ा आदि कलाकार भजनों की प्रस्तुतियां पेश करेंगे मेले का समापन 28 अप्रैल को कुश्ती दंगल के साथ होगा वहीं यज्ञ एवं कथा का समापन पूर्णाहुति व भंडारे के साथ 3 मई को किया जाएगा। कलश यात्रा के मौके पर महन्त देवदास महाराज, जग्गू दास महाराज, जगत दास सहित अन्य ग्रामीण मौजूद रहे।

रिपोर्टर Rajkuma सिंघल
Author: रिपोर्टर Rajkuma सिंघल

राजस्थान

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर