Explore

Search
Close this search box.

Search

June 24, 2024 10:00 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

जना स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड का आईपीओ 7 फरवरी को खुलेगा,प्राइस बैंड ₹393 से ₹414 प्रति इक्विटी शेयर निर्धारित

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

जयपुर। जना स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड (‘बैंक’ या ‘जना एसएफबी’), बुधवार, 7 फरवरी, 2024 को ₹10 अंकित मूल्य वाले इक्विटी शेयरों के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम के लिए बोलियां खोलेगा।

एंकर निवेशक बोली की तारीख मंगलवार, 6 फरवरी, 2024 होगी। ऑफर सदस्यता के लिए बुधवार, 7 फरवरी, 2024 को खुलेगा और शुक्रवार, 9 फरवरी, 2024 को बंद होगा।
ऑफर का प्राइस बैंड ₹393 से ₹414 प्रति इक्विटी शेयर तय किया गया है। बोली न्यूनतम 36 इक्विटी शेयरों के लिए और उसके बाद 36 इक्विटी शेयरों के गुणकों में लगाई जा सकती है।
बैंक आरंभिक सार्वजनिक निर्गम के माध्यम से धन जुटाने की योजना बना रहा है, जिसमें कुल मिलाकर ₹4,620.00 मिलियन के इक्विटी शेयरों का फ्रेश इश्यू शामिल है। यह संख्या प्री-आईपीओ प्लेसमेंट और बिक्री की पेशकश के लिए समायोजन के बाद सेलिंग शेयरहोल्डर्स (‘बिक्री के लिए प्रस्ताव’) (एक साथ, ‘प्रस्ताव’) द्वारा कुल मिलाकर 2,608,629 इक्विटी शेयरों की बिक्री के अनुसार होगी। ऑफर में पात्र कर्मचारियों (‘कर्मचारी आरक्षण भाग’) द्वारा सदस्यता के लिए ₹135.00 मिलियन तक का आरक्षण शामिल है।
बैंक ने अपनी टियर-टू पूंजी और सीआरएआर में सुधार के लिए, बैंक की भविष्य की पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए बैंक के टियर-1 पूंजी आधार को बढ़ाने के लिए ताजा निर्गम से शुद्ध आय का उपयोग करने का प्रस्ताव रखा है। इसके अलावा, फ्रेश इश्यू से प्राप्त आय का उपयोग ऑफर से संबंधित खर्चों को पूरा करने के लिए भी किया जाएगा।
इक्विटी शेयरों की पेशकश 1 फरवरी, 2024 के रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (‘आरएचपी’) के माध्यम से की जा रही है, जो बेंगलुरु में कंपनी रजिस्ट्रार, कर्नाटक (‘आरओसी’) के पास दायर किया गया है। रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के माध्यम से जारी किए गए इक्विटी शेयरों को बीएसई लिमिटेड (‘बीएसई’) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (‘एनएसई’) जैसे स्टॉक एक्सचेंजों पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है। ऑफर के प्रयोजनों के लिए, नामित स्टॉक एक्सचेंज बीएसई होगा।
एक्सिस कैपिटल लिमिटेड, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लिमिटेड और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड इस ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं।
इस प्रेस विज्ञप्ति में उल्लिखित सभी बड़े अक्षरों वाले शब्दों, जिन्हें परिभाषित नहीं किया गया है, का वही अर्थ होगा जो आरएचपी में निर्धारित है।
यह पेशकश सेबी आईसीडीआर विनियमों के विनियम 31 के साथ पढ़े गए संशोधित (‘एससीआरआर’), प्रतिभूति अनुबंध (विनियमन) नियम, 1957 के नियम 19(2)(बी) के संदर्भ में, बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के माध्यम से की जा रही है। सेबी आईसीडीआर विनियमों के विनियम 6(1) के अनुपालन में, जिसमें नेट ऑफर का 50 प्रतिशत से अधिक योग्य संस्थागत खरीदारों (‘क्यूआईबी’) (और ऐसा हिस्सा, ‘क्यूआईबी’) को आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध नहीं होगा, बशर्ते कि बैंक, बीआरएलएम के परामर्श से, सेबी आईसीडीआर विनियम (‘एंकर निवेशक भाग’) के अनुसार विवेकाधीन आधार पर एंकर निवेशकों को क्यूआईबी भाग का 60 प्रतिशत तक आवंटित कर सकता है। इसमें से एक तिहाई घरेलू म्युचुअल फंड के लिए आरक्षित किया जाएगा, बशर्ते घरेलू म्युचुअल फंड से एंकर निवेशक आवंटन मूल्य पर या उससे ऊपर वैध बोलियां प्राप्त हों। एंकर निवेशक हिस्से में अंडर-सब्सक्रिप्शन, या गैर-आवंटन की स्थिति में, शेष इक्विटी शेयरों को नेट क्यूआईबी हिस्से में जोड़ा जाएगा।
इसके अलावा, नेट क्यूआईबी हिस्से का 5 प्रतिशत केवल म्यूचुअल फंड के लिए आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, और नेट क्यूआईबी का शेष हिस्सा म्यूचुअल फंड सहित सभी क्यूआईबी के लिए आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होगा। ऐसा तब होगा जबकि वैध बोलियाँ प्रस्ताव मूल्य पर या उससे ऊपर प्राप्त हो रही हैं।
इसके अलावा, नेट ऑफर का कम से कम 15 प्रतिशत गैर-संस्थागत निवेशकों को आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, जिसका (ए) एक तिहाई हिस्सा 0.20 मिलियन से अधिक और 1 मिलियन तक के आवेदन आकार वाले बोलीदाताओं के लिए आरक्षित होगा; और (बी) दो-तिहाई हिस्सा 1 मिलियन से अधिक आवेदन आकार वाले बोलीदाताओं के लिए आरक्षित होगा, बशर्ते कि ऐसी उप-श्रेणियों में से किसी में भी सदस्यता रहित हिस्से को गैर-उप-श्रेणी की अन्य उप-श्रेणी में बोलीदाताओं को आवंटित किया जा सके। संस्थागत बोलीदाताओं को सेबी आईसीडीआर विनियमों के अनुसार, ऑफर मूल्य से ऊपर प्राप्त होने वाली वैध बोलियों के अधीन और नेट ऑफर का कम से कम 35 प्रतिशत सेबी आईसीडीआर विनियमों के अनुसार खुदरा व्यक्तिगत बोलीदाताओं को आवंटन के लिए उपलब्ध होगा। ऐसा तब होगा जब बिड्स ऑफर मूल्य पर या उससे ऊपर प्राप्त की जा रही हैं।
एंकर निवेशकों को छोड़कर सभी संभावित बोलीदाताओं को अनिवार्य रूप से अपने संबंधित एएसबीए खातों और यूपीआई आईडी (यूपीआई का उपयोग करने वाले यूपीआई बोलीदाताओं के मामले में) का विवरण प्रदान करके ब्लॉक राशि (‘एएसबीए’) प्रक्रिया द्वारा समर्थित एप्लिकेशन का उपयोग करना आवश्यक है। ऐसी स्थिति में संबंधित बोली राशि एससीएसबी द्वारा या ऑफर में भाग लेने के लिए लागू यूपीआई मैकेनिज्म के तहत ब्लॉक कर दी जाएगी।

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर