Explore

Search
Close this search box.

Search

April 20, 2024 6:57 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

बसवा उपखण्ड मे पौषाहार खिलाकर किया जा रहा है स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

कीट से खराब हुए गेहूं के आटे से बन रहा पौषाहार 

 

बसवा। सरकार जहां स्कूलों में छात्र – छात्राओं की संख्या में हिजाफा करने ओर सरकारी शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकारी विद्यालयों में दिन प्रतिदिन नई-2 सुविधाओं को बढ़ावा देने में लगी है वहीं दूसरी ओर बसवा उपखंड मुख्यालय पर स्थित राजकीय महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल में बनने वाले पौषाहार में गुणवत्ता को लेकर लापरवाही बरतने का मामला सामने आया है । कुछ छात्रों द्वारा पिछले कुछ दिनों से पौषाहार में गुणवत्ता की मीडिया से लगातार शिकायत की जा रही थी । ऐसे में पत्रकार द्वारा मामले की असलियत जानने के लिए मौके पर पहुंचकर मामले की पड़ताल की तो छात्रों द्वारा की जा रही शिकायत को सही पाया गया । मामले को लेकर जब विधालय पहुंचे तो वहां पहले से ही पौषाहार का गेहूं साफ कर रही महिलाओं के सामने खुले गेहूं के कट्टे को देखा तो सोचने को मजबूर हो गए । गेहूं में कीट ( ईली ) लगी थी ओर गेहूं के दानों में छेद होकर गेहूं खराब हो रहा था । इसी गेहूं को पिसवाकर विधालय प्रशासन द्वारा छात्रों को पौषाहार खिलाया जा रहा है। मामले को लेकर जब मौके पर मौजूद पौषाहार सह प्रभारी कैलाश सैनी ने कहा कि हमने ठेकेदार को शिकायत की थी लेकिन कुछ नहीं हुआ ऐसे में हमको इसी पौषाहार को बच्चों को खिलाने के निर्देश प्राप्त है ।

सह प्रभारी से मिले इस तरह के जवाब को लेकर संबंधित अधिकारियों से बात की गई तो मामला उनके संज्ञान में नहीं होने की बात सामने आई। सहप्रभारी से जब सवाददाता द्वारा प्रश्न किया गया कि इस अनाज से बनी रोटियां आप या आपके बच्चे खा सकते हैं क्या ? इस पर टालमटोल कर अपने आप को बचाते रहे ।

  • मामले मे इनका कहना है
  •    मामला हमारे संज्ञान में नहीं आया अब मीडिया से यह मामला सामने आया है जिम्मेदार कर्मचारियों को नोटिस जारी किया जाएगा ओर मामले में जांच कर अतिशीघ्र बच्चों को पौष्टिक पौषाहार उपलब्ध कराया जाएगा।

– बनवारी लाल मीणा (एसीबीईओ बसवा)

 

  • हमको आगे से पैकिंग में माल मिलता है खोलकर तो देखते नहीं है।हालांकि माल की सप्लाई को करीब 20 से 25 दिन हो चुके हैं दूरभाष पर शिकायत भी मिली थी। पर इसको रोज तो बदल नहीं सकते। अब आप ने बताया है ।तो आगे अधिकारियों को शिकायत कर दूंगा

पौषाहार सप्लायर   

 

  • जिस दिन माल की सप्लाई हुई थी पैकिंग होने के चलते हम देख नहीं पाए थे लेकिन बाद में देखा तो हमने दूरभाष पर इसकी शिकायत की थी सप्लायर से लेकिन कुछ नहीं हुआ। अब हमें इसी पौषाहार को खिलाने के निर्देश प्राप्त है ।

कैलाश सैनी –  पौसाहर सह प्रभारी 

 

  • आज तो मैं वीसी में दौसा हूं वर्किंग डे में मामले को लेकर दिखवाता हूं और जांच करवाता हूं । अगर ऐसा है और छात्रों को इस तरह से पोषाहार दिया जा रहा है तो जरूर जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई को लिखा जाएगा

– राजेन्द्र कुमार पीईओ बसवा

विजेन्द्र कुमार सैनी
Author: विजेन्द्र कुमार सैनी

बसवा संपर्क सूत्र 8209111390

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर