Explore

Search
Close this search box.

Search

May 18, 2024 8:29 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Delhi Liquor Scam Case: CM अरविंद Kejriwal को खाने में ऐसा क्या मिला… कोर्ट से तिहाड़ तक मचा बवाल,

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

नई दिल्ली: दिल्ली शराब घोटाला केस में अरविंद केजरीवाल को लेकर ईडी ने राउज एवेन्यू कोर्ट में ऐसा खुलासा किया कि अदालत से लेकर तिहाड़ जेल तक चर्चा होने लगी. ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय ने अदालत से बताया कि अरविंद केजरीवाल का शुगर लेवल बढ़ने की वजह उनके घर का खाना है. ईडी ने दावा किया कि अरविंद केजरीवाल तिहाड़ जेल में न केवल चीनी वाली चाय पी रहे हैं, बल्कि आम, मिठाई और मीठी चीजें ज्यादा खा रहे हैं, जिससे उनका शुगर बढ़ा है. ईडी के इस दावे को ईडी ने झूठा करार दिया है और दिल्ली की कैबिनेट मंत्री आतिशी ने दावा किया कि अरविंद केजरीवाल को जेल में मिल रहे घर के भोजन को रोक कर और उन्हें इंसुलिन न देकर उनकी जान लेने का ‘बड़ा षडयंत्र’ रचा जा रहा है.

Approved Plot in Jaipur @ 3.50 Lakh call 9314188188

दरअसल, ईडी ने गुरुवार को अदालत के समक्ष यह दावा किया कि आबकारी नीति घोटाला मामले में गिरफ्तार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ‘टाइप 2’ मधुमेह होने के बावजूद हर दिन आम और मिठाई जैसे उच्च शर्करा वाले खाद्य पदार्थ खा रहे हैं ताकि चिकित्सा आधार पर उन्हें जमानत मिल सके. ईडी ने कहा, ‘अरविंद केजरीवाल का शुगर बढ़ने की वजह उनका घर का खाना है. उन्हें घर से आलू पूड़ी, आम, मिठाई, चीनी की चाय और मीठी चीजें खाने के लिए दी जा रही है, जिसकी वजह उनका शुगर बढ़ा है और यह मेडिकल के आधार पर जमानत अर्जी दाखिल करने का आधार बनाया जा रहा है.’

ईडी ने जेल से मांगा डाइट चार्ट
ईडी ने कोर्ट को आगे बताया कि हमने अरविंद केजरीवाल के शुगर लेवल को लेकर जेल अथॉरिटी से रिपोर्ट मांगी थी और अरविंद केजरीवाल का डाइट चार्ट भी मांगा था. सीबीआई यानी केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो और ईडी मामलों की विशेष न्यायाधीश कावेरी बावेजा के समक्ष प्रवर्तन निदेशालय ने यह दावा किया. इसके बाद न्यायमूर्ति बावेजा ने तिहाड़ जेल के अधिकारियों को अरविंद केजरीवाल के डाइट चार्ट यानी आहार चार्ट सहित मामले में एक रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया.

पश्चिम बंगाल: राम नवमी पर बवाल, शोभायात्रा के दौरान पत्थरबाजी और झड़प, BJP ने Mamta को घेरा

कोर्ट ने क्या निर्देश दिया?
इस बीच अरविंद केजरीवाल ने मधुमेह के स्तर में उतार-चढ़ाव के कारण वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अपने चिकित्सक से परामर्श करने की अनुमति मांगने के लिए अदालत का रुख किया है. न्यायाधीश ने संबंधित अधिकारियों को आज यानी शुक्रवार तक रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया. अदालत आज यानी शुक्रवार को इस मामले पर फिर से सुनवाई कर सकती है. ईडी ने दावा किया कि अरविंद केजरीवाल चिकित्सा आधार पर जमानत लेने या अस्पताल में भर्ती होने के लिए ऐसे खाद्य पदार्थों को खा रहे हैं.

तिहाड़ जेल में अरविंद केजरीवाल क्या-क्या खा रहे?
ईडी ने अदालत से कहा, ‘टाइप 2 मधुमेह के मरीज होने के बावजूद अरविंद केजरीवाल नियमित रूप से चीनी वाली चाय, आम, केला, मिठाई (1 या 2 टुकड़े), पूड़ी, आलू की सब्जी आदि जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन कर रहे हैं.’

आम आदमी पार्टी ने लगाया यह आरोप
वहीं, दिल्ली की कैबिनेट मंत्री आतिशी ने दावा किया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को जेल में मिल रहे घर के भोजन को रोककर और उन्हें इंसुलिन न देकर उनकी जान लेने का ‘बड़ा षडयंत्र’ रचा जा रहा है. केजरीवाल को दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार किया है. हालांकि जेल अधिकारियों ने आतिशी के इस आरोप का खंडन किया है. आतिशी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इंसुलिन के लिए अरविंद के अनुरोध को तिहाड़ जेल प्रशासन ने अस्वीकार कर दिया है और उनके डॉक्टर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की व्यवस्था करने के प्रयासों को ईडी और जेल अधिकारियों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

आतिशी के आरोप क्या बोला तिहाड़ जेल प्रशासन?
आतिशी द्वारा किए गए दावों का जवाब देते हुए तिहाड़ जेल प्रशासन ने कहा कि उन्होंने अरविंद केजरीवाल के स्वास्थ्य के बारे में जो भी कहा है, वह गलत है. जेल अधिकारियों ने कहा कि उनका ‘फास्टिंग शुगर लेवल’ (खाली पेट रक्त में शर्करा का स्तर) ठीक है और यह कभी 300 एमजी/डीएल तक नहीं पहुंचा. एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि अदालत के आदेश के मुताबिक, उन्हें घर का बना खाना और दवाइयां दी गई हैं. उनके मुताबिक, जेल में दो डॉक्टर उनके स्वास्थ्य पर नजर रख रहे हैं और उनकी देखभाल कर रहे हैं. तिहाड़ जेल में मधुमेह की समस्या से पीड़ित 250 मरीज हैं, जिनमें केजरीवाल भी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि इन सभी की देखभाल जेलों में डॉक्टरों द्वारा की जाती है.

एलजी ने लिया यह एक्शन
दिल्ली के उपराज्यपाल वी. के. सक्सेना ने पुलिस महानिदेशक (कारागार) को 24 घंटे के भीतर आम आदमी पार्टी (आप) के उस दावे पर रिपोर्ट देने को कहा है, जिसके मुताबिक मुख्यमंत्री केजरीवाल को तिहाड़ जेल में इंसुलिन नहीं दी जा रही. उपराज्यपाल का यह आदेश दिल्ली की कैबिनेट मंत्री आतिशी के इस दावे के बाद आया है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को जेल में घर का बना खाना और इंसुलिन न देकर जान से मारने की साजिश रची गई है. हालांकि, जेल अधिकारियों ने आतिशी के दावे का खंडन किया है. अरविंद केजरीवाल को दिल्ली आबकारी नीति ‘घोटाले’ से जुड़े धनशोधन के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने 21 मार्च को गिरफ्तार किया था और इस समय वह न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल में हैं। आबकारी नीति निरस्त हो चुकी है.

 

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर