Explore

Search
Close this search box.

Search

June 20, 2024 5:21 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Delhi News: तीनों दोस्त थे, पेशाब करने रुके और दो ने नहर में एसीपी के बेटे लक्ष्य चौहान को दे दिया धक्का, एसीपी के बेटे को मारने का लोन और मैरिज कनेक्शन

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस के आउटर नॉर्थ जिले में तैनात एसीपी के बेटे लक्ष्य चौहान के गुमशुदगी के मामले में नया मोड़ आया है। हाल ही में पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी अभिषेक को गिरफ्तार किया है। जिसने खुलासा किया कि एसीपी के बेटे लक्ष्य चौहान को उसके दोस्तों ने ही कथित तौर पर पानीपत की नहर में धक्का देकर मार दिया। एसीपी के बेटे को खोज रही पुलिस ने शुक्रवार को एफआईआर में हत्या की धारा जोड़ दी है।

कैसे बनाया प्लान

अभिषेक ने बताया कि लक्ष्य ने उससे कुछ पैसे उधार लिए थे जो वो वापस नहीं दे रहा था। परेशान होकर उसने अपने दोस्त विकास को इस बारे में बताया। जिसके बाद दोनों ने मिलकर लक्ष्य की हत्या करने और शव को नहर में फेंकने का प्लान बनाया। पुलिस अभी तक अभिषेक को ही गिरफ्तार कर पाई है। अभी इस केस के मुख्य आरोपी को पकड़ना बाकी है।

शादी से वापस आते वक्त दिया प्लान को अंजाम

लक्ष्य की हत्या का प्लान बनाकर सबसे पहले अभिषेक ने 22 जनवरी को 3.30 मिनट पर मुकरबा चौक पर पहुंचा। वहां से वो लक्ष्य के साथ शादी के लिए निकल गया। रास्ते में ही अभिषेक ने विकास को भी साथ ले लिया। तीनों भिवानी हरियाणा में शादी अटेंड करने पहुंच गए। वहां से लौटते वक्त तीनों पानीपत नहर के पास पेशाब करने के लिए गाड़ी से उतरे। उसके बाद जब लक्ष्य नहर के पास खड़ा था तो उस वक्त उन दोनों ने मिलकर उसे नहर में धक्का दे दिया। लक्ष्य की हत्या के बाद दोनों वहां से भागकर वापस आ गए। हत्या के बाद विकास नरेला छोड़कर भाग गया है। पुलिस उसकी तलाश में छापेमारी कर रही है।

इन धाराओं के आधार पर गिरफ्तार हुआ अभिषेक

पुलिस ने अभिषेक धारा 203 , 202 आईपीसी के तहत जुटाए गए सबूतों के आधार पर गिरफ्तार किया है। पुलिस अब केस को हत्या के एंगल से देख रही है और लक्ष्य के शव को खोज रही हैं। हालांकि अभी तक पुलिस को एसीपी के बेटे का शव नहीं मिला है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

कार को कबाड़ में बेचने का था प्लान

पूछताछ में अभिषेक ने पुलिस को बताया कि वो कार को कबाड़ में बेचना चाहते थे लेकिन प्लान से पहले ही उसे पुलिस ने पकड़ लिया। विकास से पहचान को लेकर अभिषेक ने बताया कि एक बार अभिषेक का पत्नी संग विवाद हो गया था और मामला कोर्ट तक पहुंच गया था। इसी दौरान वकील से बात करते हुए उसकी पहचान विकास से हुई थी। बता दें कि पुलिस को लक्ष्य के मोबाइल की आखिरी लोकेशन पानीपत में मिली थी। जिसके आधार पर वो नहर में शव को तलाश रही है।

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर