Explore

Search
Close this search box.

Search

May 28, 2024 12:50 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

आज से चैत्र Navratri की शुरूआत, माता रानी के जयकारों से गूंज रहे राजस्थान के मंदिर

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

Jaipur News: शक्ति स्वरूपा देवी की आराधना का पर्व चैत्र नवरात्रि आज से शुरू हो रही है. अभिजीत मुहूर्त में मंदिरों से लेकर घरों में घटस्थापना की जा रही है. नवरात्रि (Navratri 2021) के नौ दिन माता के जयकारों से गुंजायमान रहेंगे. सुबह से मंदिरों से लेकर घरों तक भक्त भक्ति में लीन नजर आए.

जगत जननी मां भगवती की अराधना का महापर्व चैत्र नवरात्रि (Navratri Puja) का शुभारंभ आज से शुरू हो गया है. शक्ति और भक्ति के इस पर्व में सभी लोग श्रद्धा और यथा शक्ति के अनुसार मां भगवती की आराधना करते हैं. नवरात्रि का पहला दिन मां दुर्गा के शैलपुत्री स्वरूप को समर्पित होता है. हिमालय की पुत्री होने के कारण इन्हें प्रकृति स्वरूपा भी कहा जाता है.

Approved Plot in Jaipur @ 3.50 Lakh call 9314188188

अभिजीत मुहूर्त में घरों से लेकर मंदिरों तक घटस्थापना हुई.  इस बार माता रानी का घोड़े पर आगमन होने जा रहा है. राजधानी में राजा-महाराजाओं ने नगर की सभी दिशाओं में दुश्मनों का प्रवेश रोकने के लिए स्थापित किए दुर्गा माता के मंदिर अपनी विशेष पहचान और महत्व रखते हैं.

बहरहाल, मान्यता है कि कलश स्थापना से मां अन्नपूर्णा प्रसन्न होती हैं और घर को खुशियों, धन-धान्य व सुख-समृद्धि से भर देती हैं. धर्मशास्त्रों के अनुसार, कलश सुख-समृद्धि, वैभव और मंगल कामनाओं का प्रतीक होता है. माना जाता है कि मां शैलपुत्री सुख-समृद्धि की दाता होती हैं. नवरात्रि के पहले दिन इनकी पूजा-अर्चना करने से जीवन में सुख-समृद्धि की प्रप्ति होती है. शैलपुत्री की आराधना करने से जीवन में स्थिरता आती है.

रोटारैक्ट क्लब ऑफ इंदौर के यंग लीडर्स ने पद्मश्री जनक पलटा मगिलिगन से सस्टेनेबल लिविंग सीखी

मंदिरों में भव्य तैयारियां 
आज से चैत्र नवरात्रि की शुरुआत हो गई है. सुबह 7. 32 बजे से घर-घर घट स्थापना शुरू हो गई. आमेर की शिला माता मंदिर से लेकर राजा पार्क के पंचवटी सर्किल के वैष्णों देवी मंदिर मैं विशेष व्यवस्था की गई है. शुभ मुहूर्त अवधि  50 मिनट रहेगी. दोपहर 12:04 से लेकर 12:54 तक घट स्थापना का मुहूर्त है. नवरात्रि स्थापना के दिन अमृत सिद्धि, स्वार्थ सिद्धि और कुमार योग का अद्भुत संयोग बन रहा है.

10 अप्रैल को राजयोग और सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है. 11 अप्रैल को रवि योग रहेगा, 12 अप्रैल को कुमार योग, 13, 14 अप्रैल को रवि योग,  15 और 16 अप्रैल की रात को सर्वार्थ सिद्धि योग, 17 अप्रैल रामनवमी के दिन अभिजीत मुहूर्त होगा. दुर्गा माता अश्व पर सवार होकर आएंगी.

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर