Explore

Search
Close this search box.

Search

February 25, 2024 4:16 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Rajasthan में बीजेपी ने फिर चौंकाया, चुनाव से पहले ही पार्टी कैंडिडेट को बना दिया मंत्री, कांग्रेस ने फैसले पर उठाए सवाल

tt
WhatsApp
Facebook
Twitter
Email
जयपुर : राजस्थान में नई कैबिनेट को लेकर सस्पेंस से पर्दा उठ चुका है। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने शनिवार को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए इसमें 22 और मिनिस्टर शामिल किए। इनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ और बीजेपी के वरिष्ठ नेता किरोड़ी लाल मीणा शामिल हैं। 22 दिग्गजों में से 17 ऐसे हैं जो पहली बार मंत्री बने हैं। इस कैबिनेट विस्तार में बीजेपी ने एक पार्टी उम्मीदवार को शपथ दिलाकर सभी को चौंका दिया। उन्हें राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में कैबिनेट में शामिल किया गया है।
Read More: कुमाता! फोन पर कर रही थी बात, मासूम के रोने से डिस्टर्ब हुई तो कर दी हत्या और बोली…

हम बात कर रहे सुरेंद्र पाल सिंह टी.टी. की जो श्रीगंगानगर जिले के करणपुर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं। दरअसल, कांग्रेस उम्मीदवार गुरमीत कुन्नर की मृत्यु के बाद इस सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया था। 5 जनवरी को यहां मतदान होगा। हालांकि, वोटिंग और रिजल्ट से पहले ही बीजेपी ने पार्टी कैंडिडेट को मंत्री बना लिया।

चुनाव लड़ने वाले को ही बना दिया गया मंत्री

जानकारों के मुताबिक, देश में यह पहला मामला है जब किसी उम्मीदवार को मतदान से पहले मंत्री बनाया गया हो। इस बीच, राज्य कांग्रेस प्रमुख गोविंद सिंह डोटासरा ने इस कदम पर सवाल उठाया है। उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि राजस्थान में 22 मंत्रियों ने शपथ ली है… सुरेंद्र पाल करणपुर से चुनाव लड़ रहे हैं, जहां 5 जनवरी को मतदान होगा। उन्हें मंत्री पद की शपथ दिलाकर मतदाताओं को लुभाने की कोशिश की गई है। बीजेपी न तो संविधान में विश्वास करती है, न ही चुनाव आयोग में।

भजनलाल कैबिनेट में 22 नए मंत्री

राज्य मंत्रिपरिषद के विस्तार के लिए शपथ ग्रहण समारोह राजभवन में आयोजित हुआ। जिसमें 12 को कैबिनेट, पांच को राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और पांच को राज्यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई। राज्यपाल कलराज मिश्र ने राजभवन में विधायकों और सुरेंद्रपाल सिंह टीटी को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। टीटी ने राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली। टीटी करणपुर सीट से बीजेपी के उम्मीदवार हैं। करणपुर सीट पर अब पांच जनवरी को मतदान होगा। वोटों की गिनती आठ जनवरी को होगी।

कांग्रेस ने बीजेपी के फैसले पर उठाए सवाल

इस सीट पर बीजेपी की ओर से पूर्व मंत्री सुरेंद्रपाल उम्मीदवार हैं तो कांग्रेस ने कुन्नर के बेटे रुपिंदर सिंह को प्रत्याशी बनाया है। करणपुर विधानसभा क्षेत्र में कुल 249 मतदान केंद्र हैं। छह दिसंबर तक यहां 2 लाख 40826 मतदाता थे। वहीं कांग्रेस ने टीटी को मंत्री बनाए जाने की आलोचना की है। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ‘एक्स’ पर लिखा, ‘करणपुर में 5 जनवरी को होने वाले मतदान की आचार संहिता के प्रभावी होने के बावजूद वहां से भाजपा प्रत्याशी को मंत्री बनाना आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन और वहां के मतदाताओं को प्रभावित करने का प्रयास है।’

गहलोत ने कहा कि निर्वाचन आयोग को इस पर संज्ञान लेकर अविलंब कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने लिखा कि इस तरह के असंवैधानिक कदम उठाना लोकतंत्र में दुर्भाग्यपूर्ण है। यह भाजपा आलाकमान के अहंकार को दर्शाता है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि पार्टी इस मामले को निर्वाचन आयोग के सामने उठाएगी।

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर