Explore

Search
Close this search box.

Search

May 18, 2024 11:05 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

Rajasthan: पेपर लीक मामले में SOG को बड़ा झटका, कोर्ट ने 12 ट्रेनी SI को दी सशर्त जमानत

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

Rajasthan SI Paper Leak Case: राजस्थान में 2021 में हुए सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा (Rajasthan SI Exam 2021) में पेपर लीक के आरोपों की बीत कुछ दिनों से जांच जारी है. राजस्थान पुलिस की स्पेशल टीम SOG इस मामले की जांच कर रही है. बीते दिनों एसओजी ने इस मामले में राजस्थान पुलिस अकादमी में ट्रेनिंग ले रहे दो दर्जन से अधिक सब इंस्पेक्टर को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया था. मामले में जांच अभी चल ही रही थी लेकिन शुक्रवार को कोर्ट से एसओजी को बड़ा झटका लगा है. शुक्रवार को कोर्ट ने एसआई भर्ती परीक्षा के पेपर लीक मामले में एसओजी द्वारा गिरफ्तार किए गए 12 ट्रेनी एसआई को सशर्त जमानत दे दी.

Approved Plot in Jaipur @ 3.50 Lakh call 9314188188

मालूम हो कि एसआई पेपर लीक मामले में ट्रेनी एसआई की गिरफ्तारी पुलिस की बड़ी कामयाबी मानी जाती थी. लेकिन अब कोर्ट से आरोपियों को जमानत मिलने से एसओजी की कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे हैं. साथ ही इस केस की जांच में लगे पुलिस टीम का हौसला भी टूटेगा.

Delhi Liquor Scam Case: 100 करोड़ लेन-देन के कितने किरदार, CBI ने कोर्ट को बता दिए नाम, सीक्रेट मीटिंग के अड्डे का भी खुलासा

24 घंटे के अंदर पेश नहीं किए जाने के कारण दी बेल

कोर्ट से आरोपियों को सशर्त जमानत दिए जाने के बाबत बताया गया कि आरोपियों को  24 घंटे के अंदर पेश नहीं करने को लेकर यह फैसला दिया गया. सशर्त जमानत मिलने के बाद अब बेल बॉन्ड जमा कराने के बाद सभी 12 आरोपी जेल से रिहा हो जायेंगे. मालूम हो कि बीते दिनों कोर्ट में पेशी के दौरान ट्रेनी एसआई ने एसओजी पर पट्टों से पीटने का आरोप लगाया था.

इन 12 आरोपियों को कोर्ट ने दी सशर्त जमानत

एसआई पेपर लीक मामले में सशर्त जमानत पाने वाले ट्रेनी एसआई में थर्ड टॉपर सुरेंद्र कुमार, छठी रैंक धारक दिनेश विश्नोई और 10 वीं रैंक वाले माला राम विश्नोई के साथ – साथ राकेश, सुभाष विश्नोई, अजय विश्नोई, जयराज सिंह, मनीष बेनीवाल, मंजू विश्नोई, चेतन सिंह मीणा, हरखू चौधरी और कांस्टेबल अभिषेक विश्नोई शामिल है.

पिछली पेशी पर भी न्यायालय ने जताई थी नाराजगी

उस दिन भी कोर्ट में आरोपियों की पेशी देरी से हुई थी. इस बात पर न्यायालय ने नाराजगी भी जाहिर की थी. साथ ही यह पूछा था कि गिरफ्तारी के 24 घंटे के अंदर आरोपियों की कोर्ट में पेशी क्यों नहीं. कोर्ट ने पुलिस अधिकारी और एसएमएस के डॉक्टर के नेतृत्व में कमेटी बनाकर ट्रेनी एसआई के आरोपों पर जांच का निर्देश दिया था.

Sanjeevni Today
Author: Sanjeevni Today

ताजा खबरों के लिए एक क्लिक पर ज्वाइन करे व्हाट्सएप ग्रुप

Leave a Comment

Digitalconvey.com digitalgriot.com buzzopen.com buzz4ai.com marketmystique.com

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर