कोरोना महामारी के बीच टोक्यो ओलंपिक का डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस ने किया समर्थन

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के सदस्यों से बात करते हुए कहा कि दुनिया को अब आशा के उत्सव के रूप में ओलंपिक की आवश्यकता है।

 
कोरोना महामारी के बीच टोक्यो ओलंपिक का डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस ने किया समर्थन

टोक्यो। वैश्विक कोरोना महामारी के बीच टोक्यो ओलंपिक का शुभारंभ 23 जुलाई से होगा। टोक्यो ओलंपिक के आयोजन पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख टेड्रोस एडनॉम घेबियस ने बुधवार को कहा कि दुनिया को यह दिखाने के लिए आगे बढ़ना चाहिए कि कोविड-19 महामारी के बीच सही योजना और उपायों के साथ क्या कुछ हासिल किया जा सकता है।

टेड्रोस ने जापान की राजधानी में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के सदस्यों से बात करते हुए कहा कि दुनिया को अब आशा के उत्सव के रूप में ओलंपिक की आवश्यकता है। ओलंपिक में दुनिया को एक साथ लाने, प्रेरित करने, यह दिखाने की शक्ति है कि क्या संभव है। ओलंपिक की मशाल ऊपर उठाए हुए टेड्रोस ने कहा कि इस धरती से आशा की किरणें स्वस्थ, सुरक्षित और निष्पक्ष दुनिया के लिए एक नया सवेरा रोशन करें।

यह खबर भी पढ़ें: महिलाओं को पीरियड्स के समय भूलकर भी नहीं करने चाहिए ये काम

टोक्यो ओलंपिक की शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा कि यह मेरी सच्ची आशा है कि टोक्यो गेम्स सफल हों।

टोक्यो ओलंपिक्स के खेलों की शुरुआत 23 जुलाई से होने जा रही है ऐसे में खिलाड़ियों की सुरक्षा से लेकर हजारों की तादाद में विदेशी लोगों का दर्शकों के तौर पर आगमन यकीनन चिंता का विषय है। जापान में 840,000 से अधिक मामले और 15,055 मौतें दर्ज की गई हैं और खेलों के मेजबान शहर टोक्यो में मंगलवार को 1,387 मामले दर्ज किए गए हैं।

टेड्रोस ने देशों के बीच टीके की विसंगतियों की आलोचना करते हुए कहा कि अगर जी 20 अर्थव्यवस्थाओं ने सामूहिक नेतृत्व दिखाया होता और टीकों का उचित वितरण हुआ होता तो महामारी समाप्त हो सकती थी।

Download app: अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web