अमेरिका में अब भी 50 लाख से ज्यादा सक्रिय केस, डेल्टा वेरिएंट ने बढ़ाई मुश्किल

अमेरिका में कोरोना के सक्रिय मामले दुनिया में रिकॉर्ड स्तर पर हैं। यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 50 लाख से ज्यादा है, इसका कारण डेल्टा वेरिएंट को बताया जा रहा है।

 
अमेरिका में अब भी 50 लाख से ज्यादा सक्रिय केस, डेल्टा वेरिएंट ने बढ़ाई मुश्किल

वाशिंगटन। अमेरिका में कोरोना के सक्रिय मामले दुनिया में रिकॉर्ड स्तर पर हैं। यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 50 लाख से ज्यादा है, इसका कारण डेल्टा वेरिएंट को बताया जा रहा है। एक जानकारी के अनुसार अमेरिका में सक्रिय केसों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।

अमेरिका में कोरोना के दैनिक मामले फिर बढ़ने लगे हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान यहां 44 हजार से ज्यादा संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं। एक दिन में नए मामलों में ब्रिटेन पहले नंबर पर है, जहां 46 हजार से ज्यादा मामले आए हैं। दूसरे नंबर पर अमेरिका के बाद भारत तीसरे नंबर पर है, यहां एक दिन में करीब 42 हजार मामले रहे। 38 हजार से ज्यादा मरीजों के साथ इंडोनेशिया चौथे नंबर पर है।

इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा है कि संक्रमण से मरने वालों की संख्या में कमी आई है। यह कमी तेजी से लग रही वैक्सीन के कारण है, लेकिन अभी भी डेल्टा वेरिएंट के सावधान रहना चाहिए। देश में होने वाली मौत और अस्पताल में भर्ती होने वाले वही हैं, जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई है।

यह खबर भी पढ़ें: महिलाओं को पीरियड्स के समय भूलकर भी नहीं करने चाहिए ये काम

साल 2020 में शुरू हुई कोरोना महामारी के चलते भारी तबाही का सामना कर चुका अमेरिका एक बार फिर संक्रमण की चपेट में आता दिख रहा है। पिछले कुछ हफ्तों की गिरावट के बाद कोरोना संक्रमण के मामले फिर से बढ़ने लगे हैं। प्रतिदिन बढ़ रहे कोरोना केसों की संख्या बीते दिनों की तुलना में लगभग दोगुनी हो चुकी है।

यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के मुताबिक देश में कोरोना का डेल्टा वेरिएंट इस वक्त संक्रमण का प्रमुख कारण बना हुआ है। लगातार बढ़ रहे संक्रमण के मामलों में से करीब 83 फीसदी मामले डेल्टा वेरिएंट के ही हैं।

सीडीसी के निदेशक डॉ. रोशेल वालेंस्की के मुताबिक संक्रमण के मामलों में बीती 3 जुलाई से तेजी से वृद्धि दर्ज की गई है। उन्होंने सीनेट स्वास्थ्य समिति के लिए जारी एक बयान में कहा है कि सीडीसी के तरफ से जारी की गई जानकारी से ये साफ है कि कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए टीकाकरण के अलावा और कोई संभव उपाय नहीं है। साथ ही उन्होंने साफ किया कि हाल ही में संक्रमण से उन लोगों की मौत हुई है जिनका अभी तक टीकाकरण नहीं हुआ है।

वालेंस्की ने बताया की आने वाले वक्त में बिना टीकाकरण वाले लोगों को ही, संक्रमण से ज्यादा खतरा रहने की आशंका है।

Download app: अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web