आईएसएल-7 : 20 साल के राहुल ने बेंगलुरू को हार के लिए किया मजबूर

 
आईएसएल-7 : 20 साल के राहुल ने बेंगलुरू को हार के लिए किया मजबूर


गोवा। केरला ब्लास्टर्स ने अपने 20 साल के फारवर्ड राहुल केपी द्वारा इंजुरी टाइम में किए गए बेहतरीन गोल की मदद से बुधवार रात यहां जीएमसी स्टेडियम में बेंगलुरू एफसी को 2-1 से हराकर हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन में अपनी तीसरी जीत दर्ज की।

बेंगलुरू की यह इस सीजन की पांचवीं हार है। इस जीत के साथ ब्लास्टर्स के 12 मैचों से 13 अंक हो गए हैं और वह एक स्थान की छलांग लगाते हुए 11 टीमों की तालिका में नौवें स्थान पर पहुंच गई है। इससे ईस्ट बंगाल 10वें स्थान पर खिसक गया है।

बेंगलुरू के भी 12 मैचों से 13 अंक हैं लेकिन बेहतर गोल अंतर के कारण वह सातवें स्थान पर काबिज है। बेंगलुरू को बीते छह मैचों से जीत नहीं मिली है। बीते एक महीने से जीत के लिए तरस रही बेंगलुरू एफसी ने एक्शन पैक्ड पहले हाफ की समाप्ति 1-0 की लीड के साथ की। उसके लिए यह गोल क्लीटन सिल्वा ने राहुल भेके की मदद से 24वें मिनट में किया।

वैसे केरला ने बेहतर खेल के साथ इस हाफ की शुरुआत की शुरुआत की थी। शुरुआती 20 मिनट में केरला ने मैदान पर बेहतर तालमेल दिखाया। 17वें मिनट में गैरी हूपर के साथ तालमेल पर जार्डन मरे गोल करने के बिल्कुल करीब थे लेकिन किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया। इसके बाद पहले गोल हुआ और इसी के बाद से बेंगलुरू की टीम ने केरला के डिफेंडर्स को खूब छकाया।

बेंगलुरू की टीम ने काउंटर अटैक जारी रखे और इस कारण केरला को क्लीयर चांस बनाने में दिक्कत पेश हुई। पहले हाफ के अंत में कप्तान सुनील छेत्री बेंगलुरू की लीड दोगुनी करने के बेहद करीब थे उनके खाते में यह गोल नहीं जुड़ा। यहां केरला के गोलकीपर एल्बीनो गोम्स की तारीफ करनी होगी क्योंकि उन्होंने छेत्री को सफल नहीं होने दिया। 

केरला ने दूसरे हाफ की शुरुआत बदलाव के साथ की। मरे को बाहर कर लालथाथारांगा खालरिंग को अंदर लिया गया। 54वें मिनट में बेंगलुरू के जुआनन को पीला कार्ड मिला। 54वें और 58वें मिनट में बेंगलुरू ने दो अच्छे मूव बनाए लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। समय कम बचा था लिहाजा केरला ने भी अब हमले तेज कर दिए। इसी क्रम में उसे 73वें मिनट में सफलता मिली, जब सुपर-सब पूतिया नाम से मशहूर खालरिंग ने गोल करते हुए स्कोर 1-1 कर दिया।

गैरी हूपर का पहला प्रयास हालांकि गुरप्रीत सिंह संधू ने रोक लिया था लेकिन इस दौरान वह चोटिल हो गए। गेंद पूतिया के पास कई और उन्होंने कोई गलती नहीं की। 79वें मिनट में केरला के 20 साल के फारवर्ड राहुल केपी के पास अपनी टीम को लीड दिलाने का बेहतरीन मौका था लेकिन बाक्स में बेहद करीब से लिया गया उनका शाट कमजोर निकला और कीपर को भेद नहीं सका।

बेंगलुरू ने 80वें मिनट में सुरेश वांगजाम को बाहर कर लियोन अगस्टीन को अंदर लिया। इसके बाद बदलावों का दौर चला और इस बीच दोनों टीमें नए कदमों के साथ आक्रमण करती रहीं लेकिन सफलता किसी मिलती नहीं दिख रही थी। मैच रेगुलेशन टाइम में गया। लग रहा था कि दोनों को अंक बांटने पर मजबूर होना पड़ेगा लेकिन तभी राहुल ने 79वें मिनट की अपनी गलती की भरपाई करते हुए शानदार गोल कर ब्लास्टर्स को तीन अंक दिलाने का इंतजाम कर दिया।

यह खबर भी पढ़े: कोरोना महामारी के बीच स्कूल फीस में मिली बड़ी राहत, शिक्षण शुल्क में 25 फीसदी और अन्य शुल्क में 100 फीसदी कटौती

यह खबर भी पढ़े: अमेरिका में उथल फुथल! राजगद्दी पर बैठते ही जो बाइडेन ने पलट दिए ट्रंप के ये सारे फैसले

From around the web