Pitru Paksha 2022: पितृपक्ष में भूलकर भी न करें ये गलतियां, वरना नहीं मिलेगा किसी भी श्राद्ध का फल

पितृपक्ष पर किया गया पिंडदान पितृों की आत्मा को शांति दिलाता है।

 
Pitru Paksha 2022: पितृपक्ष में भूलकर भी न करें ये गलतियां, वरना नहीं मिलेगा किसी भी श्राद्ध का फल

डेस्क। 10 सितम्बर से पितृ पक्ष की शुरुआत हो रही हैं और इसकी समाप्ति 25 सितंबर को होगी। पितृ पक्ष के दौरान पितृों और पूर्वजों के पिंडदान की विशेष महत्वता होता है। आश्विन मास के कृष्ण पक्ष को पितृपक्ष के रूप में माना जाता है। जिसे हम श्राद्ध पक्ष के नाम से भी जानते हैं। वैदिक धर्म में पितरों को देव स्वरूप बताया गया है। हर साल पितृपक्ष में पितरों के तर्पण निमित्त पिंडदान और हवन किया जाता है, सभी लोग अपने पूर्वजों की मृत्यु तिथि के अनुसार उनका श्राद्ध करते हैं।

a

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

पितृपक्ष पर किया गया पिंडदान पितृों की आत्मा को शांति दिलाता है यदि श्राद्ध में पिंडदान विधिपूर्वक नहीं किया जाए तो इससे वह नाराज रहते हैं और उनकी आत्मा भटकती रहती है। पितृपक्ष में पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए पूजा की जाती है, इन दिनों कुछ बातों का विशेष रूप से ध्यान भी रखना होता है।

b

न करें इनका प्रयोग: पितृपक्ष में पितरों के लिए श्राद्ध कर्म कर रहे हैं तो उस दिन शरीर पर तेल का प्रयोग नहीं करना चाहिए और ना ही पान खाना चाहिए। इसके साथ ही दूसरे के घर का खाना पितृपक्ष में वर्जित बताया है और इत्र का प्रयोग भी नहीं करना चाहिए।

c

ना कटाए दाढ़ी और बाल: मान्यताओं के अनुसार पितृपक्ष के दौरान करीब 10 या 15 दिनों तक पुरूषों को दाढ़ी और बालों को नहीं कटवाना चाहिए। ऐसा करने से घर पर आर्थिक तंगी हो सकती है।

e

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

नहीं खरीदते नया सामान: मान्यता के अनुसार पितृ मावस के दौरान कोई भी नई चीज जैसे, कपड़े, बर्तन, गाड़ी सामान नहीं खरीदना जाता। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक इससे अशुभ माना गया है और ऐसा करने से पितृ व पूर्वज क्रोधित हो जाते हैं।

d

भूल कर भी न करे इन चिजों का सेवन: ऐसा माना जाता हैं की पितृपक्ष में मांस, प्याज, लहसून, ध्रुमपान, शराब, मदीरा जैसी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे पितृों का आर्शिवाद आपको नहीं मिलता, साथ ही घर पर सुख समृद्धि का वास भी नष्ट हो जाता है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web