अब महाराष्ट्र में शासकीय कामकाज मराठी में ही होगा, सीएम ठाकरे ने दिया आदेश

 
अब महाराष्ट्र में शासकीय कामकाज मराठी में ही होगा, सीएम ठाकरे ने दिया आदेश


मुंबई। महाराष्ट्र में शासकीय कामकाज मराठी भाषा में किए जाने का शासनादेश बुधवार को जारी किया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से जारी शासनादेश में राज्य के सभी शासकीय कार्यालयों में मराठी भाषा में कामकाज व बातचीत करना अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसा न करने पर कर्मचारियों की वार्षिक वेतनवृद्धि रोकने की भी चेतावनी दी गई है। 

राज्य सरकार की ओर से जारी शासनादेश में कहा गया है कि जो कर्मचारी मराठी में बात नहीं करेंगे,उन्हें इसका कारण बताना होगा। अगर कारण सही नहीं पाए गए तो उनपर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही राज्य सरकार की ओर जारी विज्ञापनों में भी मराठी का उपयोग अनिवार्य कर दिया गया है। 

शिवसेना इससे पहले कई बार सरकारी कार्यालयों में मराठी के उपयोग को लेकर कई बार आंदोलन कर चुकी है। इस समय शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे खुद मुख्यमंत्री है। इसी वजह से उनके अधीन सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से यह शासनादेश आज जारी किया गया है। इसलिए इस अध्यादेश को शिवसेना की ओर से मराठी वर्ग को खुश करने वाला बताया जा रहा है। हालांकि राज्य सरकार की ओर से इससे पहले भी कई बार इस तरह का शासनादेश जारी किया जा चुका है,लेकिन इसका अनुपालन नहीं हुआ था। 

यह खबर भी पढ़े: KBC 12 Registration: किचन से जुड़ा है 'केबीसी' का पांचवां सवाल, क्या आप जानते हैं सही जवाब?

यह खबर भी पढ़े: अगर आपको भी हैं लिवर की समस्या तो जरूर करें इन तीन चीजों का सेवन

From around the web