एसडीएम को ज्ञापन देकर की गई अवैध उत्खनन पर रोक लगाने की मांग

 
एसडीएम को ज्ञापन देकर की गई अवैध उत्खनन पर रोक लगाने की मांग


गुना। बंजरी-रेत विक्रेता ट्रैक्टर चालकों ने गुरुवार को जिलेभर में अवैध उत्खनन करने वाले लोगों पर कार्रवाई की मांग को लेकर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। इन बंजरी विक्रेताओं का कहना है कि एक प्रशासन हम पर आए दिन जगह-जगह नाकेबंदी करके कार्रवाई कर रहा है। वहीं दूसरी जिलेभर की नदियों में ठेकेदारों द्वारा अवैध उत्खनन किया जा रहा है। इन लोगों में प्रमुख राजनीतिक दलों के नेताओं से लेकर अधिकारियों की सांठगांठ है। 

ज्ञापन में कहा गया कि संधी नदी पर कुछ लोग अपने राजनीतिक रसूख पर यहां पन्नडुब्बियां चलाकर जमकर अवैध उत्खनन कर रहे हैं। इनमें रमपुरा, रोरी, कोठिया, पिपरोदा, बेंहटा, मगवार, श्यामपुरा, ईकोदिया, पिपरौदा आदि गांवों में धड़ल्ले से पनडुब्बियां संचालित हैं। पूर्व में भी इसकी शिकायत खनिज विभाग को की गई थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। शायद खनिज विभाग इन पर कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा है। ज्ञापन में ट्रैक्टर चालकों ने कहा कि एक ओर जहां सीएम कह रहे हैं कि राज्य में कोई भी अवैध कारोबार बर्दास्त नहीं किया जाएगा वहीं दूसरी रसूखदारों द्वारा खुलेआम अवैध उत्खनन किया जा रहा है।

जहां-जहां यह पन्नडुब्बियां संचालित हैं वहां बड़े-बड़े गढ्डे बन जाते हैं। जिससे बाद में दुर्घटनाएं होती हैं। ज्ञापन में उक्त मामले की जांच कराकर दोषियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की गई। मांग करने वालों में बंटी लोधा, राघवेन्द्र, दीपक, धनराज, चंद्रभान सिंह, विक्की, केशव, पवन, घनश्याम, अभिषेक, रामवीर, राजेन्द्र, ईकु राठौर, देवेन्द्र, बिलाल खान, हल्के, लक्ष्मीनारायण लोधा आदि शामिल हैं।

यह खबर भी पढ़े: वर्ष 2020 में CRPF ने जम्मू-कश्मीर में कई अभियान चलाकर करीब 215 आतंकियों को किया ढेर

From around the web