गणतंत्र दिवस पर नहीं होगा सम्मान समारोह, बच्चे व बुजुर्गों को न्यौता भी नहीं

 
गणतंत्र दिवस पर नहीं होगा सम्मान समारोह, बच्चे व बुजुर्गों को न्यौता भी नहीं


जयपुर। इस साल 26 जनवरी के राज्यस्तरीय व जिला स्तरीय कार्यक्रमों में स्वतंत्रता दिवस जैसी ही पाबंदियां लागू रहेेंगी। कोरोना महामारी के संक्रमण के मद्देनजर गणतंत्र दिवस समारोह छोटा कर दिया गया है। इन कार्यक्रमों में नो मास्क-नो एन्ट्री का नियम लागू रहेगा, जबकि कार्यक्रम में बुजुर्गों व बच्चों को नहीं बुलाया जाएगा। समारोह में न किसी का सम्मान किया जाएगा, न कार्यक्रम के दौरान सटकर बैठने की अनुमति दी जाएगी। कोरोना के खतरे के कारण इस बार राज्य स्तरीय तथा जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट काम करने वालों का सम्मान समारोह नहीं होगा। हर बार उत्कृष्ट काम करने वाले राज्य कर्मचारियों, अफसरों और सामाजिक क्षेत्र के लोगों को राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस समारोह में सम्मानित किया जाता है। 

कोराना गाइडलाइन के कारण इस बार सम्मान नहीं करने का फैसला किया गया है। स्वतंत्रता दिवस समारोह में भी सम्मान नहीं हुआ था। राजधानी जयपुर के एसएमएस स्टेडियम में होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह में स्कूली बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रम भी नहीं होंगे। समारोह में उत्कृष्ट काम करने वाले कर्मचारी अफसरों का सम्मान नहीं करने के कारण इस बार विभागवार नाम भी नहीं मांगे गए थे। पिछले दिनों मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में ही यह फैसला हो गया था कि एसएमएस स्टेडियम में होने वाले समारोह में कर्मचारी अफसरों का सम्मान नहीं होगा। कोरोना गाइडलाइन के कारण स्वतंत्रता दिवस समारोह जितनी ही पाबंदियां लागू रहेंगी। कोरोना के कारण समारोह का कार्यक्रम छोटा किया गया है। 26 जनवरी को सुबह 9.30 बजे राज्यपाल कलराज मिश्र एसएमएस स्टेडियम पहुंचकर ध्वजारोहण करेंगे, परेड का निरीक्षण करेंगे। समारोह में लोक कलाकार सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देंगे, मोटरसाइकिल शो, घुड़सवारी शो, सेना और पुलिस का बैंडवादन होगा। 10.26 बजे राज्यपाल समारोह स्थल से रवाना हो जाएंगे।

सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव दिनेश कुमार यादव ने बताया कि समारोह में कोरोना गाइडलाइन के कारण हेल्थ प्रोटोकॉल से जुड़ी पाबंदिया लागू रहेंगी। स्कूली बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रम और परेड नहीं होंगी। समारोह में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही बैठने की व्यवस्था रहेगी, मास्क के बिना एंट्री नहीं मिलेगी। समारोह में बच्चे, बुजुर्ग और स्वतंत्रता सेनानियों को आमंत्रित नहीं किया जाएगा और न ही सम्मान व प्रशस्ति पत्र समारोह होगा। गणतंत्र दिवस के मौके पर जिला कलक्टर कार्यालयों समेत अन्य सभी सरकारी विभागों में ध्वजारोहण होगा। इन कार्यक्रमों में मास्क पहनने तथा दो गज की दूरी रखने के निर्देश हैं। सम्पूर्ण कार्यक्रम के दौरान शामिल होने वाले लोगों के बीच दो गज के दूरी की नियम की पालना के साथ बच्चों एवं बुजुर्गों को उनकी सेहत के मद्देनजर कार्यक्रम में आमंत्रित/शामिल नहीं किया जाएगा। कार्यक्रम स्थल पर आगन्तुकों के लिए थर्मल स्कैनिंग तथा सैनिटाइजेशन की व्यवस्था रखी जाएगी। 

यह खबर भी पढ़े: कांग्रेस कार्यसमिति में सांगठनिक चुनाव पर घमासान, असंतुष्ट नेताओं पर बरसे गहलोत

From around the web