Ganesh chaturthi 2022: कल है गणेश चतुर्थी, इस शुभ मुहूर्त में करें गणपति बप्पा की पूजा

गणेश उत्सव भाद्रपद मास की चतुर्थी से चतर्दर्शी तक यानी दस दिनों तक चलता है।

 
Ganesh chaturthi 2022: कल है गणेश चतुर्थी, इस शुभ मुहूर्त में करें गणपति बप्पा की पूजा

डेस्क। गणेश चतुर्थी का त्योहार देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है। गणपति को घर लाकर विराजमान करने से लेकर उनके विसर्जन को भी धूमधाम से करते हैं। 10 दिन चलने वाले इस त्यौहार पर गणपति की स्थापना की जाती है। हिंदू धर्म में भगवान गणेश सबसे श्रेष्ठ देवताओं में माने जाते हैं। उनकी पूजा-अर्चना हर पूजा से पहले करनी अनिवार्य होती है। गणेश उत्सव भाद्रपद मास की चतुर्थी से चतर्दर्शी तक यानी दस दिनों तक चलता है। इसके बाद चतुर्दशी को इनका विसर्जन किया जाता है।

a

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

गणेश चतुर्थी 2022 शुभ महूर्त -
हिंदू पंचांग के मुताबिक, भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि की शुरुआत 30 अगस्त 2022 को दोपहर के 3 बजकर 34 मिनट पर होगी। फिर ये चतुर्थी तिथि 31 अगस्त को दोपहर 3 बजकर 23 मिनट पर खत्म हो जाएगी। पद्म पुराण के अनुसार, भगवान गणेश जी का जन्म स्वाति नक्षत्र में मध्याह्न काल में हुआ था। इस कारण से इसी समय पर गणेश स्थापना और पूजा करना ज्यादा शुभ और लाभकारी होगा। पूजा के समय “ॐ गं गणपतये नमः:” मंत्र का जप करते हुए गणपतिजी को जल, फूल, अक्षत, चंदन और धूप-दीप एवं फल नैवेद्य अर्पित करें। प्रसाद के रूप में गणेशजी को उनके अति प्रिय मोदक का भोग जरूर लगाएं।

b

पूजा सामग्री- 
पान, सुपारी, लड्डू, सिंदूर, दूर्वा

c

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

ऐसे  करें पूजा- 
- भगवान गणेश जी की पूजा करें और लाल वस्त्र चौकी पर बिछाकर स्थान दें।

d

- इसके साथ ही एक कलश में जलभरकर उसके ऊपर नारियल रखकर चौकी के पास रख दें। 
- दोनों समय गणपति की आरती, चालीसा का पाठ करें। प्रसाद में लड्डू का वितरण करें।

e

गणेश मंत्र: 
ऊं गं गणपतये नम: मंत्र का जाप करें। प्रसाद के रूप में मोदक और लड्डू वितरित करें।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web