संजीवनी टुडे

10वीं और 12वीं की परीक्षा को लेकर CBSE ने किया बड़ा ऐलान, तय समय पर आयोजित बोर्ड परीक्षाएं

संजीवनी टुडे 23-11-2020 14:52:03

कोरोना वायरस महामारी की वजह से देशभर के स्‍कूल मार्च से बंद हैं, जिससे छात्रों का बड़ा नुकसान हो रहा है।


नई दिल्‍ली। कोरोना वायरस महामारी की वजह से देशभर के स्‍कूल मार्च से बंद हैं, जिससे छात्रों का बड़ा नुकसान हो रहा है। ऐसे में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने भारत में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को लेकर एक बड़ा ऐलान करते हुए बताया है कि परीक्षाएं होंगी, किन्तु यह परीक्षाएं कब शुरू होंगी, अभी इसकी औपचारिक घोषणा नहीं की गई है।

सीबीएसई के मुताबिक, बोर्ड परीक्षाएं लेने की तैयारी जारी है। अगर सब ठीक ठाक रहा तो परीक्षाएं तय वक्त पर आयोजित की जा सकती हैं। 

जानकारी के मुताबिक, देशभर में विभिन्न संगठन कोरोना को देखते हुए बोर्ड परीक्षाएं को स्थगित किए जाने की मांग कर रहे हैं। हालांकि इस मध्य सीबीएसई ने साफ किया है कि बोर्ड परीक्षाएं रद्द या स्थगित करने का कोई प्रस्ताव नहीं है।

सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने कहा, 'बीते वर्ष मार्च-अप्रैल के दौरान हम डरे हुए थे कि आगे कैसे बढ़ेंगे, लेकिन इस मौके पर हमारे विद्यालयों और शिक्षकों ने शानदार काम किया तथा शिक्षण कार्य हेतु नई प्रौद्योगिकी के उपयोग से खुद में बदलाव किया। इस दौरान अध्यापकों ने स्वयं को प्रशिक्षित किया। 

कुछ ही महीनों में अलग-अलग ऐप का इस्तेमाल कर ऑनलाइन कक्षाएं लेना समान्य बात हो गई है।' बता दें कि सीबीएसई 12वीं कक्षा के प्रैक्टिकल जनवरी से प्रारंभ होकर फरवरी तक लिए जा सकते हैं। यह सिर्फ एक संभावित तिथि है। सीबीएसई ने बताया है कि ठीक तारीख की सूचना बाद में दी जाएगी।

सभी स्कूलों को एक ऐप एवं उसका लिंक उपलब्ध करवाया जाएगा। इस ऐप पर स्कूलों को प्रैक्टिकल के दौरान ली गई छात्रों की तस्वीर भी अपलोड करनी होगी। जिसमें स्टूडेंट्स, ऑब्जर्वर, बाहर से आए एग्जामिनर और स्कूल के एग्जामिनर होंगे।

बोर्ड ने परीक्षा के आयोजन को लेकर एक एसओपी निर्धारित की है। प्रैक्टिकल हेतु स्कूलों को विभिन्न तिथि भेजी जाएगी। इसमें बोर्ड का ऑब्जर्वर नियुक्त किया जाएगा। यह ऑब्जर्वर, प्रैक्टिकल एवं प्रोजेक्ट मूल्यांकन की निगरानी करेगा।

भारत के अलग-अलग स्कूलों को सीबीएसई बोर्ड के जरिए नियुक्त एक्सटर्नल एग्जामिनर के जरिए ही प्रैक्टिकल करवाने होंगे। मूल्यांकन पूर्ण होने के पर स्कूलों को बोर्ड के जरिए उपलब्ध कराए गए लिंक पर अर्जित अंक अपलोड करने होंगे। प्रैक्टिकल एग्जाम तथा प्रोजेक्ट मूल्यांकन का कार्य संबंधित स्कूलों में ही चलेगा।

यह खबर भी पढ़े: कोरोना वैक्सीन को लेकर बड़ी खुशखबरी, 90% तक असरदार है भारत में बन रही ऑक्सफोर्ड की कोवीशील्ड

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From career

Trending Now
Recommended