रूस का यूक्रेन युद्ध के बीच नया पैंतरा, SCO खेलों की मेजबानी करने का रखा प्रस्ताव; भारत भी है हिस्सा

 
putin

रूस के खेल मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में यह जानकारी दी। मैटिसिन ने बयान में कहा, ''हम एससीओ खेलों की मेजबानी करने के लिए रूस के नाम पर विचार करने का प्रस्ताव रखते हैं।''

 

नई दिल्ली। यूक्रेन युद्ध के बीच रूस का नया पैंतरा चला है। रूस ने बुधवार को चीन और भारत जैसे देशों के लिए एक नए बहु-खेल आयोजन की मेजबानी करने की पेशकश की है। तीनों देश शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के सदस्य हैं। रूस ने ये प्रस्ताव ऐसे समय में रखा है जब अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने उस पर कड़े प्रतिबंध लगाए हैं। यूक्रेन युद्ध के चलते रूस को किसी भी इंटरनेशनल गेम के आयोजन की इजाजत नहीं है। इसके बावजूद रूस ने पहले शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) खेलों की मेजबानी करने की पेशकश की है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

मुश्किल स्थिति में पड़ सकता है भारत 
रूस की इस पेशकश से भारत मुश्किल स्थिति में पड़ सकता है। आईओसी ने अपने सदस्य देशों पर रूस में खेलने से प्रतिबंधित कर रखा है जबकि भारत और चीन एससीओ का हिस्सा हैं। रूस के यूक्रेन पर हमले के बाद आईओसी ने यह फैसला किया था। इस समय भारत की आधिकारिक यात्रा पर आए रूसी खेल मंत्री ओलेग मैटिसिन ने पहले एससीओ खेलों का आयोजन अपने देश में करने के लिए पहल की है। 

रूस के खेल मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में यह जानकारी दी। मैटिसिन ने बयान में कहा, ''हम एससीओ खेलों की मेजबानी करने के लिए रूस के नाम पर विचार करने का प्रस्ताव रखते हैं।'' उन्होंने कहा, ''एसोसिएशन की गतिविधियों का उद्देश्य ओलंपिक, गैर-ओलंपिक, पैरालंपिक और राष्ट्रीय खेलों के विकास में संबंधों को मजबूत करना हो सकता है। एसोसिएशन एससीओ सदस्य देशों के बीच खेल गतिविधियों को बढ़ावा देगा।''

यह खबर भी पढ़ें: 'मेरे बॉयफ्रेंड ने बच्चे को जन्म दिया, उसे नहीं पता था वह प्रेग्नेंट है'

हो सकते हैं इसके दूरगामी परिणाम
बयान में कहा गया है कि मैटिसिन ने रूस, भारत, कजाकिस्तान, चीन, किर्गिस्तान, पाकिस्तान, ताजिकिस्तान और उजबेकिस्तान के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में भाग लिया। यदि एससीओ के सदस्य देश इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लेते हैं तो इसके दूरगामी परिणाम हो सकते हैं क्योंकि आईओसी ने पिछले महीने अंतरराष्ट्रीय खेल संघों और राष्ट्रीय ओलंपिक समितियों से यूक्रेन युद्ध के बाद रूस और बेलारूस में किसी भी आयोजन में भाग नहीं लेने के लिए कहा था।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web