पाक की जनता को एक और झटका, सरकार ने IMF से राहत पैकेज लेने के लिए उठाया कदम

 
pakistan

Pakistan Crisis: सरकार की तरफ से क‍िए गए इस बदलाव से औद्योगिक के साथ आम ग्राहकों को अपनी जेब पहले से ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी। वित्तीय प्रोत्साहन की शर्तों के तहत यह कदम उठाया गया है।

 

नई दिल्ली। Pakistan Economic Crisis: आर्थिुक संकट से जूझ रहे पाक‍िस्तान ने देश की जनता को एक और झटका द‍िया है। पाक सरकार की तरफ से अब प्राकृतिक गैस पर टैक्स बढ़ा दिया गया है। इससे पहले सरकार ने ब‍िजली की दरों को बढ़ाकर आम आदमी को झटका द‍िया था। सरकार की तरफ से क‍िए गए इस बदलाव से औद्योगिक के साथ आम ग्राहकों को अपनी जेब पहले से ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी। वित्तीय प्रोत्साहन की शर्तों के तहत यह कदम उठाया गया है। दरअसल, आईएमएफ की तरफ से लोन देने की शर्तों में सब्सिडी खत्म करने की बात कही गई है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

स्थायी राजस्व उपायों पर आईएमएफ का जोर
आईएमएफ ने अपनी शर्तों में कहा है क‍ि पाकिस्तान जनता को दी जाने वाली सब्सिडी कम करें और राजस्व में बढ़ोतरी करे। आईएमएफ का जोर स्थायी राजस्व उपायों पर है। सरकार के इस प्रयास का मकसद अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) की तरफ से छह अरब डॉलर के प्रोत्साहन पैकेज को पटरी पर लाना है। इसके तहत घरेलू और औद्योगिक ग्राहकों के लिये प्राकृतिक गैस पर टैक्स की दर को 16 प्रतिशत से बढ़ाकर 112 प्रतिशत किया गया है। बिजली की दर में भी इसी प्रकार की तेज वृद्धि की आशंका जताई जा रही है। 

यह खबर भी पढ़ें: 'मेरे बॉयफ्रेंड ने बच्चे को जन्म दिया, उसे नहीं पता था वह प्रेग्नेंट है'

पाकिस्तान इस समय आर्थिक संकट, पिछली गर्मियों में आई विनाशकारी बाढ़ और हाल में हिंसा बढ़ने के कारण उपजी अस्थिरता से जूझ रहा है। साल 2019 के प्रोत्साहन पैकेज का एक महत्वपूर्ण हिस्सा 1.2 अरब डॉलर दिसंबर से रुका हुआ है। मुद्राकोष ने पाकिस्तान से और अधिक नकदी जुटाने का आग्रह किया है। विशेषज्ञों ने कहा कि प्राकृतिक गैस पर कर बढ़ने से उत्पादन लागत बढ़ेगी। इससे पहले से बढ़ी हुई महंगाई और तेज होगी। 

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web