World's Longest Tunnel: दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बना रहा चीन! इस वजह से डर रही पूरी दुनिया, पूरी डिटेल

 
china is planning to build world longest tunnel

World's Longest Tunnel: चीन ब्रह्मपुत्र नदी के पानी को एक हजार किलोमीटर लंबी सुरंग बनाकर तिब्‍बत के पठार से ले जाते हुए तकलमकान तक ले जाना चाहता है। तकलमकान दक्षिण-पश्चिम शिंजियांग का रेगिस्‍तानी इलाका है। इसको बनाने में प्रति किमी 14 करोड़ 73 लाख डॉलर का खर्च आएगा।

नई दिल्ली। चीन अपनी अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने के लिए एक के बाद एक निर्माणकार्यों में लगा हुआ है। अब चीन एक ऐसी सुरंग का निर्माण (World's Longest Tunnel) करने जा रहा है, जिससे पूरी दुनिया की चिंता बढ़ गई है। ये सुरंग (World's Longest Tunnel) अपने आप में अनोखी होगी। मीडिया रिपोर्टस की माने तो चीन एक हजार किलोमीटर लंबी सुरंग (China Is Planning To Build World's Longest Tunnel) बनाने जा रहा है। चीन (China) पहला ऐसा देश होगा जो इतनी लंबी सुरंग बनाएगा। आप सोच रहे होंगे कि आखिर चीन इतनी लंबी सुरंग क्यों बना रहा है? इससे क्या फायदा होगा? वहीं दुनिया के बाकी देश इस सुरंग को लेकर क्यों चिंता जता रहे हैं। आईए आपको बताते हैं।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

इस वजह से सुरंग बना रहा चीन
ब्रह्मपुत्र और सिंधु दोनों विशाल नदियां तिब्‍बत से शुरू होती हैं। सिंधु नदी पश्चिमोत्‍तर भारत से होकर पाकिस्‍तान के रास्‍ते अरब सागर में गिरती है। वहीं ब्रह्मपुत्र नदी पूर्वोत्‍तर भारत के रास्‍ते बांग्‍लादेश में जाती है। ये दोनों ही नदियां दुनिया की सबसे विशाल नदियों में शामिल हैं। चीन कई साल से ब्रह्मपुत्र नदी की दिशा को बदलने में लगा हुआ है। चीन ब्रह्मपुत्र नदी को यारलुंग जांगबो कहता है जो भूटान, अरुणाचल प्रदेश से होकर बहती है। ब्रह्मपुत्र और सिंधु दोनों ही नदियां चीन के शिंजियांग इलाके से निकलती हैं। सिंधु नदी लद्दाख के रास्‍ते पाकिस्‍तान में जाती है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, चीन ब्रह्मपुत्र नदी के पानी को एक हजार किलोमीटर लंबी सुरंग बनाकर तिब्‍बत के पठार से ले जाते हुए तकलमकान तक ले जाना चाहता है। तकलमकान दक्षिण-पश्चिम शिंजियांग का रेगिस्‍तानी इलाका है। बताया जा रहा है कि 600 किलोमीटर लंबी यून्‍नान सुरंग का निर्माण अगस्‍त 2017 में शुरू हुआ था। इस परियोजना पर 11.7 अरब डॉलर का खर्च आ रहा है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

पश्चिमी इलाके को विकसित करना चाहता है चीन
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, चीन शिंजियांग को अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य की तर्ज पर डेवलेप करना चाहता है। इसके लिए चीन नदियों के बहाव को तिब्बत से मोड़कर शिंजियांग की ओर करना चाहता है। इसके लिए चीन एक हजार किलोमीटर की सुरंग के जरिए शिजियांग में विशाल झरना बनाना चाहता है। चीन का मकसद अपने पूर्वी क्षेत्र के विकास के बाद अब पश्चिमी इलाके में विकास को बढ़ावा देना चाहता है। ये ऐसा इलाका है जो अभी भी काफी पिछड़ा हुआ है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

शिंजियांग में पानी की है भारी कमी
शिंजियांग में पानी की भारी कमी है। चीन पानी की इस कमी को तिब्‍बत से पानी लाकर पूरा करना चाहता है। इसके लिए तिब्‍बत से शिंजियांग तक पानी ले जाने वाली यह सुरंग बेहद खास होगी। इसको बनाने में प्रति किमी 14 करोड़ 73 लाख डॉलर का खर्च आएगा। इस सुरंग के जरिए हर साल करीब 300 करोड़ गैलन पानी भेजा जा सकेगा।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

दुनिया के देशों की इस वजह से बढ़ी चिंता
चीन जो सुरंग बना रहा है, इससे दुनिया के बाकी देशों की चिंता बढ़ गई है। दरअसल विशेषज्ञ पहले ही चेतावनी दे चुके हैं कि इस सुरंग से जैव विविधता बर्बाद हो जाएगी। इसी के साथ भूकंप के आने का भी खतरा रहेगा। इतिहास में पहले भी इस तरह के प्रयास हुए हैं, लेकिन उसका प्रभाव बहुत ही विनाशकारी रहा है। इसी के बाद से दुनिया के बाकी देशों की चिंता बढ़ गई है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web