जब महिला ने 3 मिनट के अंदर जिंदा जलाकर मार डाला 57 लोगों को, फिर सरकार को बदलना पड़ा कानून

 
untitled

Kuwait Wedding Fire: एक लड़की के दिल में कितनी नफरत हो सकती है? वह प्यार को पाने के लिए किस हद तक जा सकती है? इस बात का जवाब आज हम आपके एक केस के जरिए बताएंगे, जहां एक महिला ने पति की दूसरी शादी से नाराज होकर महज तीन मिनट के अंदर 57 लोगों को जिंदा जलाकर मार डाला। चलिए जानते हैं इस बेरहम महिला कातिल की पूरी कहानी।

 

नई दिल्ली। कहानी है कुवैत की रहने वाली नाजरा यूसुफ एलेंजी (Nasra Yussef Mohammad Al-Enezi) की। 15 अगस्त 2009 में इस महिला ने ऐसा क्राइम किया था, जिसके बाद यहां की सरकार को अपना कानून तक बदलना पड़ गया था। दरअसल, कुवैत सिटी में रहने वाली नाजरा एक शादीशुदा महिला थी। इसके पति का नाम जाएद जाफरा था। दोनों के दो बच्चे भी थे। परिवार हंसी खुशी अपना जीवन व्यतीत कर रहा था। पैसों की कोई कमी नहीं था। इनका तेल का कारोबार था जो कि काफी अच्छा चल रहा था।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

बताया जाता है कि नाजरा बचपन से ही काफी गुस्सैल स्वभाव की थी। उसे छोटी-छोटी बातों पर जल्दी ही गुस्सा आ जाता था। कभी-कभी तो वह अपना गुस्सा पति और बच्चों तक पर निकाल देती थी। ये भी कहा जाता है कि वह थोड़ी मंदबुद्धि भी थी। लेकिन फिर भी परिवार के साथ वह अच्छे से रह रही थी। नाजरा और जाएद के दोनों बच्चे भी शारीरिक रूप से विकलांग थे। फिर भी जाएद ने पत्नी और दोनों बच्चों का काफी अच्छे से ख्याल रख रहा था।

दूसरी शादी करना चाहता था जाएद
नाजरा एक हाउसवाइफ थी। जबकि, जाएद एक कारोबारी था। सब कुछ सही चल रहा था, लेकिन इसी बीच 36 साल के जाएद को लगने लगा कि इस्लाम धर्म के मुताबिक वह अपनी चार पत्नियां बना सकता है। इसलिए उसने सोचा कि क्यों न वो एक और शादी कर ले। फिर उसने अपने लिए एक लड़की ढूंढनी शुरू कर दी। लेकिन जब उसने इस बारे में नाजरा को बताया तो वह काफी गुस्सा हो गई। घर में काफी लड़ाई हुई। उसने जाएद को ये तक कह दिया कि तुम ऐसा क्यों कर रहे हो? क्या मैं तुम्हारे लिए काफी नहीं हूं?

नाजरा यूसुफ एलेंजी (फाइल फोटो)

यह खबर भी पढ़ें: जब लाखों का मालिक निकला दिव्यांग भिखारी! ...तो सच जानकर ये महसूस किया शख्स ने

जाएद दूसरी शादी करने पर अड़ा रहा
जाएद ने नाजरा को समझाया कि इस्लाम धर्म के अनुसार, कोई भी पुरुष 4 शादियां कर सकता है। अगर मैं ऐसा करता हूं तो इसमें हर्ज ही क्या है? लेकिन नाजरा ने सीधे कह दिया कि मैं तुम्हें किसी और महिला के साथ नहीं बांट सकती। ये मुझसे बर्दाश्त नहीं होगा। फिर भी जाएद अपनी बात पर टिका रहा और उसने नाजरा की बात को अनसुना कर दिया। इसके बाद जाएद ने शादी करवाने वाले दलालों से कहा कि उसके लिए वे कोई लड़की देखें, जिससे वह शादी कर सके।

यह खबर भी पढ़ें: महिला के हुए जुड़वां बच्चे, DNA Test में दोनों के पिता अलग, क्या कहना है मेडिकल साइंस का?

जाएद को शादी के लिए मिली लड़की
जल्द ही जाएद को लड़की भी मिल गई। लड़की ने जाएद के साथ शादी करने के लिए हामी भर दी। अब दोनों ने डिसाइड किया कि वे जल्द ही शादी कर लेंगे। उधर नाजरा को जब इस बात का पता चला तो वह अंदर ही अंदर घुटने लगी। उसे लगने लगा कि अब जाएद उससे दूर हो जाएगा। नाजरा ने सोचा कि उसकी मेंटल हेल्थ और बच्चों के विकलांग होने के कारण जाएद ऐसा कर रहा है। यह सब सोचते सोचते नाजरा ने तय कर लिया कि वह किसी भी कीमत में जाएद की दूसरी शादी नहीं होने देगी।

इसके बाद जाएद ने भी सीधे आकर नाजरा से कह दिया कि 15 अगस्त 2009 को वह शादी करने जा रहा है। उस समय नाजरा ने जाएद को कुछ नहीं कहा और शादी के लिए हामी भर दी। उसने कहा कि चाहे तुम दो शादी करो या 4, इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन अंदर ही अंदर वह काफी नाराज थी।

फोटो- AP

यह खबर भी पढ़ें: विदाई के समय अपनी ही बेटी के स्तनों पर थूकता है पिता, फिर मुड़वा देता है सिर, जानें क्यों?

15 अगस्त 2009 को होनी थी शादी
फिर 15 अगस्त 2009 का दिन आया। जाएद ने शादी के लिए बहुत ही महंगे इंतजाम कर रखे थे। उसने बड़े बड़े टेंट लगवाए। हॉलैंड से मंहगे फूल मंगवाए। जाएद ने औरतों और बच्चों के लिए अलग टैंट, शराब पीने वालों के लिए अलग टैंट, नाचने-गाने के लिए अलग टैंट और दूल्हा-दुल्हन के लिए स्पेशल टैंट लगवाए। टैंट लगवाने के लिए उसने अमेरिका से लोगों को बुलाया था। इनका रंग लाल और सफेद रखा गया। खाने के लिए भी कई देशों के शेफ बुलाए गए थे। लेकिन यहां एक गड़बड़ी हो गई थी। टैंट यूं तो काफी आलीशान थे। लेकिन इनमें एक ही एंट्री और एग्जिट गेट था।

यह खबर भी पढ़ें: लंदन से करोड़ों की ‘बेंटले मल्सैन’ कार चुराकर पाकिस्तान ले गए चोर! जाने क्या है पूरा मामला?

नाजरा ने बनाया मर्डर का प्लान
शादी का प्रोग्राम शुरू हुआ। दूल्हा-दुल्हन तैयार होकर बैठे थे। सभी लोग शादी को एंजॉय कर रहे थे। लेकिन एक शख्स ऐसा भी था जो कि इस शादी से बिल्कुल भी खुश नहीं था। वो थी जाएद की पहली बीवी 23 साल की नाजरा एलेंजी। नाजरा पहले तो शादी में आना नहीं चाहती थी। लेकिन तभी उसके दिमाग में एक खतरनाक प्लान बना। उसने सोचा कि जिस इंसान के कारण वह दुखी हुई है क्यों न उसी को मार दिया जाए।

यह खबर भी पढ़ें: भूल से महिला के खाते में पहुंचे 70 लाख डॉलर और फिर...

पेट्रोल छिड़ककर टेंट में लगाई आग
सबसे पहले वह घर से बाहर निकली। उसने अपनी गाड़ी निकाली। उसने गाड़ी के अंदर छोटे-छोटे टैंक रखे, जिनके अंदर पेट्रोल भरा हुआ था। फिर वह वेडिंग डेस्टिनेशन पर पहुंची। उसने अपना चेहरा बुर्के से ढक रखा था। यहां सबसे नजर बचाकर नाजरा ने एक टैंट के बाहर से पर्दों पर पेट्रोल छिड़कना शुरू किया। बाहर भी 52 डिग्री सेल्सियस का तापमान था। नाजरा ने माचिस जलाई और टैंट में आग लगा दी। देखते ही देखते आग पूरे टैंट में फैल गई। टैंट काफी बड़ा था और अंदर सैकड़ों लोग मौजूद थे।

किसी को भी नहीं पता था कि उनके साथ क्या होने वाला है। तभी लोगों को टैंट में घुटन महसूस होने लगी और पलभर में टैंट पूरा आग की चपेट में आ गया। आग देखकर लोग बाहर भागने के लिए एग्जिट गेट की तरफ भागे। लेकिन एक ही एग्जिट गेट होने के कारण सभी लोग टैंट से बाहर नहीं आ पाए। कुछ ही लोग बाहर निकल पाए और बाकी सभी लोग आग की चपेट में आ गए। बताया जाता है कि आग के कारण टैंट के अंदर 500 डिग्री सेल्सियस से भी ज्यादा का तापमान हो गया था।

फोटो- Reuters

यह खबर भी पढ़ें: World का सबसे Dangerous Border, बिना गोली चले हो गई 4000 लोगों की मौत, कुछ रहस्‍यमय तरीके से हो गए गायब

57 लोगों की हुई मौत
Daily Mail के मुताबिक, सिर्फ तीन मिनट के अंदर कई लोगों की जान चली गई। 41 लोगों की ऑन द स्पॉट मौत हो गई। जबकि, बाकी 90 घायलों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया। इसी के साथ फौरन फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को बुलाया गया और आग पर कड़ी मशक्कत के बाद काबू पाया गया। वहीं, अस्पताल में भी इलाज के दौरान कई लोगों की मौत हो गई। जिसके बाद मरने वालों का आंकड़ा 57 पहुंच गया। बता दें, इस टैंट में सिर्फ औरतें और बच्चे ही थे। मतलब मरने वालों में कोई भी पुरुष नहीं था। सिर्फ महिलाएं और बच्चे ही इस अग्निकांड में मारे गए। रिपोर्ट के मुताबिक, 41 लोग जो कि ऑन द स्पॉट मारे गए थे, उनकी पहचान भी नहीं हो पा रही थी। जिसके बाद उनके डीएनए टेस्ट के जरिए पहचान की गई। 

यह खबर भी पढ़ें: बेटी से मां को दिलाई फांसी, 13 साल तक खुद को अनाथ मानती रही 19 साल की बेटी, जाने क्या था मामला

पुलिस को घटनास्थल पर मिले पेट्रोल के टैंक
ये क्राइम इतना बड़ा था कि कुवैत में न ही इससे पहले कभी इतना बड़ा क्राइम हुआ था और न ही उसके बाद अब तक इससे खतरनाक क्राइम हुआ है। अब शुरू हुई केस की जांच। पहले तो पुलिस को लगा कि शॉर्ट सर्किट के कारण यह हादसा हुआ है। लेकिन जांच के दौरान पुलिस को घटनास्थल पर पेट्रोल के छोटे टैंक दिखाई दिए। उनके अंदर अभी भी पेट्रोल बचा था। फिर पुलिस को शक हुआ कि ये आग लगी नहीं, बल्कि लगाई गई है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

नाजरा ने कबूल किया जुर्म
अब पुलिस ने शादी में आए सभी लोगों से पूछताछ शुरू की। जिसके बाद जाएद और उसकी नई नवेली दुल्हन से भी पूछताछ की गई। दोनों ने किसी पर भी शक नहीं जताया। फिर पुलिस ने जाएद की पहली बीवी नाजरा से भी पूछताछ शुरू की। नाजरा ने पुलिस को सीधे बोल दिया कि मैं तो अपने बच्चों की देखभाल में लगी हुई हूं। मुझे इसके बारे में कुछ नहीं पता। फिर दोबारा पुलिस ने जाएद से पूछताछ की। फिर जाएद ने पुलिस को कहा कि मुझे अब अपनी बीवी पर ही शक हो रहा है क्योंकि वह इस शादी से खुश नहीं थी। The Guardian के मुताबिक, पुलिस ने यह सुनकर एक बार दोबारा नाजरा से सख्ती से पूछताछ की। इस बार नाजरा टूट गई और उसने गुनाह कबूल कर लिया।

फोटो- AFP

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

बयान से मुकरी नाजरा
नाजरा ने बताया कि वह जाएद को मारना चाहती थी। लेकिन उसे नहीं पता था कि वह उस टैंट में है ही नहीं। उसने सोचा था कि जाएद अपनी नई नवेली दुल्हन के साथ इस टैंट में होगा। इसीलिए उसने इस टैंट को टारगेट किया था। इसके बाद कानून के मुताबिक नाजरा का वकील जब पुलिस स्टेशन आया तो उसने नाजरा से कहा कि अगर वह बचना चाहती है तो अपने बयान से पलट जाए। नाजरा ने भी ऐसा ही किया। वह तुरंत अपने बयान से पलट गई और कहा कि पुलिस ने जबरदस्ती उससे यह बयान लिया है। उसने कहा कि मैंने ऐसा कुछ नहीं किया। मुझे घर जाने दो। लेकिन पुलिस पहले ही ऑन कैमरा उसके बयान को रिकॉर्ड कर चुकी थी।

फोटो- AP

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

25 जनवरी 2017 को हुई फांसी
कोर्ट में भी यही बयान जज के सामने पेश किया गया। जिसके बाद जज ने भी माना कि नाजरा ने ही यह क्राइम किया है। जज ने उसे मौत की सजा सुनानी ही थी कि तभी नाजरा ने बताया कि वह प्रेग्नेंट है। बता दें कि कुवैत के कानून के मुताबिक, प्रेग्नेंट महिला को मौत की सजा नहीं दी जा सकती। यह सुनते ही उसे फौरन जेल भेज दिया गया और मौत की सजा पर रोक लगा दी गई। लेकिन जेल में रहते हुए नवंबर 2009 में पुलिस ने एक रूटीन मेडिकल चेकअप करवाया, जिसमें पता चला कि नाजरा प्रेग्नेंट नहीं है। बात कोर्ट तक पहुंची तो नाजरा ने एक बार फिर मनगढ़ंत कहानी बताई। उसने कहा कि मैं प्रेग्नेंट ही थी। जरूर जाएद ने जेल के कर्मचारियों को पैसे देकर खाने में कुछ ऐसा मिलाने को दिया जिससे मेरा मिसकैरेज हो गया। लेकिन इस बात का कोई भी सबूत नाजरा के पास नहीं था। इसलिए कोर्ट ने उसके बयान को बेबुनियाद बताया। फिर कोर्ट ने उसे मौत की सजा सुनाई। फिर फाइनली 25 जनवरी 2017 के दिन नाजरा को फांसी दे दी गई।

बता दें, इसी बीच कुवैत में नया कानून भी बना कि शादी में लगने वाले टैंट फायर प्रूफ हों। वहां आग बुझाने के यंत्र भी रखे जाएं और टेंट में तीन एग्जिट गेट भी हों।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web