बाथरूम में रखे पॉपकॉर्न के डिब्बे में मिला खजाना! चुराकर रखे थे 280 अरब रुपये के Bitcoin

 
coins

घर की तलाशी लेने गई पुलिस को अंडरग्राउंड कमरे में छिपे हुए उपकरण और बाथरूम में रखे पॉपकॉर्न के डिब्बे में सिंगल-बोर्ड कंप्यूटर मिले। इनमें क्रिप्टोकरेंसी को स्टोर किया गया था। रिपोर्ट के मुताबिक, शख्स ने एक दशक पहले 280 अरब रुपये के बिटकॉइन हैक करके स्टोर किए थे। 

 

नई दिल्ली। 32 साल के एक शख्स के घर छापा मारने के बाद पुलिस ने 279 अरब रुपये मूल्य से अधिक के बिटकॉइन जब्त किए। इन जब्त किए गए 50,676 बिटकॉइन में से कुछ को बाथरूम में पॉपकॉर्न के डिब्बे में छुपाकर रखा गया था। इसे अब तक का सबसे बड़ा बिटकॉइन भंडाफोड़ बताया गया था।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

अमेरिका के जॉर्जिया के रहने वाले जेम्स झोंग ने इतनी बड़ी मात्रा में बिटकॉइन को करीब 10 साल पहले चुराया था। उसने कंप्यूटर उपकरणों पर क्रिप्टोकरेंसी को सेव कर रखा था। इस मामले में जेम्स को दोषी ठहराया गया है। उसे 20 साल तक की जेल हो सकती है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

तलाशी के दौरान पुलिस को मिला 'खजाना'
जेम्स झोंग के घर की तलाशी लेने गई पुलिस को एक अंडरग्राउंड कमरे में छिपे हुए उपकरण और बाथरूम में रखे पॉपकॉर्न के डिब्बे में छुपाए गए सिंगल-बोर्ड कंप्यूटर मिले। इनमें क्रिप्टोकरेंसी को स्टोर किया गया था। द मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक, जेम्स ने एक दशक पहले डार्क वेब (विशेष प्रकार के वेब ब्राउज़र से ओपन होने वाला इंटरनेट) में Silk Road मार्केटप्लेस से 3 बिलियन डॉलर मूल्य (279 अरब रुपये) के बिटकॉइन हैक किए थे।

अमेरिकी न्याय विभाग ने अपने एक बयान में कहा कि जेम्स को डिजिटल मुद्रा धोखाधड़ी के लिए दोषी ठहराया गया, क्योंकि उसने Silk Road से 50,000 से अधिक बिटकॉइन चुराए थे। लगभग 10 वर्षों से लापता बिटकॉइन के इस बड़े हिस्से का ठिकाना रहस्य बन गया था। इस क्रिप्टोकरेंसी को जेम्स ने अपने कंप्यूटर पर स्टोर कर रखा था। 

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

मालूम हो कि Silk Road एक अवैध बाज़ार था, जो 2011 और 2013 के बीच संचालित होता था। यह मुख्य रूप से भुगतान के लिए बिटकॉइन का उपयोग करता था। इसका संचालक रॉस उलब्रिच था, जिसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया था। वो अभी 40 साल जेल की सजा काट रहा है। Silk Road उपयोगकर्ता गुमनाम रूप से अवैध सामान खरीद और बेच सकते थे, इसमें ड्रग्स और नकली ड्राइविंग लाइसेंस भी शामिल थे।  

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web