चीनी यात्रियों पर इन देशों ने लगाया नया कोविड रूल्स, जानें- कहां क्वारंटीन जरूरी

 
china corona cases

चीन ने देश में बड़े पैमाने पर विरोध के बादइसी महीने की शुरुआत में अपनी 'जीरो-कोविड' नीति को समाप्त कर दिया था और लगभग सभी प्रतिबंधों को समाप्त करने का फैसला किया था। 8 जनवरी से क्वारंटीन भी खत्म करेगा। 

नई दिल्ली। बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच एक तरफ चीन ने अपने 1.4 अरब लोगों को बड़े पैमाने पर प्रतिबंधों के बिना आने-जाने की अनुमति दी है,वहीं दूसरी तरफ दुनियाभर के कई देश चीन से आनेवाले यात्रियों के लिए कोविड नियमों को सख्त कर रहे हैं क्योंकि चीन में बढ़ते कोविड मामलों ने उन्हें चिंतित कर दिया है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

चीन ने इसी महीने की शुरुआत में अपनी 'जीरो-कोविड' नीति को समाप्त कर दिया था। देश में बड़े पैमाने पर विरोध के बाद चीन ने लगभग सभी प्रतिबंधों को समाप्त करने का फैसला किया था।  8 जनवरी से, चीन आने वाले यात्रियों के लिए क्वारंटीन की जरूरत भी खत्म होने जा रही है। इसका सीधा सा मतलब है कि लगभग तीन वर्षों के पूर्ण अलगाव के बाद अधिक से अधिक लोग अब विदेश यात्रा कर सकेंगे लेकिन कई देशों ने इस बीच चीनी यात्रियों पर न्यू कोविड रूल्स लगा दिए हैं।

यह खबर भी पढ़ें: प्रेमी ने प्रेमिका के शव से रचाई शादी, पहले भरी मांग फिर पहनाई जयमाला, जानिए पूरा मामला...

दक्षिण कोरिया
देश के प्रधान मंत्री हान डुक-सू ने कहा कि दक्षिण कोरिया से चीन आने-जाने वाले यात्रियों को पहले और बाद में कोविड परीक्षण कराना अनिवार्य होगा।  इसके अलावा, दक्षिण कोरिया जनवरी के अंत तक अल्पकालिक वीजा जारी करने को सीमित करेगा। दक्षिण कोरिया ने कहा है कि चीन से आने वाले यात्रियों के प्रबंधन के लिए सभी उड़ानों को इंचियोन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर ही उतरने की इजाजत होगी।

यह खबर भी पढ़ें: दुनिया की ये जो 6 महीने एक देश में और 6 महीने दूसरे देश में, बदल जाते हैं नियम-कानून

मलेशिया
मलेशिया चीन से आनेवाली सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से  अपशिष्ट जल के नमूनों का परीक्षण करेगा। इसके अलावा आने वाले यात्रियों के बुखार की जांच भी की जाएगी।

यह खबर भी पढ़ें: 7 दिनों की विदेश यात्रा में फ्लाइट-होटल पर खर्च सिर्फ 135 रुपये!

इटली
इटली ने चीन से आने वाले यात्रियों के लिए एक अनिवार्य रैपिड कोविड-19 परीक्षण शुरू किया है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, इटली क्षेत्र के अन्य देशों से सामूहिक परीक्षण समझौते को अपनाने का भी आग्रह कर रहा है।

यह खबर भी पढ़ें: 'दादी के गर्भ से जन्मी पोती' अपने ही बेटे के बच्चे की मां बनी 56 साल की महिला, जानें क्या पूरा मामला

संयुक्त राज्य अमेरिका
USA ने चीन से आने वाले यात्रियों के लिए 5 जनवरी से निगेटिव कोविड रिपोर्ट अनिवार्य कर दिया है। इसके अलावा जो यात्री अमेरिका जाने से 10 दिन पहले देश में थे, उन्हें या तो नेगेटिव पीसीआर या एंटीजन टेस्ट दिखाना होगा। यह आवश्यकता हांगकांग और मकाऊ के यात्रियों पर भी लागू होती है।

यह खबर भी पढ़ें: महिला टीचर को छात्रा से हुआ प्यार, जेंडर चेंज करवाकर रचाई शादी

ताइवान
जो लोग जनवरी के दौरान चीन की मुख्य भूमि से ताइवान की यात्रा पर जाएंगे, उन्हें भी ताइवान आगमन पर कोविड परीक्षण कराना अनिवार्य होगा। 

यह खबर भी पढ़ें: 'मेरे बॉयफ्रेंड ने बच्चे को जन्म दिया, उसे नहीं पता था वह प्रेग्नेंट है'

जापान
जापान सरकार ने भी चीन से यात्रा पर प्रतिबंधों को कड़ा करने के लिए आपातकालीन कोविड परीक्षण अनिवार्य कर दिया है। चीन की मुख्य भूमि के यात्रियों और जो सात दिनों के भीतर वहां थे, उनके आगमन पर एक कोविड परीक्षण करने और पॉजीटिव पाए जाने पर एक सप्ताह अनिवार्य रूप से क्वारंटीन में रहना अनिवार्य कर दिया गया है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web