पुराना रंग दिखाया तालिबान ने, महिलाओं को भी सबके सामने मारे गए कोड़े

 
taliban

तालिबान ने एक बार फिर अपना पुराना रंग दिखाया है। अफगानिस्तान में महिला और पुरुष दोषियों पर सबके सामने कोड़े बरसाए गए। इन्हें स्थानीय अदालत ने दोषी करार दिया था।

काबुल। तालिबान कितना भी उदारता के दावे करता हो लेकिन असली तस्वीर कभी ना कभी  सामने आ ही जाती है। बुधवार को अफगानिस्तान के एक स्टेडियम में फिर उसी तरह सजा दी गई जिस तरह 1990 में तालिबान किया करता था। लोगार के गवर्नर ऑफिस की तरफ से स्टेडियम में लोगों को बुलाया गया था। इसमें आदिवासी नेता, मुजाहिदीन और स्कॉलर मौजूद थे। तालिबान ने सबके सामने 9 पुरुषों और तीन महिलाओं को कोड़े मरवाए। 

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

सोशल मीडिया पर भी यह आमंत्रण लोगों ने शेयर किया। इसमें लोगों से सुबह 9 बजे इकट्ठा होने को कहा गया था। जिन लोगों को सजा दी गई उन्हें 21 से 39 कोड़े लगाए गए। स्थानीय अदालत ने इन लोगों को व्यभिचार या फिर चोरी का दोषी पाया था। गवर्नर ऑफिस के अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

अधिकारियों ने कहा कि इस इवेंट में सैकड़ों लोग शामिल हुए थे। हालांकि यहां फोटो खींचने और वीडयो बनाने पर प्रतिबंध था। बता दें कि तालिबान हमेशा से ही इस्लामिक कानून और शरिया को लागू करने की बात करता रहा है। लोगार के डिप्टी गवर्नर ने कहा था कि अफगानिस्तान की समस्याएं खत्म करने का केवल शरिया कानून ही रास्ता है।  बता दें कि 1996 से 2001 तक जब अफगानिस्तान में तालिबानी शासन था तब भी इसी तरह सार्वजनिक रूप से पत्थर मारने की सजा दी जाती थी। 

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

इसके बाद अमेरिका ने दखल दिया और तालिबानियों को खदेड़ दिया गया। हालांकि आज 20 साल बाद वही स्थिति लौट आई है। तालिबान ने दूसरी बार अफगानिस्तान पर कब्जा किया है। हालांकि इस बार उसने वादा किया था कि महिलाओं और अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा की जाएगी। इसके अलावा लड़कियों की शिक्षा पर भी रोक टोक नहीं होगी। हालांकि ऐसी खबरें सामने आती रहती हैं जबकि तालिबान महिलाओं की स्वतंत्रता पर हमला करता रहता है। 

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web