Russia-Ukraine War: यूक्रेन को रूस ने दी चेतावनी, कहा- जंग खत्म करने के लिए जल्द माननी पड़ेंगी हमारी मांगें

 
putin

पूर्वी यूक्रेन में रूस और यूक्रेन की सेनाओं के बीच भीषण लड़ाई जारी है। जंग जीतने के लिए दोनों सेनाएं और हथियार पाने की जुगत में हैं। क्रेमलिन ने कहा है कि यूक्रेन को जल्द ही हमारी मांगें माननी पड़ेंगी और इस तरह जंग समाप्त हो जाएगी।

 

मास्को, रायटर्स। पूर्वी यूक्रेन में रूस और यूक्रेन की सेनाओं के बीच भीषण लड़ाई जारी है। जंग जीतने के लिए दोनों सेनाएं और हथियार पाने की जुगत में हैं। इस बीच, क्रेमलिन ने गुरुवार को कहा है कि यूक्रेन को जल्द ही हमारी मांगें माननी पड़ेंगी और इस तरह जंग समाप्त हो जाएगी। उधर, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलादिमीर जेलेंस्की ने पश्चिमी देशों से शीघ्र पर्याप्त टैंक की आपूर्ति करने को कहा है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

रूस ने कहा- हासिल करेंगे लक्ष्य
रूसी सेना के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने संवाददाताओं से कहा कि हम अपने लक्ष्य को हासिल करेंगे। इसके लिए जाहे जो रास्ता अपनाना पड़े। उन्होंने कहा, 'कीव को रूस की स्थिति को स्वीकारना उसके हित में है। उसे अब समझौत के लिए आगे आना चाहिए।' मास्को ने कहा है कि वह यूक्रेन को ''डी-नाजीफाई'' करने के लिए लड़ रहा है और इसके साथ ही पूर्वी यूक्रेन में रूसी बोलने वालों की रक्षा करना चाहता है। कीव और पश्चिमी देशों ने रूस के दावे को आधारहीन कहते हुए खारिज कर दिया है।

यह खबर भी पढ़ें: 'दादी के गर्भ से जन्मी पोती' अपने ही बेटे के बच्चे की मां बनी 56 साल की महिला, जानें क्या पूरा मामला

जेलेंस्की ने कई देशों की आलोचना की
इससे पहले शांति समझौते के लिए यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदिमीर जेलेंस्की रूसी सैनिकों की यूक्रेन से वापसी समेत 10 बिंदुओं को रेखांकित कर चुके हैं। उधर, दावोस में गुरुवार को विश्व आर्थिक मंच की बैठक के मौके पर जेलेंस्की ने वीडियो लिंक से जुड़ते हुए नाश्ते पर एकत्र जर्मनी, पोलैंड और अमेरिका जैसे यूक्रेन के महत्वपूर्ण समर्थक देशों की परोक्ष आलोचना की। जेलेंस्की ने कहा, 'युद्ध जीतने के लिए हम इसे केवल प्रेरणा और मनोबल के साथ नहीं कर सकते।'

यह खबर भी पढ़ें: महिला टीचर को छात्रा से हुआ प्यार, जेंडर चेंज करवाकर रचाई शादी

स्वीडन यूक्रेन को देगा इन्फैंट्री युद्ध वाहन
स्वीडन सरकार ने गुरुवार को यूक्रेनी सेना की मदद के लिए 41.9 करोड़ डालर के नए सैन्य सहायता की घोषणा की है। इसमें पैदल सेना के लिए युद्ध वाहन के साथ आर्चर आर्टिलरी सिस्टम शामिल है। स्वीडिश प्रधानमंत्री उल्फ क्रिस्टरसन ने प्रेसवार्ता में कहा कि इस युद्ध में यूक्रेन की जीत काफी अहम है। स्वीडन वर्तमान में यूरोपीय यूनियन का अध्यक्ष है। उसने इसके साथ ही नाटो की सदस्या के लिए आवेदन किया है। इस सप्ताह जर्मनी में करीब 50 देशों के रक्षा नेताओं का जमावड़ा होना है, जिसमें कीव को हथियारों की और आपूर्ति के लिए विचार किया जाएगा।

यह खबर भी पढ़ें: 'मेरे बॉयफ्रेंड ने बच्चे को जन्म दिया, उसे नहीं पता था वह प्रेग्नेंट है'

मेदवेदेव ने नाटो को दी परमाणु युद्ध की चेतावनी
राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सहयोगी मेदवेदेव ने गुरुवार को नाटो को चेतावनी दी थी कि यूक्रेन में रूस की हार हुई तो परमाणु युद्ध शुरू हो सकता है, वहीं रूस के प्रमुख रूढ़िवादी चर्च ने कहा कि अगर पश्चिम ने रूस को बर्बाद करने कोशिश की तो दुनिया खत्म हो जाएगी।मेदवेदेव ने गुरुवार को नाटो को आगाह करते हुए कहा कि शुक्रवार को जर्मनी में रैमस्टीन एयर बेस यूक्रेन की मदद के लिए जुटने वाले रक्षा अधिकारियों को पहले अपनी नीति के जोखिमों पर गंभीरता से सोच लेना चाहिए।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web