Russia-Ukraine War: जेलेंस्की के जज्बे के आगे हारा पुतिन! रूसी सैनिक वापस भाग रहे यूक्रेन छोड़कर

 
russia_ukraine_war_zelensky_spirit_beat_putin_russian_soldiers_fleeing_from_ukraine_international

यूक्रेन के खिलाफ युद्ध में रूस अब बैकफुट पर दिखने लगा है। यूक्रेनी सेना के तेजी से आगे बढ़ने के बाद रूसी सैनिकों ने उत्तरपूर्वी यूक्रेन में अपना मुख्य गढ़ छोड़ दिया है।

नई दिल्ली। Russia-Ukraine War: यूक्रेन के खिलाफ युद्ध में रूस अब बैकफुट पर दिखने लगा है। यूक्रेनी सेना के तेजी से आगे बढ़ने के बाद रूसी सैनिकों ने उत्तरपूर्वी यूक्रेन में अपना मुख्य गढ़ छोड़ दिया है। शनिवार को खार्किव प्रांत में तेजी से पीछे हटना रूस की इस लड़ाई में अब तक की सबसे खराब हार थी। इससे पहले मार्च में रूसी सैनिकों को राजधानी कीव से वापस भेज दिया गया था। यूक्रेन के खिलाफ युद्ध में यह महत्वपूर्ण कदम साबित हो सकता है। रूसी सैनिकों ने गोला-बारूद के भंडार और हथियारों को भी वहीं छोड़ दिया है।

सरकार द्वारा संचालित समाचार एजेंसी TASS ने रूस के रक्षा मंत्रालय के हवाले से कहा कि उसने सैनिकों को आसपास के क्षेत्र को छोड़ने और पड़ोसी डोनेट्स्क में कहीं और अभियान को मजबूत करने का आदेश दिया है। TASS ने बताया कि खार्किव में रूसी प्रशासन के प्रमुख ने अपने सैनिकें से प्रांत को खाली करने और जान बचाने के लिए रूस भाग जाने के लिए कहा। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने शनिवार शाम एक वीडियो संबोधन में कहा, "रूसी सेना अपनी पीठ दिखाने के लिए इन दिनों अपनी सबसे अच्छी क्षमता का प्रदर्शन कर रही है।" उन्होंने कहा कि यूक्रेन के सशस्त्र बलों ने इस महीने की शुरुआत में रूस के खिलाफ जवाबी कार्रवाई शुरू होने के बाद से लगभग 2,000 वर्ग किलोमीटर (770 वर्ग मील) क्षेत्र को मुक्त करा लिया है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

यूक्रेनी अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि करना बंद कर दिया कि उन्होंने इज़ियम पर फिर से कब्जा कर लिया है, लेकिन ज़ेलेंस्की के चीफ ऑफ स्टाफ एंड्री यरमक ने बाहरी इलाके में सैनिकों की एक तस्वीर पोस्ट की है। उन्होंने इसके साथ अंगूर का एक इमोजी भी ट्वीट किया। शहर के नाम का अर्थ है "किशमिश"।

अल जज़ीरा के गेब्रियल एलिसोंडो ने कीव से रिपोर्ट करते हुए कहा कि इज़ियम कई महीनों तक रूसियों के लिए एक प्रमुख सैन्य गढ़ था। एलिसोंडो ने कहा, "उस शहर पर कब्जा करने के लिए रूसियों को छह सप्ताह का समय लगा था। अब ऐसा प्रतीत होता है कि यूक्रेनियन ने इसे 12 से 24 घंटे की समय सीमा में वापस ले लिया होगा।"

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

रूसी वापसी की घोषणा यूक्रेनी सैनिकों द्वारा उत्तर की ओर कुपियांस्क शहर में प्रवेश करने के कुछ घंटों बाद हुई। यूक्रेनी अधिकारियों ने शनिवार तड़के अपने सैनिकों की तस्वीरें पोस्ट कीं, जिसमें कुपियानस्क के सिटी हॉल के सामने देश का नीला-पीला झंडा लहराया गया था।

ज़ेलेंस्की ने कहा कि यूक्रेनी सशस्त्र बल विभिन्न क्षेत्रों में मोर्चे पर आगे बढ़ रहे हैं। इससे पहले शनिवार को यूक्रेन की राजधानी का दौरा कर रही जर्मन विदेश मंत्री एनालेना बेरबॉक ने कहा कि बर्लिन रूसी सेना के खिलाफ लड़ाई में यूक्रेन का समर्थन करना जारी रखेगा।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web