Russia Ukraine War: रोशनी, भोजन और पानी के बिना रखा यूक्रेन के लोगो को, रूस से इजियम को कब्जे में लेने पर मिलीं 400 से ज्यादा कब्र

 
Russia Ukraine War

Russia Ukraine War: यूक्रेन का कहना है कि इस जगह को हासिल करने के बाद उसे जो देखने को मिला, वह काफी भयावह था। यहां सैकड़ों कब्रें मिली हैं, जो इस बात की गवाह हैं कि यहां सैकड़ों लोगों की मौत हुई है।

नई दिल्ली। Russia Ukraine War: रूस और यूक्रेन के बीच बीते 7 महीनों से युद्ध चल रहा है, जिसमें एक तरफ रूस लगातार हमलावर रवैया अपना रहा है, वहीं यूक्रेनी लड़ाके भी युद्ध के बीच डटकर मुकाबला कर रहे हैं। रूस और यूक्रेन के बीच की जंग में दोनों ही पक्षों को नुकसान पहुंचा है, जिसका ज्यादातर खामियाजा यूक्रेन को भुगतना पड़ा है। एक तरफ रूस की सैन्य और आर्थिक शक्ति यूक्रेन पर लगातार हमले कर रही है, वहीं यूक्रेन अपने अस्तित्व को बचाने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। इस बीच जो खबर सामने आई है, वह चौंकाने वाली है। दरअसल अभी तक जिस इजियम पर रूस का कब्जा था, उसे यूक्रेन ने वापस हासिल कर लिया है और रूसी लड़ाकों को खदेड़ दिया है। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

भयावह था वह मंजर
यूक्रेन का कहना है कि इस जगह को हासिल करने के बाद उसे जो देखने को मिला, वह काफी भयावह था। यहां सैकड़ों कब्रें मिली हैं, जो इस बात की गवाह हैं कि यहां सैकड़ों लोगों की मौत हुई है। रूसी सेना ने इजियम से यूक्रेनी सैनिकों को खदेड़ने के लिए हवाई हमले किए थे। लेकिन अब इजियम पर यूक्रेन ने कब्जा पा लिया है और जब यूक्रेन के राष्ट्रपति यहां के हालात का जायजा लेने पहुंचे तो दंग रह गए। यहां उन्हें सैकड़ों कब्रें दिखाई पड़ीं। 

अधिकारियों के मुताबिक, इन कब्रों की खुदाई की जाएगी और यह पता लगाया जाएगा कि कब्र के अंदर जिन लोगों को दफनाया गया, उनके साथ क्या हुआ था। बता दें कि यूक्रेन की राष्ट्रीय पुलिस सेवा के प्रमुख ने शुक्रवार को कहा था कि इन कब्रों में ज्यादातर शव आम नागरिकों के हैं। इससे पहले यूक्रेन के अधिकारियों ने मीडिया से बातचीत में बताया था कि आशंका है कि यहां 400 से ज्यादा शवों को दफनाया गया होगा। 

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

लोगों को प्रताड़ित किया गया
हालही में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की के एक वरिष्ठ सलाहकार मायखाइलो पोडोलीक का बयान भी सामने आया था। उन्होंने कहा था कि हमने महसूस किया कि लोगों को प्रताड़ित, भयभीत और बिना रोशनी, बिना भोजन, बिना पानी के रखा गया। 

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

कहा जा रहा है कि जो कब्रें मिली हैं, वह रूसी आर्मी की क्रूरता को दिखाती हैं। उन्होंने ही यूक्रेनी लड़ाकों को मारकर दफनाया होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस बात की भी संभावना है कि इस इलाके के अलावा अन्य जगहों पर भी कब्रें मिल सकती हैं। 

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web