पुतिन की गद्दी और जान को खतरा? खेरसॉन में शिकस्त के बाद रूस में वायरल हुआ यह मैसेज

 
russian president vladimir putin

इस मैसेज में व्लादीमीर पुतिन को सत्ता से हटाए जाने के साथ-साथ उन्हें मार दिए जाने तक की बातें कही गई हैं। हालांकि बाद में यह मैसेज हटा लिया गया, लेकिन इसके बाद से कई सवाल उठ रहे हैं।

 

मॉस्को। क्या खेरसॉन में मिली शिकस्त रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के लिए मुसीबत बन गई है? असल में खेरसॉन की हार के बाद रूस में टेलीग्राम पर एक बेहद खतरनाक मैसेज वायरल हुआ। इस मैसेज में पुतिन को सत्ता से हटाए जाने के साथ-साथ उन्हें मार दिए जाने तक की बातें कही गई हैं। हालांकि बाद में यह मैसेज हटा लिया गया, लेकिन इसके बाद से कई सवाल उठ रहे हैं। सवाल यह उठ रहा है कि क्या राष्ट्रपति पुतिन के खिलाफ रूस में गुस्सा भड़कने लगा है। 

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

शेयर की है यह कहानी
यह मैसेज एलेक्जेंडर डुगिन नाम के शख्स ने टेलीग्राम पर किया है। द मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक इस मैसेज में उन्होंने जेम्स फ्रेजर की कहानी गोल्डन बॉ को कोट किया है। इस कहानी में राजा को सिर्फ इसलिए मार दिया जाता है कि क्योंकि सूखे के दौरान वह बारिश नहीं करा पाता है। रिपोर्ट के मुताबिक डुगिन ने लिखा है कि हम एक शासक को ताकत देते हैं। यह ताकत इसलिए दी जाती है ताकि मुश्किल वक्त में लोगों की और राज्य की हिफाजत कर सके। लेकिन अगर वह ऐसा नहीं कर पाता है तो यह बेहद दुखद है।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

मैसेज में नागरिकों को भड़काया
इसके बाद एलेक्जेंडर डुगिन ने यूक्रेन में रूसी सेना के हालात पर बात की है। उसने लिखा है हर उस शख्स को जो खुद को असली रूसी कहता है, उसे दुखी होना चाहिए। उसे खेरसॉन में रूस के समर्पण पर दर्द में अपने दांत भींच लेने चाहिए। अगर कोई नागरिक खेरसॉन में रूसी सेना के हाल पर दुखी नहीं होता है तो वह असल में मायने में रूसी है ही नहीं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि खेरसॉन को लेकर राष्ट्रपति और रूसी सैन्य अधिकारियों में भी मनमुटाव सामने आ रहा है। 

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

खेरसॉन में हुआ क्या था
असल में फरवरी में यूक्रेन पर हमले के बाद अब रूसी सेना वहां पर मुंह की खाने लगी है। खेरसॉन में रूसी सेना पीछे हट चुकी है और वहां पर यूक्रेन ने वहां फिर से कब्जा कर लिया है। यूक्रेन की सेना जैसे ही खेरसॉन पहुंचे, वहां के नागरिकों ने उनका जोरदार ढंग से स्वागत किया। इसके बाद से ही रूसी सेना आलोचकों के निशाने पर आ चुकी है। माना जा रहा है, इसके चलते पुतिन की सत्ता भी खतरे में आ गई है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web