अपने ही रूसी सैनिकों के ही खून के प्यासे हो गए पुतिन, सीधे गोली मारने का क्यों दे रहे ऑर्डर?

 
russia ukraine war

Russia Ukraine War Update: एक खुफिया अपडेट में, मंत्रालय ने कहा कि कम मनोबल और लड़ने की अनिच्छा के कारण, रूसी सेना ने शायद 'बैरियर सैनिकों' या 'अवरुद्ध यूनिट्स' को तैनात करना शुरू कर दिया है।

 

मॉस्को। Russia shoot its own Soldiers: रूस और यूक्रेन के बीच पिछले कई महीनों से युद्ध जारी है। यूक्रेन में मिसाइलों और ड्रोन से हमलों के चलते कई इलाके पूरी तरह से तबाह हो गए हैं। साथ ही, कई जगह बिजली और पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं तक नहीं हैं। अब पुतिन ने ऐसे रूसी सेना के जवानों को गोली मारने के आदेश दिए हैं, जोकि यूक्रेन के युद्ध क्षेत्र से पीछे हट रहे हों। इस तरह पुतिन खुद ही अपने जवानों के खून के प्यासे हो गए हैं। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने जानकारी दी कि रूस की सेना यूक्रेन में पीछे हटते हुए पकड़े गए सैनिकों को गोली मारने के उद्देश्य से यूनिट्स की तैनाती कर रही है।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

खुफिया अपडेट में दी गई ये जानकारी
एक खुफिया अपडेट में, मंत्रालय ने कहा कि कम मनोबल और लड़ने की अनिच्छा के कारण, रूसी सेना ने शायद 'बैरियर सैनिकों' या 'अवरुद्ध यूनिट्स' को तैनात करना शुरू कर दिया है। इसमें कहा गया है, "इन यूनिट्स ने अपने पीछे हटने वाले सैनिकों को गोली मारने की धमकी दी है और इसका इस्तेमाल पिछले कुछ संघर्षों में किया जा चुका है।''

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

सैनिकों का आत्मविश्वास हो रहा कमजोर
मंत्रालय ने यह भी कहा है कि रूसी जनरलों ने संभवतः अपने कमांडरों से कहा है कि वे यूक्रेन में रहने वालों के खिलाफ हथियारों का इस्तेमाल करें। रिपोर्ट्स में यूक्रेन में युद्ध लड़ रहे रूसी सैनिकों के कमजोर आत्मविश्वास की ओर भी इशारा किया गया है। खासतौर पर सितंबर से जब से यूक्रेन ने वापस से अपने क्षेत्रों पर फिर से कब्जा जमाना शुरू कर दिया था। रूस की सेना यूक्रेन से पूर्वी डोनेट्स्क क्षेत्र के लाइमैन शहर सहित देश के कुछ इलाकों में पीछे हट गई है।

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

लड़ने से इनकार कर रहे रूसी सैनिक
ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने जून में कहा था कि रूसी सैनिकों के आदेशों से इनकार करने के मामले भी सामने आए हैं, जिसके कारण अधिकारियों और उनके सैनिकों के बीच सशस्त्र गतिरोध भी हुआ। यूक्रेन ने कई रूसी सैनिकों की कॉल को भी इंटरसेप्ट किया है, जिसमें वे रूसी नेतृत्व के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं और यहां तक कह रहे हैं कि वे घायल होना चाहते हैं, जिससे घर वापस जा सकें। वहीं, कई युवाओं ने तो रूस भी छोड़ दिया है, ताकि यूक्रेन के साथ होने वाले युद्ध में हिस्सा न लेना पड़े।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web