व्लादिमीर पुतिन को राष्ट्रपति पद से हटाने की चल रही तैयारी! यूक्रेन का बड़ा दावा

 
putin

रूस और यूक्रेन में जारी जंग के बीच यूक्रेन के चीफ ऑफ डिफेंस इंटेलिजेंस के मेजर जनरल कायरलो बुडानोव ने दावा किया है कि रूसी अधिकारी व्लादिमीर पुतिन को सत्ता से हटाने पर चर्चा कर रहे हैं।

 

नई दिल्ली। यूक्रेन के चीफ ऑफ डिफेंस इंटेलिजेंस के मेजर जनरल कायरलो बुडानोव ने दावा किया है कि पुतिन इस युद्ध के अंत तक राष्ट्रपति नहीं रहेंगे। बुडानोव ने कहा कि एक रिपोर्ट के मुताबिक, रूसी अधिकारी व्लादिमीर पुतिन को सत्ता से हटाने के लिए सक्रिय रूप से चर्चा कर रहे हैं।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

जनरल बुडानोव का बयान ऐसे समय में आया है जब यूक्रेन रूस पर काउंटर एटैक कर रूस द्वारा कब्जाए गए यूक्रेनी क्षेत्र खेरसन बंदरगाह को फिर से अपने कब्जे में लेने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि हमें नहीं लगता है कि पुतिन अब और सत्ता में रहेंगे, क्योंकि रूस में इस बात को लेकर बात चल रही है कि अगला राष्ट्रपति कौन होगा?

यह खबर भी पढ़ें: शादी किए बगैर ही बन गया 48 बच्चों का बाप, अब कोई लड़की नहीं मिल रही

क्रीमिया वापस लेने की कोशिश 
क्रीमिया के चीफ ऑफ डिफेंस इंटेलिजेंस के मेजर जनरल कायरलो बुडानोव ने कहा कि यूक्रेन नवंबर के अंत तक खेरसन पर फिर से कब्जा करने का लक्ष्य बना रहा है। वहीं, हमारी कोशिश रहेगी कि क्रीमिया को भी रूस से वापस लिया जाए। गौरतलब है कि क्रीमिया भी पहले यूक्रेन का ही हिस्सा था, लेकिन 2014 में रूस ने क्रीमिया पर कब्जा कर लिया था।

यह खबर भी पढ़ें: शादी से ठीक पहले दूल्हे के साथ ही भाग गई दुल्हन, मां अब मांग रही अपनी बेटी से मुआवजा

सितंबर में रूस को मिली है बड़ी हार 
पिछले नौ महीने से चल रहे इस युद्ध में सितंबर की शुरुआत में पहली बार यूक्रेनी सेना के हाथों रूस को बड़ी हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को तीन लाख आरक्षित सैनिकों को आंशिक तैनाती की घोषणा करनी पड़ी थी। पुतिन ने चेतावनी देते हुए कहा था कि रूस अपनी रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकता है। 

यह खबर भी पढ़ें: ऐसा गांव जहां बिना कपड़ों के रहते हैं लोग, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

यूक्रेन में बिजली गुल से अंधेरे में लाखों लोग
हाल ही में रूस ने मिसाइल और ड्रोन हमले से यूक्रेन के बिजलीघरों और ऊर्जा संयंत्रों को तहस-नहस कर दिया है। रिपोर्ट की मानें तो रूस ने यूक्रेन की 40 प्रतिशत से अधिक बिजली पैदा करने की क्षमता को खत्म कर दिया है, जिसके कारण पूरे देश में ब्लैकआउट हो गया है। यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा है कि रूस के हवाई हमले के कारण देश के लगभग 40 लाख लोग अंधेरे में जीने को मजबूर हैं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web