पाकिस्तानी महंगाई की मार से बेहाल, लाहौर में अब आटा के लिए एक-दूसरे से लड़ पड़े लोग

 
pakistan economic crisis

रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान में महंगाई की मार से लोग इस कदर त्रस्त हैं कि सब्सिडी वाले आटे के लिए टूट पड़ रहे हैं। सस्ता आटा लेने के लिए सिंध प्रांत के मीरपुर खास जिले से भी भगदड़ की खबर आई है।

 

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में आर्थिक संकट लगातार गहराता जा रहा है। आलम यह है कि पाकिस्तानी जनता को आटा तक के लिए आपस में लड़ना-झगना पड़ रहा है। जी हां, लाहौर से एक ऐसी ही घटना का वीडियो सामने आया है जहां लोग आटे के लिए एक-दूसरे से संघर्ष करते नजर आ रहे हैं। आटा के साथ ही पाकिस्तान के लोग ईंधन और बिजली की किल्लत का भी सामना कर रहे हैं। सरकार ने फ्यूल और बिजली बचाने के लिए कई इलाकों में दुकानें व मैरिज हॉल तक बंद कर दिए हैं।

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, लाहौर में आटे का संकट और ज्यादा गहरा हुआ है क्योंकि वहां के बाजार में सब्सिडी वाले आटे का स्टॉक कम हो गया है। संकट के पीछे का कारण खाद्य विभाग और आटा मिलों के बीच कुप्रबंधन को बताया जा रहा है। यहां बीते दो हफ्तों में आटे की कीमत में प्रति पैकेट 300 रुपये का इजाफा हुआ है। लाहौर में अब 15 किलो आटे की थैली 2,050 रुपये में बिक रही है। इतनी महंगाई में बहुत से लोगों को खाने के लिए रोटी तक नसीब नहीं हो रही है।

यह खबर भी पढ़ें: महिला टीचर को छात्रा से हुआ प्यार, जेंडर चेंज करवाकर रचाई शादी

महंगाई की मार झेलने को मजबूर जनता
रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान में महंगाई की मार से लोग इस कदर त्रस्त हैं कि सब्सिडी वाले आटे के लिए टूट पड़ रहे हैं। सस्ता आटा लेने के लिए सिंध प्रांत के मीरपुर खास जिले से भी भगदड़ की खबर आई है। इस दौरान कुछ लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए हैं। बताया जा रहा है कि लोगों को खबर मिली थी कि सब्सिडी वाला आटा मिलने वाला है जिसके बाद बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए थे। आटा हर किसी को न मिल पाने पर लोग हंगामा करने लगे और देखते ही देखते भगदड़ मच गई।

यह खबर भी पढ़ें: 'मेरे बॉयफ्रेंड ने बच्चे को जन्म दिया, उसे नहीं पता था वह प्रेग्नेंट है'

आटा के साथ LPG गैस की भी किल्लत
पाकिस्तान में आटे की कीमतों में बढ़ोतरी उन संकटों में नया है, जिससे सरकार पिछले कुछ दिनों से लगातार दो-चार हो रही है। चरमराती अर्थव्यवस्था के बीच पाकिस्तानी सरकार अपने लोगों को बुनियादी सुविधाएं देने में भी विफल साबित हो रही है। लोगों को एक तरफ बिजली संकट का सामना करना पड़ रहा है तो दूसरी तरफ लोग प्लास्टिक की थैलियों में एलपीजी (खाना पकाने की गैस) ले जाने को मजबूर हैं। कई इलाकों में एक गैस सिलेंडर की कीमत 10 हजार रूपये तक पहुंच गई है।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web