पाकिस्तान PM ने कहा, UAE के प्रेसिडेंट से कर्ज मांगते वक्त शर्म आ रही थी, जानिए और क्या कहा...

शाहबाज एक हफ्ते पहले विदेश दौरे पर गए थे। उन्होंने जिनेवा में क्लाइमेट समिट में हिस्सा लिया था। 
 
पाकिस्तान PM ने कहा, UAE के प्रेसिडेंट से कर्ज मांगते वक्त शर्म आ रही थी, जानिए और क्या कहा...

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ का एक वीडियो वायरल हो रहा है। शाहबाज के मुताबिक पाकिस्तान के वजीर ए आजम के तौर पर UAE में मुझे जिन चीजों को सामना करना पड़ा उसका जिक्र जरूरी है। वहां मुझे बेहद शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। शाहबाज एक हफ्ते पहले विदेश दौरे पर गए थे। उन्होंने जिनेवा में क्लाइमेट समिट में हिस्सा लिया था। इसके बाद वो सऊदी अरब और फिर UAE गए थे। तीनों ही जगहों पर उन्होंने कर्ज मांगा था। 

विज्ञापन: "जयपुर में निवेश का अच्छा मौका" JDA अप्रूव्ड प्लॉट्स, मात्र 4 लाख में वाटिका, टोंक रोड, कॉल 8279269659

सऊदी ने 2 और UAE ने 1 अरब डॉलर गारंटी डिपॉजिट देने का भरोसा दिलाया था। पाकिस्तान सरकार इसे खर्च नहीं कर सकती। उन्होंने कहा, दो दिन पहले UAE से होकर आया हूं। वहां के जो सदर (राष्ट्रपति) हैं, मेरे बड़े भाई मोहम्मद बिन जायद। वो बेइंतहां मोहब्बत से पेश आए। पहले मैंने ये फैसला किया था कि मैं उनसे और कर्ज नहीं मांगूंगा, लेकिन फिर आखिरी वक्त फैसला किया और हिम्मत जुटाई कि उनसे और कर्ज मांगूं। मैंने उनसे कहा, जनाब आप मेरे बड़े भाई हैं। मुझे बड़ी शर्म आ रही है, लेकिन क्या करूं बड़ी मजबूरी है। हमारी इकोनॉमी के बारे में तो आप सब जानते हैं। आप मुझे एक अरब डॉलर और दे दें।

यह खबर भी पढ़ें: Interesting : 78 साल के शख्स ने की 18 साल की लड़की से शादी, 2 साल से चल रहा था अफेयर!

आपको बता दे, पिछले हफ्ते शरीफ पाकिस्तानी फौज की पासिंग आउट परेड सेरेमनी में बतौर चीफ गेस्ट शामिल हुए थे। तब भी उन्होंने मुल्क के कर्ज का रोना रोया था। यहां आर्मी और ISI चीफ के साथ प्रेसिडेंट आरिफ अल्वी भी मौजूद थे। आर्मी चीफ जनरल आसिम मुनीर और ISI चीफ लेफ्टिनेंट जनरल नदीम अंजुम के सामने शाहबाज शरीफ का यह बयान अहम माना गया, क्योंकि पाकिस्तान के कुल बजट का सबसे बड़ा हिस्सा फौज पर ही खर्च होता है और हर साल यह 10% बढ़ जाता है। 

यह खबर भी पढ़ें: Success: इस खूबसूरत लड़की ने मॉडलिंग छोड़ दिया UPSC एग्जाम, पहले ही प्रयास में बनीं IAS

परेड में शरीफ ने कहा था, मेरे लिए यह बहुत शर्मिंदगी की बात है कि हर बार हमें कर्ज मांगना पड़ता है। यह इसलिए और ज्यादा खराब लगता है कि पाकिस्तान एटमी ताकत है। मैं कहना ये चाहता हूं कि आखिर कब तक हम बतौर मुल्क कर्ज के भरोसे रहेंगे। ये तो देश चलाने का सही तरीका नहीं है और न ही इस तरह से हम मुल्क को सही डायरेक्शन में ले जा सकते हैं। हमें ये भी सोचना चाहिए कि आज नहीं तो कल, ये कर्ज इस मुल्क को वापस भी तो करने हैं।

Download app : अपने शहर की तरो ताज़ा खबरें पढ़ने के लिए डाउनलोड करें संजीवनी टुडे ऐप

From around the web